Electrical components | Ghar baithe inverter kaise lagaye?

Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए – Ghar baithe Inverter kaise lagaye? Khud se Inverter kaise lagaye? Inverter ka upyog kaise kare. यूपीएस क्या है और उपयोग कैसे करे? UPS ke bare me Jankari. Ghar Baithe UPS Kaise Lagaye In Hindi.  

Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए - Ghar baithe inverter kaise lagaye?

Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए – Ghar baithe Inverter kaise lagaye?

How to apply sitting inverter in house – नमस्कार दोस्तों आप सभी का Apnasandesh.com पर स्वागत है. दोस्तों आपके घर में इलेक्ट्रिकल उपकरण होंगे ही, और यह सभी उपकरण Electric current पर चलते है. जब कही बार घर में कुछ महत्वपूर्ण काम होता तभी विद्युत करंट बंद हो जाता है. ऐसा कई बार हुआ है.

यदि ऐसे समय में आपको इलेक्ट्रिक करंट सप्लाय करने के तरीके आ जाये तो, हाँ दोस्तों आज के लेख में विद्युत करंट सप्लाय कैसे करे [Electric current supply kaise kare], विद्युत मोटर कैसे चालु करे, Ghar par Inverter kaise lagaye? और अन्य विद्युत उपकरणों [Electrical components] को विद्युत सप्लाय कैसे दे यह सब जानने वाले है.

सभी विद्युत उपकरणों का उपयोग करते समय सभी सुरक्षा का उपयोग करना आवश्यक है. जैसे सेफ्टी हैंड दस्ताने, टेस्टर, आदि का उपयोग करे. हमारे जीवन में इलेक्ट्रिकल उपकरण महत्वपूर्ण है. तो सभी उपकरणों के बारे में जानना जरुरी है, जैसे विद्युत पंप और इन्व्हर्टर की रचना, इन्व्हर्टर को उपयोग में लाने के तंत्र, परिचय डी. ओ. एल. स्टार्टर, [Design of Electric pump and inverter, a mechanism to use an inverter, Introduction D.O. L. Starter,] आदि. यह सब हम आगे देखने वाले  है.

इन्व्हर्टर [Inverter] ka Upyog kaise kare – इन्व्हर्टर का उपयोग कैसे करे?

दोस्तों इन्व्हर्टर एक Electrical Circuit Panel है. जो बैटरी से आने वाले डी. सी. वोल्टेज को यह ए. सी. वोल्टेज में कन्व्हर्ट करके घर में उपयोगी होने वाले करंट से साथ रूपांतर होता है.

यदि बैटरी की चार्जिंग कम हो जाये तो, उसे एक इलेक्ट्रिक सर्किट पैनल से चार्जिंग किया जाता है. यह एक बैटरी चार्जर उपकरण है और जब Main electrical circuit से विद्युत आना बंद होता है तभी घर के अन्य विद्युत उपकरणों को चलाने के लिए ज्यादा तर इन्व्हर्टर का उपयोग करते है.

 

और यदि करंट सप्लाय करना है तो विद्युत सर्किट से डी. सी. वोल्टेज को ए. सी. वोल्टेज में कन्वर्ट के लिए इन्व्हर्टर का उपयोग करना पड़ता है.

 

इन्व्हर्टर और बैटरी को कैसे कनेक्ट करे? [Inverter and battery ka Connection kaise kare]

Ghar baithe Inverter kaise lagaye? दोस्तों इस लेख में हम जानने वाले है की इन्व्हर्टर + बैटरी + बैटरी के साथ एक पर्यायी विद्युत सर्किट सिस्टम तैयार होती है. लेकिन जब आपके घर से विद्युत करंट बंद हो जाए तो तुरंत यह सुरु नहीं हो सकता, उसे हर बार आपको चालू करना पड़ेगा, इसे ऑफ़लाइन सिस्टम कहते है.

जब मुख्य बिजली की आपूर्ति बंद हो जाती है, तो इसे उसी समय या स्व चालित रूप से चालू करना पड़ता है, फिर इन्वर्टर + बैटरी + बैटरी चार्जर के साथ Main Failure Sensing Circuit का उपयोग करें.

 

दोस्तों Main Sensing Circuit मुख्य विद्युत प्रवाह की निगरानी करता है. और टूटे हुए Electric Current को अपने आप याने Inverter + Battery + Battery Charger + Men’s Failure Sensing Circuit के साथ Electric Current को बनाने में मदत करता है.

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

इन्व्हर्टर की क्षमता [Inverter Capacity] कितनी होती है?

यदि Inverter Capacity की बात करे तो (400 – 800 -1000 – 2000 व्ही. ए. आदि) तक होती है. लेकिन वर्तमान युग में नई टेक्नोलॉजी आने से Inverter Capacity में भिन्नता हो सकती है.

Inverter पर चलने वाले उपकरण – लाइट, पंखा, टी.व्ही. आदि उपकरण,

 

इन्व्हर्टर काम [Inverter work] kaise karata hai?

यह एक ऐसा यूनिट है जो सम्पूर्ण पॉवर सोर्स का एक भाग है. जिसके माध्यम से कई सारे Electric Current निर्माण होते है और वह UPS के माध्यम से अन्य उपकरणों को पॉवर सप्लाय करता है.

जब मुख्य पावर अप्लाय से पावर कट होता है, तो यह डी सी. करंट को ए सी में कन्वर्ट करता है.

 

इन्व्हर्टर और बैटरी की देखभाल[ Inverter and battery care] kaise kare

इन्व्हर्टर और बैटरी की देखभाल करना बहुत जरुरी है? क्योंकि अच्छे काम के प्रदर्शन के लिए इन्व्हर्टर की देखभाल करना जरुरी है. इसे Affirmative observation कह शकते है.

एक इन्वर्टर दो अलग-अलग हिस्सों का एक घटक है जो एक इलेक्ट्रॉनिक सर्किट के माध्यम से बैटरी से ऊर्जा का स्रोत करने के लिए उपयोग किया जाता है.

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

 

Ghar baithe Inverter kaise lagaye – इन्व्हर्टर [Inverter] कैसे काम करता है?

इन्व्हर्टर यह धूल विद्युत उपकरणों की महा शत्रु है, धूल से गीलापन आने से Short Circuit हो सकता है. इसलिय नियमित रूप से बॉक्स की सफाई करना जरुरी है. बॉक्स के अंदरूनी भाग में कुलिंग फैन की आवश्यकता है. जिसके माध्यम से इन्व्हर्टर को गरम होने से बचा सकते है. यदि समय मिले तो हर समय कपडे से धूल और मिटटी के बारीक़ हिस्से को व्हाकुम क्लीनर से क्लीन करवा ले.

 

कनेक्शन [Connection] kaise lagaye? 

सभी प्रकार के वायरिंग कनेक्शन तपासे और जरुरत है तो स्क्रू के माध्यम से उसे टाइट करे

.

बैटरी [Battery] की Servicing kaise kare:

बैटरी के अलग-अलग टर्मिनल (पोसिटिव – निगेटिव) को हमेसा अछे कपडे से साफ़ करे. कुछ तंत्रज्ञान जैसे UPS में इलेक्ट्रोलाइट फील बैटरी का उपयोग किया जाता है, उसे नियमित देखभाल की आवश्यकता रहती है.

 

Inverter और Battery के अन्य स्पेसिफिकेशन –

तापमान [Temperature] : बैटरी का तापमान समय समय पर जाचे.

टर्मिनल [Terminal] : टर्मिनल पर ऑक्सिडेशन के वजह से सफेद थर जम जाता है. इसलिए समय समय पर उसे जाचे.

लेव्हल [Level] : इलेक्ट्रोलाइट लेव्हल समय पर जाँच करे. बैटरी का इलेक्ट्रोलाइट का लेव्हल कम हुआ तो उसे सही समय पर डिस्टिल पानी भरवा ले और सही तरीके से जाचे.

बैटरी वोल्टेज [Battery voltage] : वोल्ट मीटर के माध्यम से बैटरी का वोल्टेज गिने और उसे निश्चित करके रखे.

Maintenance Record कैसे बनाये रखे?

सभी Maintenance की तारीख एक बुक पे नोंद करे,

  • तारीख :-
  • बैटरी संख्या :-
  • बैटरी वोल्टेज :-

Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए - Ghar baithe inverter kaise lagaye?

 

यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े…

 

Inspection supervision:

Overview:- Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए – Ghar baithe inverter kaise lagaye?

Name- Ghar baithe inverter kaise lagaye?

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को यह लेख जरूर पसंद आया होगा, मैंने अपनी तरफ से Electrical components | घर बैठे इन्व्हर्टर कैसे लगाए – Ghar baithe inverter kaise lagaye? के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, फिर भी यदि इस बारे में जानकारी छूट गयी या मिस हो गई तो हमें कमेंट करके जरूर बताये,

दोस्तों अगर इस पोस्ट में कोई गलती है या तो आप मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके सूचित कर सकते हैं और दोस्तों इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे – सोशल मीडिया जैसे Facebook, Instagram, WhatsApp, Twitter पर शेयर करें और अन्य सोशल मीडिया पर भी शेयर करें…

 

Thank you Dosto

 

 

 

 

Post Comments

error: Content is protected !!