कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया – World of computer network

कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया – World of computer network, कंप्यूटर नेटवर्क क्या है -What is computer network, कंप्यूटर नेटवर्क कैसे जोड़ा जाता है -How to add a computer network, नेटवर्क के प्रकार कोनसे है – What is the type of network in Hindi.

 

नमष्कार दोस्तों Apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. आज हम इस आर्टिकल में कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया [World of computer network] इसके बारे जानकारी में जानने वाले है.

दोस्तों संचार [Communications] बहुत विकसित हुआ है. ई-मेल [Email], ब्लॉग [blog], पॉडकास्ट [podcast], इंस्टेंट मैसेजिंग [instant messaging ] और अन्य मल्टीमीडिया तरीकों के बीच सोशल नेटवर्क जैसे टूल और सेवाओं ने हमारे द्वारा संवाद करने के तरीके को काफी हद तक बदल दिया है.

 

दोस्तों हमारी दुनिया बनी , कई युग बने और हर युग में Invention होते गए. हमारे बदलते युग के साथ साथ इस समय में भी कुछ आविष्कार हुए और यह आविष्कार इंसान ने किए है.  इसीलिए इंसान को बुद्धिमान प्राणी बताया गया है. लेकिन कुछ चीजें ऐसी हैं जो इंसानों से आगे हैं, वो है इंसान से बनी हुई machine. दोस्तों ऐसे ही युग में हम जी रहे है लेकिन Machine की परिभाषा नहीं जानते. तो आइये दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हम मसनरी दुनिया में Computer और Computer Network के बारे में जानते है.

कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया - World of computer network

कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया – Computer Network

कंप्यूटर नेटवर्क की परिभाषा कुछ इस तरह हो सकती है की एक या एक से अधिक कंप्यूटर जो अपने आप से कनेक्ट होते है या संपर्क बनाते है उसे हम ” Network ”  कह शकते है. Technical शब्दों में इसे ” Data Transmission ” भी कहा जाता है. क्युकी Online के युग में किसी भी जानकारी का आदान प्रदान Computer Network से होता है. आदान प्रदान दो घटको के आधार पर निर्भर है. एक सेकंद में कितने Bite भेजे , इसके आधार पर Data Transfer की Speed गिनी जाती है. या एक सेकंद में कितना Data भेजा गया , इस आधार पर Bite निश्चित किया जाता है. या Data Transmission serial, Parallel, simplex, half duplex,  आदि विविध प्रकार होते है.

कंप्यूटर नेटवर्क कंप्यूटरों का एक समूह है जो नेटवर्क नोड्स [Network nodes] पर या प्रदान किए गए संसाधनों को Share करने के उद्देश्य से Digital interconnect पर सामान्य संचार protocol के सेट का उपयोग करता है. नोड्स के बीच का अंतर दूरसंचार नेटवर्क Technologies के एक व्यापक Spectrum से बनता है, जो भौतिक रूप से वायर्ड, ऑप्टिकल और Wireless radio frequency Methods पर आधारित है, जो विभिन्न नेटवर्क टोपोलॉजी में Arranged हो सकते हैं.

कंप्यूटर नेटवर्क कई Applications और services का समर्थन करते हैं, जैसे कि वर्ल्ड वाइड वेब [World Wide Web], डिजिटल वीडियो [digital video], डिजिटल ऑडियो [digital audio], एप्लिकेशन [application] और स्टोरेज सर्वर [storage servers], प्रिंटर [printer] और फैक्स मशीनों [fax machines] का share उपयोग और ईमेल और त्वरित संदेश [instant message] Applications का उपयोग करते है.

Network System

Network System में Data एक एक शब्द , जिस तरह एकसमान गट या गटो का संच याने Pocket जैसा तैयार करके उसे अलग अलग सिस्टम से Transfer करना होता है. कुछ अन्य प्रकार की सामान्य गतिविधिओ का इस्तेमाल कर Computer Network का उपयोग किया जाता है. जैसे,

लिनिअर [Linier] ➠  इस System में एक समान सभी computer वायर ( Cable ) के जरिये से एक दूसरे से Connect किये जाते है.

रिंग [Ring]  ➠  इस System में Circular System से कंप्यूटर Connect किये जाते है , पहला और आखरी Computer एक दूसरे से Connect होते है.

स्टार [Star] ➠  Main Computer जिसे सर्व्हर ( server ) के नाम से भी जानते है. यह Computer Center में होता है और सभी Computer इस एक Computer से Connect किय जाते है.

ट्री [Tree] ➠  जिस तरह पेड़ की डालिया फ़ैल जाती है उसी तरह इस System में एक Server कई प्रकार के Server से Connect होता है और फ़ैल जाता है.

मेश [Mesh] ➠  सभी Computer एक दूसरे से Cable के माध्यम से Connect होते है.

हायब्रिड [Hybrid]  ➠  ऊपरी System से यह System एक या दो घटको से काम करती है.

⍟ वाहन चलाने के नियम, पंजीकरण और ड्रायविंग लाइसेंस

⍟ Rain Gage बनाने के आसान तरीके

⍟ रस्ता सुरक्षा का महत्व

⍟ सौर ऊर्जा का महत्व

 

कंप्यूटर Network में अन्य प्रकार के मुलभुत घटक

किसी भी प्रकार का Network रहे , उसकी पहचान एक ही क्रम से होती है. Network में किसी Information का आदान प्रदान सावधानी से होने के लिए नियमावली की कल्पना अमेरिका के ”अड़व्हान्स रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी [Advance Research Project Agency( ARPA )]”  ने रखी. कंप्यूटर Network में अन्य प्रकार के मुलभुत घटको की आवश्यकता होनी जरुरी है.

  •  सम्पर्कमाध्य्म या डाटा ट्रांसमिशन लाइन [Contact medium or data transmission line],
  •   मोडेम या डिजिटल सिग्नल यूनिट [Modem or digital signal unit],
  •   मोडेम या कंप्यूटर जोड़नी यंत्र [Modems or computer connectors],
  •   संपर्क प्रोग्राम्स [Contact program], आदि.

Computer Network कैसे जोड़ा जाता है

दोस्तों हम “World of computer network” इस लेख के माध्यम से Computer Network कैसे जोड़ा जाता है ये जानने वाले है. Computer Network यह टेलीफोन लाइन , इंटरनेट केबल , वायरलेस कनेक्शन आदि के माध्यम से जोड़ा जाता है. इस कनेक्शन को जोड़ने के लिए अन्य तीन प्रकार के केबल का इस्तेमाल होता है. अनशील्डेड व्दिस्टेड पेपर [Unshielded Waste Paper( UTP )] कोएक्सिअल केबल [Coaxial cable] और फायबर ऑप्टिक केबल [fiber optic cable]. जैसे इन उपकरणों का इस्तेमाल नेटवर्क में होता है उसी तरह और भी उपकरणों का उपयोग होता है. जैसे,

Hub [हब] ⇒  हब एक Physical layer networking डिवाइस है जिसका उपयोग नेटवर्क में कई उपकरणों को जोड़ने के लिए किया जाता है. वे आमतौर पर कंप्यूटर को LAN से कनेक्ट करने के लिए उपयोग किए जाते हैं.ज्यादा से ज्यादा Computer को Connect करने का काम हब करता है.

Router [राउटर] ⇒  इस यंत्र के माध्यम से Network के Information को निश्चित किए हुए कंप्यूटर में जल्द से जल्द पहुंचाने का काम होता है.एक राउटर एक नेटवर्किंग डिवाइस है जो कंप्यूटर नेटवर्क के बीच डेटा पैकेट को फॉरवर्ड करता है. राउटर इंटरनेट पर ट्रैफ़िक दिशा का प्रदर्शन करते हैं. इंटरनेट के माध्यम से भेजा जाने वाला डेटा, जैसे कि वेब पेज या ईमेल, डेटा पैकेट के रूप में होता है.

Bridge [ब्रिज] ⇒  यह एक प्रकार का माहिती विभागणी यंत्र है जो आवश्यक और अनावश्यक ऐसे दोनों काम करता है और कई संचार नेटवर्क या नेटवर्क सेगमेंट से एक एकल नेटवर्क बनाता है. इस फ़ंक्शन को नेटवर्क ब्रिजिंग कहा जाता है. OSI मॉडल में डेटा लिंक लेयर में ब्रिजिंग की जाती है.

Repeater [रिपीटर] ⇒  किसी भी दो कंप्यूटर के बिच 200 मीटर से अधिक डिस्टेंस होगा वहा रिपीटर का उपयोग होता है.  telecommunications में, एक Repeater एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो एक संकेत प्राप्त करता है और इसे पीछे ले जाता है. प्रसारण का विस्तार करने के लिए Repeater का उपयोग किया जाता है ताकि सिग्नल लंबी दूरी को कवर कर सके या एक बाधा के दूसरी तरफ प्राप्त किया जा सके.

⍟ ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास

⍟ वाहनों को इंसानी दिमाग से कैसे चलाए

⍟ अपने आप इंजिन ऑइल कैसे बदले

⍟ इलेक्ट्रिक पंप की मूल जानकारी

नेटवर्क के Controlling के लिए अलग अलग नियमावली या प्रोटोकॉल कार्य करने के लिए मदत करती है. Transmission Control Protocol ( TCP ), Fine Transfer Protocol ( FTP ), Hyper Tech Test Protocol ( HTTP ), इस प्रकार नियमावली होती है.

 

Network क्या है [What Is Network]?

Network की परिभाषा तो जानते ही है, जो एक या एक से अधिक Computer आपस में Connect होते है. Network Wireless भी हो शकता है, जिसके माध्यम से Information Share की जा शकती है, इस हम अपनी परिभाषा में Network का नाम दे शकते है, Network Wireless के जरिए से भी इस्तेमाल होता है, जैसे Radio Wave, Bluetooth, Satellite, आदि.

Read more – online konsi bhi jankari internet se kaise jane

 

Network के प्रकार – Type Of Network

वैसे तो कंप्यूटर नेटवर्क कई प्रकर के होते है. लेकिन आम तौर पर 3 प्रकार के नेटवर्क सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते है. सामान्यतः नेटवर्क के आकार और उपयोग करने के उद्देश्य के आधार पर नेटवर्क के निम्नलिखित प्रकार होते है.

  1. PAN (Personal Area Network)
  2. LAN (Local Area Network)
  3. WLAN (Wireless Local Area Network)
  4. MAN (Metropolitan Area Network)
  5. WAN (Wide Area Network)

कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया - World of computer network

⍟ Investment के बिना ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए

चमत्कारी सौंफ़ के फायदे जो बदले जीवन 

दिल को छूने वाली कहाणी अरुणिमा की

 

Personal Area Network (PAN)

Personal Area Network [PAN] एक कंप्यूटर नेटवर्क है जो किसी व्यक्ति के पास कंप्यूटर उपकरणों के बीच संचार को सक्षम करता है. PAN वायर्ड किए जा सकते हैं, जैसे कि USB या Firewire, या वे वायरलेस हो सकते हैं, जैसे कि Infrared, ZigBee,Bluetooth और ultra wideband [UW].

Local Area Network ( LAN )

इस प्रकार का नेटवर्क College , School , Office , Document Printing आदि जगह पर उपयोग होता है. इसे बनाने के लिए कुछ Hard-work नहीं है बस Hub , Switch , Router और Cable आदि की जरुरत होती है. इस नेटवर्क को केबल के जरिए से Use कर शकते है लेकिन अभी के ज़माने में यह नेटवर्क Wireless भी हो चूका है. इस नेटवर्क में कम खर्चे अच्छी Speed और Security मिलती है.

Wireless Local Area Network (WLAN)

WLAN, या wireless LAN, एक नेटवर्क है जो उपकरणों को वायरलेस तरीके से कनेक्ट और Communications करने की अनुमति देता है. एक Traditional wired LAN के विपरीत, जिसमें डिवाइस Ethernet केबलों पर संचार करते हैं, एक WLAN पर डिवाइस Wi-Fi के माध्यम से संवाद करते हैं.

Metropolitan Area Network ( MAN )

Metropolitan Area Network यह एक प्रकार का नेटवर्क है जो शहर में छोटे या बड़े College, School, या Office के नेटवर्क को जोड़के रखता है.इस Network को College Campus में अगर इस्तेमाल करते है तो उसे Campus Area Network कह सकते है.यह एक बड़ा नेटवर्क है जो Business Organization Office में उपयोग कर सकते है.

Wide Area Network ( WAN )

Wide Area Network वैसे तो सबसे बड़ा नेटवर्क है जो पुरे Globe के Computer को Connect करके रखता है. LAN और MAN से बड़ा नेटवर्क WAN है इसका अच्छा उदाहरण Internet है जो दूर दूर तक फैला है. WAN सबसे Costly Network है जो SONET , ATM में Use होता है. WAN के जरिए Network की सुविधा देने वाले Company को Network server provider  नाम से जानते है.

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को यह लेख जरूर पसंद आया होगा, मैंने अपनी तरफ से कंप्यूटर नेटवर्क की दुनिया – [World of computer network] के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, फिर भी यदि इस बारे में जानकारी छूट गयी या मिस हो गई तो हमें कमेंट करके जरूर बताये,

conclusion

दोस्तों अगर इस पोस्ट में कोई गलती है या तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके सूचित कर सकते हैं और दोस्तों इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे – सोशल मीडिया जैसे Facebook, Instagram, WhatsApp, Twitter पर शेयर करें और अन्य सोशल मीडिया पर भी शेयर करें…

धन्यवाद….

यह भी जरुर पढ़े

➬  RCC कॉलम तैयार करे

➬  इंजिन का कार्य 

➬  PUC कैसे बनाए 

➬  ट्रांसमिसन का कार्य

➬  मायक्रोमीटर का कार्य 

➬  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

➬  गुणकारी दही के लाभ 

➬  तुलसी है एक वरदान 

➬  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

➬  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

➬  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

➬  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

➬  पनीर सलाद कैसे बनाए 

➬  रक्त और हिमोग्लोबिन 

➬  विटामिन के लाभ 

➬  संतुलित आहार के फायदे 

➬  5 ” S ” का महत्व 

➬  नए आविष्कार वाले हेलमेट

➬  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

➬  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

➬  रस्ता संकेत 

➬  वाहनों का आविष्कार 

➬  पहिए का आविष्कार 

➬  पढाई कैसे करे 

➬  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

➬  मल्टीमीटर का उपयोग

➬  पिस्टन रिंग का उपयोग 

➬  सफल होने का रहस्य 

➬  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

➬  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

➬  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

➬  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

➬  जी आय पाइप फिटिंग

➬  दमदार टेक्नोलॉजी

Post Comments

error: Content is protected !!