opportunities in bio engineering – बायोइंजीनियरिंग में रोजगार के अवसर

Bio engineer kaise bane? Biomedical इंजीनियर कैसे बने?, बायोइंजीनियरिंग में रोजगार के अवसर, Employment opportunities in bio engineering, बायोइंजीनियरिंग करियर कैसे बनाये – how to make bio engineering careers?, बायोइंजीनियरिंग में naukari kaise prapt kare? How to get a job in bio engineering?, बायोइंजीनियरिंग में रोजगार कैसे प्राप्त करे – How to get employment in bio engineering? Medical Engineering me career kaise banaye? biomedical engineering salary? सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार, www.apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों वर्तमान युग में हर एक व्यक्ति को अपना Careers बनाना बेहत ही महत्वपूर्ण कार्य है. इंसान Income कमाने के लिए अलग-अलग तरीको का उपयोग करता है. हमारे busy सेडुल में शिक्षा को बेहत महत्व दिया गया है इसीलिए दोस्तों ”Apna Sandesh” टीम द्वारा आज के लेख में कुछ अलग बताने का प्रयास किया है, उम्मीद है की हमारे प्रिय पाठको को इस लेख के माध्यम से शिक्षाप्रद जानकारी मिले, यही हमारा प्रयास है.

opportunities in bio engineering - बायोइंजीनियरिंग में रोजगार के अवसर

 

 

opportunities in bio engineering – बायोइंजीनियरिंग में रोजगार के अवसर :-

बायो इंजीनियर कैसे बने? Bio engineering Science medical के क्षेत्र में अति महत्वपूर्ण क्रांति लाई है. Bio engineering Science की वजह से डॉक्टरों को कैंसर और टीबी जैसी जटिल बीमारियों का इलाज सफल प्राप्त किया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन – World Health Organization (WHO) की एक रिपोर्ट के अनुसार जैव चिकित्सा तकनीक असाध्य बीमारियों के इलाज की सर्वाधिक सुविधा इस माध्यम से की जाती है. इंजीनियरिंग के जरिए मानव के स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जटिल और असाध्य रोगों का भी इलाज ढूंढ कर किया जाता है. पर्यावरण की सुरक्षा के लिए भी Bio engineering महत्वपूर्ण है. लेकिन इंजीनियरिंग की टीम के विपरीत यह टीम Bio science पर आधारित होती है. इसलिए इस इंडस्ट्री में Bio technical science का उपयोग किया है.

 

बायोइंजीनियरिंग के मुख्य कार्य –

Bio engineering के मुख्य कार्य, जैसे चिकित्सा उपकरणों पर शोध करना और Biomedical engineering में परीक्षण और मूल्यांकन संबंधी कार्य, इसका उपयोग ज्यादातर अस्पतालों और चिकित्सा क्षेत्रों में किया जाता है. सामान्य वस्तुओं की खरीद में भी बायोमेडिकल में करनी पड़ती हैं, बायोमेडिकल इंजीनियर चिकित्सा उपकरणों (Biomedical Engineer Medical Devices), स्पोर्ट्स मेडिसिंस (Sports Medicine), स्टेम सेल अनुसंधान (Stem Cell Research), नैनो टेक्नोलॉजी (Nanotechnology) आदि में शिक्षा प्राप्त करते हैं. इस क्षेत्र में, काम के साथ Biomedical engineering से संबंधित कार्यो में रुचि अपनाने वाले कार्य करते हैं. कृत्रिम अंगों और कंप्यूटरों की मदद, और चिकित्सा सूचना विज्ञान और चिकित्सा छवियों आदि से संबंधित कार्य करते हैं.

आपको बता दे की इंजीनियरिंग और बायोलॉजिकल सायंस का मिलन याने बायोइंजीनियरिंग है. जिसके बारे में आज के लेख हम विस्तार से जानने वाले है.

यह भी पढ़े

1. What is interest?

2. How to practice Tally?

3. Introduction to the Economic Environment

bio engineering me career

इस प्रकार के इंजीनियरिंग में साधारण, शरीर विज्ञान के बारे में तथा इंजीनियरिंग और बायो लॉजिकल दोनों का मिश्रण करके नई टेक्नोलॉजी का आविष्कार किया गया है. Bio engineering में अलग-अलग मशीनों के माध्यम से शरीर के विविध रोगों का निदान करना और शरीर के विभिन्न प्रणालियों को कार्यक्रम करना यह इस इंजीनियरिंग के माध्यम से किया जाता है, जो वर्तमान युग में एक फायदेमंद साबित हो रहा है.

बायोइंजीनियरिंग के क्षेत्र में, जीव विज्ञान सामग्री के साथ रसायन विज्ञान (Chemistry) के सिद्धांतों का उपयोग रोग के निदान और उपचार के लिए उत्पादों और उपकरणों के विकास में भी किया जाता है. इस शाखा में, जीव विज्ञान (Biology) और स्वास्थ्य का अध्ययन भौतिक (Physical), रासायनिक (Chemical), गणितीय (Mathematical) है और अब यह विज्ञान और इंजीनियरिंग के सिद्धांतों का पूरा समय है. इसमें कई शाखाएँ हैं, उनमें से कुछ निम्नलिखित शाखाएँ हैं, जैसे.

 

जैवयांत्रिकी – opportunities in bio engineering (Biomechanics)

बायोमेडिकल का उपयोग परिवहन की सीमा को समझने और ऐसी चिकित्सा समस्याओं और प्रणालियों को गति देने के लिए किया जाता है. जैसे कृत्रिम अंग, कृत्रिम दिल, शावक और जोड़ ऐसे उपकरण हैं जो बायोमेडिसिन इंजीनियरों द्वारा विकसित किए गए हैं.

bio engineering me career

बायोमेडिकल अभियांत्रिकी – Biomedical engineering

इस प्रकार के इंजीनियरिंग में ट्यूमर, टीबी और कैंसर और अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की पहचान और निदान किया जाता है. इस प्रकार की प्रणाली में, Electronic data processing और Protesters के मिश्रण का विश्लेषण सफलतापूर्वक हल किया जाता है. इस चुंबकीय अनुनाद के तहत, Imaging MRI, Ultrasound, और अन्य तकनीकों का आमतौर पर उपयोग किया जाता है.

Bio engineer kaise bane

बायोमैटिरियल्स – Bio-material

बायोमैटिरियल्स के माध्यम से मानव शरीर में इस्तेमाल होने वाले प्राकृतिक जीवित शिशुओं और कृत्रिम पदार्थों के विकास का भी अध्ययन किया जाता है. यह उपयुक्त गुणों के साथ सामग्री के साथ Functional bones और अन्य Implantation करने के लिए योग सामग्री तैयार करने की प्रक्रिया के माध्यम से है. और अन्य प्रत्यारोपण योग्य सामग्री तैयार करते है. इन सभी वस्तुओं को Alloy, clay, polymer और अन्य वस्तुओं के साथ भी मिलाया जाता है. जिसके माध्यम से यह जीवित पदार्थ विकसित करता है.

Bio engineer kaise bane

क्लीनिकल इंजीनियरिंग – Clinical engineering

दोस्तों, आप जानते हैं, Clinical engineering में कंप्यूटर डेटाबेस विकास और रखरखाव, दवाओं और उपकरणों और उपकरणों की सूची के साथ-साथ अस्पतालों में उपयुक्त होने वाले चिकित्सा उपकरणों को मुख्य रूप से किया जाता है. Hospital में या उपकरण की उपलब्धता और उपयोग के लिए या चिकित्सीय प्रक्रिया की चिकित्सीय आवश्यकताओं की सहायता के लिए Clinical engineering therapist के साथ मिलकर काम करता है.

Read more – bio energy ke bare me jankari

Bio engineer kaise bane

बायोइंजीनियरिंग क्षेत्र में रोजगार –

1. दोस्तों, इस क्षेत्र में रोजगार की कोई कमी नहीं है क्योंकि आप जानते हैं कि प्रदूषण के इस युग में,  इस दुनिया में स्वास्थ्य के अधिक उपयुक्त साधनों का उपयोग किया जा रहा है. इसलिए बायोइंजीनियरिंग क्षेत्र में जॉब या नौकरी की कोई कमी नहीं है.

2. इसके अलावा, बायोमेडिकल इंजीनियरों का उपयोग उत्पाद परीक्षण, डिजाइनिंग, चिकित्सीय उपकरणों के लिए किया जाता है, और इस इंजीनियरिंग का उपयोग ज्यादातर रखरखाव और अनुसंधान संबंधी कार्यों के लिए भी किया जाता है.

3. बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में अस्पताल और नर्सिंग होम, रिसर्च लैब, दवा बनाने वाली कंपनियों एवं हेल्थ केयर कंपनी में नौकरी की संभावना अधिकतर होती है.

4. इस कोर्स के माध्यम से, छात्रों को विदेशों में भी रोजगार मिल सकता है, क्योंकि विदेशों में बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की मांग भी बढ़ रही है.

यह भी पढ़े

1. नर्सरी का व्यवसाय कैसे करे

2. मशरूम की खेती कैसे करें

3. फलों की रक्षा कैसे करें

bio engineering me career

बायोइंजीनियरिंग में शैक्षणिक योग्यता –

1. बायोइंजीनियरिंग कोर्स से जुड़ने के लिए छात्रों को 10 + 2 यानी की कक्षा 12वीं Science में पास होना अनिवार्य है.

2. बायोइंजीनियरिंग के लिए छात्रों को कक्षा 12वीं में फर्स्ट क्लास होना अनिवार्य है.

3. बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के पास इंजीनियरिंग भौतिक, रसायन, या जीव विज्ञान में Bachelor’s Degree होनी अनिवार्य है.

4. अधिकांश बायोमेडिकल इंजीनियरिंग संबंधी नौकरियों के लिए बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री की आवश्यकता होती है.

5. वर्तमान युग में कुछ संस्था ने मेडिकल इंजीनियरिंग में graduate level पर BTech प्रोग्राम भी शुरू किया है. इसमें क्लीनिकल से जुड़े कोर्स भी कराए जाते हैं. यदि कोई उम्मीदवार मेडिकल क्षेत्र में रिसर्च करना चाहता है तो बायोमेडिकल में Master of Philosophy (Mphil) या PHD भी कर सकता है.

6. कक्षा 12 वी Science के बाद बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के लिए मेडिकल कोर्स करना अनिवार्य होता है.

bio engineering me career

इस क्षेत्र में सैलरी (Biomedical engineering salary) –

1. biomedical engineering salary की शुरुआत की सैलरी  3 से 4 लाख रुपए तक होती है.

2. किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल और क्लीनिक में लगभग 25 से 30000 प्रतिमाह सैलरी इस प्रकार के इंजीनियरों को मिल सकती है.

3. कुछ वर्षों के बाद कुछ अनुभव प्राप्त करने के बाद, वे अपनी खुद की लैब या मेडिकल शॉप भी खोल सकते हैं तथा सरकारी क्षेत्र में अधिक रोजगार प्राप्त कर सकते हैं.

4. इस सेक्टर में 25 से 30000 रुपए प्रतिमाह कमा सकते हैं.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको Employment opportunities in bio engineering यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ.

धन्यवाद…

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…..

 

यह भी जरुर पढ़े :-

1. नए आविष्कार वाले हेलमेट

2. BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

3. इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है

4. रस्ता संकेत

5. वाहनों का आविष्कार

6. पहिए का आविष्कार

7. पढाई कैसे करे

8. ट्रांसफोर्मर का कार्य

9. मल्टीमीटर का उपयोग

10. पिस्टन रिंग का उपयोग

11. सफल होने का रहस्य

Post Comments

error: Content is protected !!