RCC कॉलम कैसे तैयार करे – How to prepare RCC columns

RCC कॉलम कैसे तैयार करे – RCC column kaise taiyar kare, सीमेंट कैसे बनाते है – cement kaise banate hai.RCC column in Hindi.

नमस्कार दोस्तों apna sandesh  वेब पोर्टल पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों आज के इस लेखन टिप्स में हम  “RCC कॉलम कैसे तैयार करे [How to prepare RCC columns]” जानने वाले है. अगर आप भी RCC कॉलम से जुडी जानकारी के बारे में जानना चाहते है, तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़े.

 

RCC कॉलम कैसे तैयार करे

दोस्तों आपको इस लेख में बांधकाम संबंध सभी जानकारी मिलने वाली है. जैसे बांधकाम करते समय मुख्य पाया मजबूत बनाने के लिए R.C.C. ( रिएन्फोर्ड्स सीमेंट कॉंक्रीट ) का उपयोग करते है. कॉन्क्रीट से भरा होने पर धातु संरचना मजबूत होती है. सीमेंट कॉन्क्रीट दबाने से मजबूत होता है लेकिन स्पिलेज पर कमजोर होता है. यही कारण है कि वे कंक्रीट में धातु का उपयोग करते हैं. इसीको R.C.C. ( रिएन्फोर्ड्स सीमेंट कॉन्क्रीट ) के नाम से जाना जाता है. R.C.C. ( रिएन्फोर्ड्स सीमेंट कॉन्क्रीट ) कॉलम मजबूत होता है, इसलिए मकानों की लाइफ लम्बी समय ता रहती है. इस लेख में आपको R.C.C. ( रिएन्फोर्ड्स सीमेंट कॉंक्रीट ) को किस तरीके से तैयार किया जाता है. इस बारे में सभी जानकारी मिलेगी.

 

सीमेंट कैसे बनाते है  [How do cement]? 

सीमेंट यह ऑक्सीजन और हाइड्रोजन का उपयोग करके कैल्शियम, एल्यूमीनियम, मैग्नीशियम और सिलिकॉन से बनाया गया है. एल्यूमीनियम और सिलिकॉन के ऑक्साइड पूरे सर्किट में फैले हुए हैं. इनके मिश्रण को भट्ठी में गरम किया जाता है. उस समय उसमेसे पानी बाहर निकलता है और पिघलने जैसा होता है. ऐसे समय में उनका सयोग किया जाता है. और ठंडा करने पर उसको बारीक़ भूकटी में रूपांतरित करते है. उसे पोर्टलैंड सीमेंट के नामसे जाना जाता है. जब पानी के साथ उसी समय अलग अलग मॉलेक्यूल से बंध ( Bond ) से जोड़ा जाता है. इसी तरह के रासायनिक बंधन सीमेंट को मजबूत करते हैं. लेकिन अन्य वस्तुओं को सीमेंट से जोड़ा जाता है. सीमेंट के साथ रेत, ढेर मिलाते समय, कंक्रीट का निर्माण होता है. कम प्रमाण होने पर भी सीमेंट मजबूत होता है.

नोट : सीमेंट को गीले जगह से दूर रखे.

यह आर्टीकल जरूर पढ़े………

 

मॉर्टर और कॉन्क्रीट क्या है [What is mortar and concrete] :-

अलग रेत, खड़ी और पत्थर को सीमेंट के साथ मिलाया जाता है. सीमेंट की किंमत कम हो इसलिए अलग अलग आकर के रेती , खड़ी का मिश्रण किया जाता है. रेती और सीमेंट के मिश्रण को मॉर्टर कहते है. सीमेंट , रेती ,और खड़ी के मिश्रण को कॉन्क्रीट कहते है. कॉन्क्रीट में पत्थर और सीमेंट का मिश्रण मजबूत होता है.

 

R.C.C. कॉलम तैयार करे [R.C.C. Prepare column] :-

साहित्य : टॉर्शन बार , राउंड बार , बाइंडिंग वायर , लकड़ी , सीमेंट , रेती , पत्थर आदि
उपकरण : एरण , मेजरिंग टेप , गुण्या , छलनि , घमेल आदि।
टूल्स : छिन्नी , क्लॉ हैमर , थापी आदि।

∎ टॉर्शन बार के दिए गए आकर से छिन्नी से तोड़े.

∎ राउंड बार दिए गए माप के आकर के साथ छिन्नी से तोड़े.

∎ बाद में राउंड बार को काटकोण माप में फ्रेम तैयार करे.

∎ इस चौकोन फ्रेम में 20 – 21 सेमि के बाद टॉर्शन बार को बाइंडिंग वायर से जोड़े.

∎ लकड़ी का ढांचा तैयार करे.

∎ अब सीमेंट, रेती , खड़ी का मिश्रण केरे.

∎ पानी का उपयोग करके कॉंक्रीट तैयार करे.

∎ कॉंक्रीट को कॉलम के ढांचे में भरे.

∎ अब दूसरे दिन कॉलम के लकड़ी फैली निकाले।

∎ और उसपर 28 दिन तक पानी से भराव करे।

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…….

 

R.C.C. कॉलम तैयार करते समय ध्यान रखे [R.C.C. Take care when preparing columns]:- 

➤ टॉर्शन बार के भाग कॉलम से 10 से 15 सेमि उचाई पर रखे

➤ राउंड बार के बनावट के समय हुक बिच में रखे.

➤ हुक के साथ दो गज 2 से 3 सेमि इतने चाहिए.

➤ टॉर्शन बार चौकोन ढांचे में रखे.

➤ ढांचा बनाते समय अलग अलग दिशाओ में जोड़ बनाये.

➤ कव्हरिंग के लिए ढांचा सबसे बड़ा रखे.

➤ मेझरिंग टेप से ढांचा जाचे.

➤ कॉंक्रीट बनाते समय रेती,खड़ी , सीमेंट का मिश्रण करके फिर पानी डाले.

➤ सुआत में कॉंक्रीट को दबाके भरे.आदि ,

 

गुणधर्म [Property]:-

⧪ एक बार केमिकल प्रक्रिया होने पर सीमेंट पानी में लम्बे समय तक टीके रहती है.

⧪ सीमेंट सभी समय में अच्छा काम करती है.

⧪ कॉंक्रीट का उपयोग करते समय जिस भाग में तनाव निर्माण होता है वहा धातु का इस्तेमाल करते है.

⧪ सीमेंट कभी गर्मी में जलता नहीं। लेकिन अगर ज्यादा गर्मी हो तो स्पोट होता है.

⧪ सीमेंट यह विद्युत या उष्ण ऊर्जा का वाहक नहीं. सीमेंट बिजली का दुर्वाहक है .

 

प्रिय दोस्तों हमने “RCC कॉलम कैसे तैयार करे [How to prepare RCC columns]” के बारे में जाने  है. उम्मीद है आप इस लेख को जरूर पढ़े.

धन्यवाद….
यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े……..

Post Comments

error: Content is protected !!