Basic introduction of ferrocement slot – फेरोसिमेंट का मूल परिचय

नमस्कार दोस्तों apna sandesh  वेब पोर्टल पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों आज के इस लेखन टिप्स में हम  “फेरोसिमेंट का मूल परिचय  [Basic introduction of ferrocement slot]” जानने वाले है. ferro cement kya hai. अगर आप भी ferrocement slot से जुडी जानकारी के बारे में जानना चाहते है, तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़े.

Basic introduction of ferro cement slot - फेरोसिमेंट का मूल परिचय

हमारे मानवी संस्कृति में बांधकाम सबसे महत्वपूर्ण घटक है. ऐतिहासिक समय से, यह कल्पना और कौशल बांदकम में चल रहा है. इस अवधि में पत्थर और ईटो मुख्य भूमिका निभाते हैं.धीरे-धीरे, मानवी जिव ने बांध के काम में लकड़ी, धातु और सीमेंट का इस्तेमाल किया. प्रकृति के नियम और प्रकृति की संरचना को समझकर, मनुष्य ने अपने काम में इसका उपयोग किया.

Basic introduction of ferrocement slot – फेरोसिमेंट का मूल परिचय

फेरो सीमेंट की मूल जानकारी :-

फेरोसिमेंट का मूल परिचय में हम देख रहे है की, फेरो सीमेंट एक नविण्यपूर्ण कॉन्क्रीटयुक्त बांधकाम है. इस में सीमेंट मॉर्टर , मेटल रॉड ( धातु ), और जाली बनके उपयोग में लाते है. वेल्डमेश और चिकनमेश फेरो सीमेंट के अंदर अपनी संरचना का उपयोग करते हैं. फेरो सीमेंट का महत्व इसमें प्रयुक्त घटकों तक ही सीमित है, जैसे सीमेंट मोर्टार, रेत, धातु सल्ली, छोटे तार चिकन आदि.

Basic introduction of ferro cement slot – फेरोसिमेंट का मूल परिचय

फेरो सीमेंट के घटक [Components of ferro cement] :-

1. Cement, rati, mortar, water adulteration.

2. metal ring.

3. Weldmesh and Chickenmesh Structure.

4. coating material.

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े………

AUTOMOBILE  TECHNOLOGY    NATURE (  प्रकुर्ती  )
1. वाहन चलाने के नियम, पंजीकरण और ड्रायविंग लाइसेंस 1. Rain Gage बनाने के आसान तरीके
2. वाहन सर्विसिंग और जॉब कार्ड  2. पानी को कैसे बचायें
3. ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास

4. The Future Flying Car

3. सौर ऊर्जा का महत्व

4. दमदार फीचर्स के साथ इलेक्ट्रिक Vehicle

5. जी आय पाइप फिटिंग कैसे करे

फेरो सीमेंट से होने वाले फायदे [Advantages of Ferro Cement] :-

  • नए बांधकाम में मूलभूत सरचना करते समय कच्चे माल के लिए फेरो सीमेंट का उपयोग करते है.
  • फेरो सीमेंट से किसी भी आकार की बनावट कर सकते है.
  • कुशल कामगार की जरुरत नहीं होती.
  • हलके वजन का होता है, और अगर अच्छे से देखरेख हो तो लम्बे समय तक चल शकता है.
  • भूकंप रोधक क्षमता है.आदि ,

Basic introduction of ferro cement slot – फेरोसिमेंट का मूल

फेरो सीमेंट कहा उपयोग में लाये जाते है [Where is Ferro Cement Used]?

  • घर ( मकान ) बांधकाम ,
  • समुन्दर बांधकाम ,
  • खेती के अवजार ,
  • औद्योगिक रचना,
  • वहन मार्ग बांधकाम, आदि.

प्रिय दोस्तों हमने “RCC कॉलम कैसे तैयार करे [How to prepare RCC columns]” के बारे में जाने  है. उम्मीद है आप इस लेख को जरूर पढ़े.
यह आर्टीकल जरूर पढ़े…….

AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  ELECTRICAL  TECHNOLOGY
1. वाहनों को इंसानी दिमाग से कैसे चलाए 1. घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए
2. टू व्हीलर वाहन की नए  तकनीकी 2. इलेक्ट्रिक पंप की मूल जानकारी
3. अपने आप इंजिन ऑइल कैसे बदले 3. विद्युत तंत्रज्ञान का परिचय
फेरो सीमेंट शीट कैसे तैयार करे [How to make a ferro cement sheet]:

साहित्य : एम. एस. राउंड बार ,वेल्डिंग रॉड ,चिकनमेश , बाइंडिंग वायर , सीमेंट , रेती , पॉलीथिन पेपर आदि.

सामग्री : एरण , मेझरिंग टेप , वेल्डिंग मशीन , बादली आदि.

टूल्स : छिन्नी , हतोड़ा , मेश कटर , आदि.

Basic introduction of ferro cement slot – फेरोसिमेंट का मूल

फेरो सीमेंट शीट कैसे तैयार करे [How to make a ferro cement sheet]:

1. राउंड बार के चार भाग दिए गए मेंझरमेंट में छन्नी से काटे.

2. चार भाग को दिए गए काटकोण में वेल्डिंग करे.

3. दिए गए माप से चिकनमेश काटे.

4. बादमे चिकनमेश को फ्रेम के ऊपर बाइंडिंग वायर से बांध ले.

5. रेती ,सीमेंट और पानी का मिलाव कर के मॉर्टर तैयार करे.

6. सीधी सपाट भूमि पर पॉलीथिन पेपर रखे और उसपर चिकनमेश फ्रेम रखे.

7. उसपर मॉर्टर डाले.

8. डाले हुए मॉर्टर को रॉडिंग करे.

9. मॉर्टर को सामान करे.

10. दो घंटे बाद पानी डाले.

11. बने हुए फेरो सीमेंट शीट के ऊपर 7 या 14 दिन तक पानी डाले.

 

प्रिय दोस्तों हमने “फेरोसिमेंट का मूल परिचय  [Basic introduction of ferrocement slot]” के बारे में जाने  है. उम्मीद है की आपको यह लेख पसंद आया होगा .

धन्यवाद….

यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े……..

   शोध और विकास        टेक्नोलॉजी
1. नए आविष्कार और फीचर्स के साथ     आए है यह हेलमेट 1.Audi Q – 3 की दमदार Technology 
2. BS – 4 वाहनों के जबरदस्त फीचर्स 2. RCC कॉलम कैसे तैयार करे
3. इलेक्ट्रिकलऔर इलेक्ट्रोनिक         प्रणाली का महत्व 3. जाने वाहनों में इंजिन कैसे काम         करता है
4. रोडसंकेत 4. PUC Certificate कैसे बनाए
5. वाहनों का आविष्कार 5. ट्रांसमिशनसिस्टम का महत्व
6. पहिए का अविष्कार 6. मॅक्रोमीटर का मूल परिचय
7. सड़क सुरक्षा का महत्व

Post Comments

error: Content is protected !!