Rain Gage बनाने के आसान तरीके – Easy ways to make Rain Gage

Rain Gage बनाने के आसान तरीके – Easy ways to make Rain Gage, rain gage कैसे बनाये, rain gage बनाने के tips, rain Gage के बारे में जानकारी, rain Gage in Hindi, बारिश में rain Gage बनाये

रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage] :

नमस्कार दोस्तों apna sandesh  वेब पोर्टल पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों आज के इस लेखन टिप्स में हम  “रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage]” जानने वाले है. अगर आप भी Rain Gage से जुडी जानकारी के बारे में जानना चाहते है, तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़े.

 

दोस्तों जैसे की आप जानते है बारिस एक प्रकुर्ति का अमूल्य खजाना है. तापमान, दबाव, तूफान, बारिश आदि की प्रकृति में कई बदलाव होते हैं. प्रकृति के परिवर्तन में, समय की थोड़ी अवधि यानी हवा का प्रवाह होता है. प्रकृति में परिवर्तन के कारण, बारिस की बूंदें आकाश में कम तापमान के कारण बनती हैं, छोटी बूंदें बड़ी बूंदों में बदल जाती हैं. ये पानी के बिंदु हवा से भी मजबूत हैं. इसी वजह से धरती पर बारिश होती है. इसे बारिश कहा जाता है.

पानी की बूंदें पृथ्वी पर बड़ी, भारी और बर्फीली बारिस के रूप में आती हैं. कभी-कभी बहुत अधिक बर्फबारी होती है, इसे स्नो रेन (स्लरी / गारपेट) कहा जाता है. कुछ समय बर्फबारी के कारण प्राकृत का तापमान कम हो जाता है.

यह आर्टीकल जरूर पढ़े………

 

रेन गेज क्या है [What is rain gauge]? 

प्रिय दोस्तों पुरातन युग में कही देशो ने बारिस Measurement यूनिट का उपयोग किया है. यह रेडिओ कार्बन डेटिंग से पता चला है. 1662 में रेन गेज का आविष्कार क्रिस्टोफ रेन नामक व्यक्ति ने किया था. Rain Gage को और अन्य नमो से जाना जाता है , जैसे Udometer , Pluviometer और Ombrometer आदि.

निश्चित किए गए Measurement से Rain Gage संभवतः 203 लीटर ( 8 इंच ) होता है. इससे बारिश को मापने में आसानी होगी. किसी को यह जानने की संभावना नहीं है कि दिन के दौरान बारिश कितनी लंबी होगी, भले ही यह पता हो कि कितनी बारिश हुई है, पत्ती लगाना मुश्किल है. कई बार बारिस कितनी हुई यह जानने के लिए बकेट का इस्तेमाल करते थे, लेकिन हम यह नहीं जान सकते कि कितनी बारिश हुई. कभी-कभी बारिश इतनी होती थी, कि बाल्टी से पानी निकलता था, कभी-कभी बाल्टी में पानी कम होता था. यही कारण है कि हम ज्यादातर रेन गेज का उपयोग करते हैं.

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…….

Read more – mahatvapurn dijital tool

 

 

“रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage]” इस लेख में हम मापन करने के तरीके देखने वाले है.

बारिस ज्यादातर Rain Gage में मिली मीटर ( MM ) , सेन्टी मीटर ( CM ), और इंच ( Inch ) measure किया जाता है.

जैसे,

सबसे कम बारिस
0. 25 मिमी / एक घंटे से कम बारिस

कम बारिस
0. 25 मिमी To 1. 0 मिमी / एक घंटा बारिस

मीडिअम बारिस
1. 0 मिमी To 4. 0 मिमी / एक घंटा बारिस

ज्यादा बारिस
4. 0 मिमी To 16. 0 मिमी / एक घंटा बारिस

और ज्यादा बारिस
16. 0 मिमी To 50. 0 मिमी / एक घंटा बारिस

सबसे ज्यादा बारिस
50. 0 मिमी / एक घंटे से ज्यादा बारिस

 

रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage] :
साहित्य / सामग्री : –

  •  प्लास्टिक बोटल
  •  किप
  •  मापन यंत्र
  • मार्कर पेन
  •  बोटबुक
  • पेन
  •  कैंची

 

रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage] :

➤ प्लास्टिक बोटल का ऊपरी हिंसा कैची से काटिए.

➤ मापन यंत्र से प्लास्टिक बोटल में 10 मिली लीटर पानी डाले.

➤ प्लास्टिक के बोटल को मार्कर से 10 मिली लीटर तक मार्क करे.

➤ और मापन यंत्र से बोटल में 10 मिली लीटर पानी डाले , और मार्क करे ( 20 , 30 , 40 आदि ) आवश्यक जितना.

➤ इस प्रक्रिया से प्लास्टिक के बोतल में Scale का प्रमाण दिखेगा.

➤ बोतल से पानी बाहर निकाले.

➤ अब किप प्लास्टिक बोतल पर लगाए। इस तरह बनाए रेन गेज.

 

प्रिय दोस्तों हमने “रेन गेज बनाने के आसान तरीके  [Easy ways to make Rain Gage]” जाने  है. उम्मीद है आप इस लेख को जरूर पढ़े.

धन्यवाद …..

यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े……..

Post Comments

error: Content is protected !!