Now you also learned English sitting at home- part 1 (घर बैठे अंग्रेजी सीखे)

Now you also learned English sitting at home- part 1 (घर बैठे अंग्रेजी सीखे), part 1 english shikhe in Hindi. kaise shikhe, easy steps in learned english

नमष्कार दोस्तों, apna sandesh वेब पोर्टल पर आप सभी का स्वागत है. आप आसान तरीकिसे अंग्रेजी कैसे सीखे जानने वाले है. दोस्तों आज बहुतेक छात्रों को English Subject कठिन लगता है. यदि आप तेजी से अंग्रेजी भाषा सीखना चाहते है तो घरके सदस्यों से अंग्रेजी में बात करनी चाहिए. हो सके की आपके माता पिता अंग्रेजी न बोल सके , पर आप अपने छोटे भाई बहनो से अंग्रेजी में ही बात करे इस तरह उनकी अंग्रेजी भी अच्छी हो जाएगी.

दोस्तों कई सारे छात्र मुख्य रूप में इस Subject से डरते है. ज्यादातर छात्र English को  हार्ड समझ के  इस Sub पर ध्यान नहीं देते. दोस्तों जो आप English के बारे में Negative सोचते हो यह योग्य नहीं है. अगर आप सकारात्मक विचार से यह Subject को समजते हो तो आप अछेसे English बोलना और पढ़ना सिख जाओंगे. और अच्छे Mark से पास होंगे.

english grammar

अब आप भी सीखे घर बैठे अंग्रेजी

आजकल अंग्रेजी बोलना आवश्यकताओं में शामिल हो गया है आवर यह सीखना भी बहुत आवश्यक है. अगर आप अंग्रेजी नहीं बोल पाते है तो आप बिना किसी कोर्स के भी अपनी दिक्क्त दूर कर सकते है.

Read More – Machine learning kya hai aur new technology 

दोस्तों किसी भी भाषा सीखना है तो उसका मुख्य Problem उस Sub की Grammar है. अगर Grammar सिख गए तो Easily आप उस Proper Sub के बारे में सब कुछ जान सकते हो. दोस्तों, व्याकरण को नहीं समझने के कई कारण हैं, जैसे.

1. सिंट सिंटैक्स (भाषण का हिस्सा) अच्छी तरह से समझा नहीं गया है।

2. Sab kal (kal) के प्रकार को एक विशिष्ट समस्या के साथ बदलना पड़ता है, वह समझ नहीं पाती है।

3. भाषा में सही ढंग से बोलने, सीखने और पढ़ने के लिए शब्दों का वर्णन न बढ़ाएँ।

4. वाक्य रचना में प्रयुक्त शब्द सही ढंग से वाक्य बनाने का प्रयास नहीं करते हैं।

दोस्तों आपको किसी भी भाषा को सीखना है तो मुख्य रूप में उसके Grammar का अभ्यास करना जरूरी है.जैसे हमारे मकान बनाते समय हम पाया मजबूत बनाते है उसी तरह किसी भी भाषा को सीखना है तो उसका पाया ( Grammar ) जानना जरूरी है.

 

अब आप भी सीखे घर बैठे अंग्रेजी

अब आपको इस आर्टिकल के माध्यम से English सीखने के Basic Tips बताने वाले है. लेकिन सबसे पहले आपको Grammar के बारे में जानना होगा. इस आर्टिकल में आपको सहज भाषा में English Grammar दिया है. आप हर दिन एक भी घटक इस आर्टिकल से पढ़े तो कुछ दिन बाद आप English बोलना , लिखना और पढ़ना सिख जाओंगे.

यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े……..

   शोध और विकास        टेक्नोलॉजी
1. नए आविष्कार और फीचर्स के साथ     आए है यह हेलमेट 1. फेरोसिमेंटशिट बनाने के आसान तरीके
2. BS – 4 वाहनों के जबरदस्त फीचर्स 2. RCC कॉलम कैसे तैयार करे
3. इलेक्ट्रिकलऔर इलेक्ट्रोनिक         प्रणाली का महत्व 3. जाने वाहनों में इंजिन कैसे काम         करता है
4.रोडसंकेत 4. PUC Certificate कैसे बनाए
5. वाहनों का आविष्कार 5. ट्रांसमिशनसिस्टम का महत्व
6. पहिए का अविष्कार 6. मॅक्रोमीटर का मूल परिचय
7. सड़क सुरक्षा का महत्व

वाक्य और इसके प्रकार  ( The Sentence And Its Types )

1.  शब्दोंके समूह में जिस शब्द से बोध मिलता है उसे सामान्य रूपके के वाक्य कहते है.

उदा.

◾ अतिथि हमारे घर आते हैं। ( Guest come to our home )

◾ शाम कक्षा में पहले आता हैं।  ( Sham come first in class )

2.  जिस वाक्य से अधिक व्याख्यान नहीं मिलता उसे Phrase कहते है.

उदा.

◾वह आया ( He come )

◾ आधी रात्रि के बाद ( After Midnight )

 

वाक्य के प्रकार [Types of Sentence]

वाक्य पांच प्रकार के होते है.

𝟙.  Assertive Sentence ( दृढ़ वाक्य )

𝟚. NegativeSentence ( नकारात्मक वाक्य )

𝟛. Interrogative Sentence ( प्रश्नवाचक वाक्य )

𝟜. Imperative Sentence ( सकारात्मक वाक्य )

𝟝. Exclamation Sentence ( विस्मयादिबोधक वाक्य )

 

Assertive Sentence ( दृढ़ वाक्य ) :

यह वाक्य किसी चीझ या सूचना को दर्शाते है. मुख्य रूप में Assertive Sentence के तीन प्रकार होते है.

 

सकारात्मक ( Affirmative Sentence )

•  सचिन पत्र लिखता है. ( Sachin Write a Letter )

•   श्याम ने अपने मित्र की मदत की. ( Sham Help His Friends )

 

नकारात्मक ( Negative Sentence )

•  सचिन पत्र लिखता नहीं. ( Schin do not write a latter )

•  श्याम ने अपने मित्र की मदत नहीं की. ( Sham did not help his friend )

 

जबरदस्त ( Emphatic Sentence )

•  सचिन ने ही पत्र लिखा है. ( Schin does write a latter )

•  श्याम ने ही अपने मित्र की मदत की. ( Sham did help his Friend )

 

Interrogative Sentence ( प्रश्नवाचक वाक्य ) :

इस वाक्य के अंत में प्रश्नार्थ चिन्ह होता है. ( ? )

1.   आप कहा रहते हो ? ( Where do you leave )

2.  आपका नाम क्या है ? ( What is your Name )

 

Imperative Sentence ( आज्ञार्थी / सकारात्मक वाक्य ) :

इस वाक्य में आज्ञा , निवेदन , सलाह दिया जाता है। इसमें संभवतः Subject ( कर्त्ता ) / ( विषय ) उपयोग नहीं होता.

•  अपने घर जाओ. ( Go to your Home )

•  वापस लौटे. ( Come back )

 

Exclamation Sentence ( विस्मयादिबोधक वाक्य ) :

इस वाक्य में अचानक आने वाले भावनाए व्यक्त की जाती है। इस वाक्य में Exclamation Mark ( !) का उपयोग किया जाता है.

•  क्या प्यारा बगीचा है ! ( What is Beautiful Garden )

•  बापरे ! कितना भागा. ( Oh My God ! How much ran )

दोस्तों आपको इन वाक्य के पांच प्रकार समज आये होंगे, इस तरह से इन वाक्य का उपयोग करके आपने अंग्रेजी बोलने की कोसिस किये तो आपको अंग्रेजी सिखने से कोई नहीं रोख सकता. उम्मीद है दोस्तों आपको यह लेख जरूर पसंद आया होगा.

इस तरह की जानकारी पाने के लिए आप हमारे apnasandesh.com से जुड़े रहे.

धन्यवाद……

यह भी जरुर पढ़े

1.  गुणकारी दही के लाभ

2.  तुलसी है एक वरदान 

3.  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

4.  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

5.  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

6.  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

7.  पनीर सलाद कैसे बनाए 

8.  रक्त और हिमोग्लोबिन 

9.  विटामिन के लाभ 

10.  संतुलित आहार के फायदे 

11.  5 ” S ” का महत्व 

1.  पढाई कैसे करे 

2.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

3.  मल्टीमीटर का उपयोग

4.  पिस्टन रिंग का उपयोग 

5.  सफल होने का रहस्य 

6.  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

7.  परीक्षा का डर दूर करे 

8.  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

9.  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

10.  जी आय पाइप फिटिंग

11.  दमदार टेक्नोलॉजी

 

 

Post Comments

error: Content is protected !!