arrange furniture at home – [Design kare] घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें

जानिए अब How to arrange furniture at home, बेडरूम फर्नीचर का लेआउट – Layout of bedroom furniture, Living room furniture layout -लिविंग रूम फर्नीचर का लेआउट, घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें. furniture kaise Design kare [कैसे तैयार करे], घर को furniture से कैसे सजाये, घर में furniture को कैसे रखे, furniture design का सही तरीका, लीविंग रम का फर्निचर कैसे design करे, Info in Hindi.

घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें - How to arrange furniture at home

फर्नीचर को घरेलू सजावट का एक महत्वपूर्ण तत्व माना जाता है। फैशन के इस बदलते युग में फर्नीचर के प्रकार, परिरूप ( the design ) आदि में बदल हो रहे हैं। फैशन Design में Progress के कारण फर्नीचर में कई अभिनव ( Innovative ) आविष्कार दिखाई देते हैं।

प्लास्टिक, लकड़ी, मेटल इत्यादि प्रकार के सभी सहित्यो का उपयोग फर्नीचर बनाने के लिए किया जाता है। फर्नीचर के Design में बदलाव हो रहे है, एक जगह से दूसरी जगह तक चलता-फिरता Furniture, भींतिबद्ध Furniture, स्लाइडिंग Furniture जैसे Design में विकशित हो रहे है। आकर्षित दिखाई देने के लिए दीवारों पर आर्ट वर्क करते है उसी तरह घर को वास्तु के अनुसार और आकर्षित दिखाने के लिए फर्नीचर मुख्य घटक है। दिन भर के थकान को रिलैक्स करने के लिए फर्नीचर का बहुत उपयोगी कार्य है। दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में फर्नीचर को किस तरह घर के Design में बदलाव लाकर सहेजे इसके बारे में बताने जा रहे है।

 

यह भी जरूर पढ़े :

1. प्राकृतिक रूप से अस्थमा को कैसे दूर करे

2. बबूल के गुणधर्म और लाभ

3. प्रदूषण के परिणाम

4. प्रदूषण क्या है

 

आराम के लिए फर्नीचर की व्यवस्था – Arrangement of Furniture for comfort :

कुर्सी – Chair :

कुर्सी का उपयोग विश्रांति के लिए या आराम प्राप्त करने के लिए किया जाता है। कुर्सी का आकारमान आकर्षित और रंगीन होना जरुरी है।

1. व्यक्ति के ऊंचाई के अनुसार कुर्सी की बैठक हो,

2. कुर्सी की पिछली बाजू हल्की सी झुकी हो, जिससे व्यक्ति को आराम मिले।

3. कुर्सी की खोलाई व रुंदी ऐसी होनी चाहिए जो व्यक्ति को आराम और बैठने की सुविधा दे।

4. यदि आप आराम के लिए कुर्सी का उपयोग करना चाहते हैं, तो इसका आकार 2. 6 फीट से 2 6 फीट होना चाहिए।

 

Read more – dimag ka parichay

arrange furniture at home aur design kaise kare

सोफा – Sofa :

 

सोफा भी अलग अलग कामो के लिए उपयोग में आता है, जैसे बैठना, आराम करना, आदि। सोफा अन्य प्रकार के आकार और Design में होता है। सोफा – कम -बेड में बैठने के अलावा आराम भी कर सकते है। आराम मिलने के लिए सोफा का Measurement इस तरह होना चाहिए।

 

1.  Sofa  3 फूट to 6 फूट
2. Two Seater Sofa  1.8 to 3.9 फूट
3.  Three Seater Sofa  1.8 to 5.7 फूट
4.  Sofa  कुर्सी  1.8 to 1.10 फूट

 

पलंग – Bed :

 

शारीरिक थकान दूर करने के हिसाब से आराम के लिए पलंग का उपयोग करते है। लकड़ी, मेटल, प्लास्टिक जैसे मटेरियल से पलंग की बनावट होती है। आराम प्राप्त के लिए पलंग का आकार इस तरह होना चाहिए।

✦ Single Bed – 3 to 6 फूट

✦ Double Bed – 6 to 6 फूट

 

बेडरूम फर्नीचर का लेआउट – Layout of bedroom furniture :

घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें - How to arrange furniture at home मकान में अलग अलग रूम का महत्व है की सभी व्यक्ति को आराम मिले। क्योकि रूम की Design और Look पर व्यक्ति का राहनिमान निश्चित है। सबेरे जगने के बाद रूम के look से प्रसन्न होना चाहिए इसी के माध्यम से मन को सकारात्मक विचार करने की शक्ति प्रदान होगी और तभी पूरा दिन आनंदित गुजरेगा। इसीलिए रूम का Effect व्यक्तिपर होने के लिए आकर्षित Design जरुरी है। इसीलिए बेड रूम के फर्नीचर को सही लेआउट से लगाना जरुरी है। उदा. भींतिबद्ध अलमारी, ड्रेसिंग टेबल, स्टडी टेबल, आदि वस्तुए उनके निश्चित जगह रखना जरुरी है।

arrange furniture at home aur design kaise kare

लिविंग रूम फर्नीचर का लेआउट – Living room furniture layout :

घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें - How to arrange furniture at home बैठक रूम का Look थोड़ा अलग होता है। इस रूम में बाहर से आये मेहमान का स्वागत करते है। केवल मेहमान का स्वागत करने के लिए या घर के सदस्यों के साथ बैठणे के लिए बैठक रूम का उपयोग होता है। उदा. सभी परिवारों के साथ टीवी देखना, चैट करना, बैठे खेल खेलना इत्यादि। आजकल जमीन के कमी के कारण बैठक रूम और लिव्हिंग रूम एक में ही बनाते है। इसीलिए बैठक रूम की Design आकर्षित होती है और फर्नीचर का लेआउट अलग होता है।

यह भी जरूर पढ़े :

1. बरगद के पेड़ के गुणधर्म और लाभ

2. जल और मिट्टी को कैसे बचाएं

3. पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ

4. उल्टी पर करें घरेलु उपचार

बैठक रूम की बनावट जगह के कमी के कारण छोटी होती है। लेकिन इसकी Design आकर्षित होने के कारण फर्नीचर रखने के लिए आसानी होती है। बैठक रूम में सोफा, पलंग, टी टेबल, साइड टेबल, फोनटेबल जैसे अनेक फर्नीचर का इस्तेमाल होता है इसलिए बैठक रूम आकर्षित और प्रभावी दिखाई देती है।

arrange furniture at home aur design kaise kare

रसोई घर का लेआउट – Home Layout of Kitchen :

घर पर फर्नीचर की व्यवस्था कैसे करें - How to arrange furniture at home रसोई घर का लेआउट अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योकि रसोई घर को घर की आत्मा मानी जाती है। रसोई घर गरिब का हो या अमीर का सभी जगह रसोई को महत्व दिया गया है। ऐसे कहा जाता है की घर की गृहिणी का आधे से ज्यादा समय इस रसोई घर में जाता है। इसलिए रसोई घर की रचना व आकार आकर्षित होना जरुरी है।

अनुमानित रसोई घर का क्षेत्र 4.5 चौ. मी. होना चाहिए। भोजन रूम और रसोई घर एक साथ हो तो उसका क्षेत्र 9.5 चौ. मी. व रुंदी 2.4 मीटर होना चाहिए। जरूरत हो तो रसोई का लेआउट बड़ा भी रख सकते है। रसोई घर की Design अलग अलग प्रकार की हो सकती है। ”U” Type रसोई घर, ”L” Type रसोई घर, दविभिंतीय रसोई घर, एक भिंतीय रसोई घर, आदि।

 

आधुनिक फर्नीचर – Modern furniture :

Modern फर्नीचर याने नई तकनिक और नई Design, जो मार्केट में अलग अलग प्रकार में पाए जाते है। इस प्रकार के फर्नीचर की बनावट लकड़ी के अलावा प्लास्टिक, फायबर, जैसे मटेरिल की होती है। यह दिखने में आकर्षित और सुंदर होते है। जिसका उपयोग स्कुल, कॉलेज , ऑफिस और घर में अधिकतर करते है। आधुनिक प्रकार के फर्नीचर में अलग अलग खुबिया होती है, स्लाइडिंग, कलरफूल, आकर्षित Design आदि।

arrange furniture at home aur design kaise kare

आधुनिक फर्नीचर का मुख्य महत्व याने व्यक्ति की पसंद और प्रलोभन क्योकि इस प्रकार के फर्नीचर की Design आकर्षित होती है।

यह भी जरुर पढ़े

1.  RCC कॉलम तैयार करे

2.  इंजिन का कार्य 

3.  PUC कैसे बनाए 

4.  ट्रांसमिसन का कार्य

5.  मायक्रोमीटर का कार्य 

6.  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

7.  गुणकारी दही के लाभ 

8.  तुलसी है एक वरदान 

9.  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग

Post Comments

error: Content is protected !!