about indian economy – (GDP क्या है) भारतीय अर्थव्यवस्था और अर्थशास्त्र

अर्थव्यवस्था क्या है – What is the economy ? GDP क्या है – What is GDP ? भारत के प्रमुख शेयर बाजार – Major stock markets of India, भारत के प्रमुख शेयर सूचकांक – India’s main stock index. about indian economy in Hindi.

भारत में विश्व के अर्थव्यवस्था की दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। यह क्षेत्रफल के मामले में दुनिया का सातवां हिस्सा है, यह जनसंख्या के हिसाब से दूसरा और क्षेत्रफल का केवल 2.4 % अर्थशास्त्र का भाग है।

भारतीय अर्थव्यवस्था और अर्थशास्त्र के बारे में जानकारी - Information about Indian Economy and Economics

अर्थव्यवस्था क्या होती है ? यह आपके मन में सवाल पैदा होता होगा। आप रोज सुनते होंगे GDP, SENSEX, NIFTY के बारे में, पर आपको इसका मतलब समझ नहीं आता होगा तो आइये जानते है हम GDP के बारे में और अर्थव्यवस्था के बारे में।

अर्थव्यवस्था मानव की आर्थिक गतिविधियों का अध्ययन करता है। मानव द्वारा सम्पन वैसी सारी गतिविधिया जिसमे आर्थिक लाभ व हानि का तत्व विद्यमान हो। वास्तव में जब हम किसी देश को उसकी समस्त आर्थिक क्रियाओ के संदर्भ में परिभाषित करते है तो उसे अर्थव्यवस्था कहते है।

 

भारतीय अर्थव्यवस्था और अर्थशास्त्र के बारे में जानकारी – Information about Indian Economy and Economics

 

GDP क्या है – What is GDP ?

Gross Domestic product ( GDP ) किसी भी देश का आर्थिक सेहत को मापने का पैमाना या जरिया है। आपको बता दे की भारत में GDP की गणना प्रत्येक तिमाही में की जाती है। GDP का आकड़ा अर्थव्यवस्था के प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में उत्पान की वृद्धि पर आधारित होता है। GDP के तहत कृषि, उद्योग व सेवा तीन प्रमुख घटक आते है। इस दोने में उत्पादन बढ़ाने या घटाने के आधार पर GDP तय होती है।

यह भी जरूर पढ़े :

1. योग और घरेलू उपचार के साथ पाचन शक्ति बढ़ाएं

2. प्रकृति में है, सभी बीमारियों का उपचार

3. एक्यूप्रेशर का सिद्धांत क्या है

4. दिमाग का परिचय

 

1991 से, भारत ने उदारीकरण और आर्थिक सुधार की नीति को लागू करने के बाद बहुत तेजी से आर्थिक प्रगति की है और भारत विश्व के आर्थिक पावरहाउस के रूप में उभरा है। सुधारों से पहले, भारतीय उद्योगों और व्यापार पर सरकार का नियंत्रण प्रभावी था और सुधारों को लागू करने से पहले इसका जोरदार विरोध किया गया था, लेकिन आर्थिक सुधारों के अच्छे नतीजों के कारण विपक्ष को बहुत नुकसान हुआ है। हालांकि, मूल संरचना में तेजी से प्रगति की कमी के कारण, एक बड़ा वर्ग अभी भी नाखुश है और इन सुधारों का एक बड़ा हिस्सा अभी तक लाभान्वित नहीं हुआ है।

 

पंचवार्षिक योजना के लक्ष्य एवं उपलब्धिया (GDP)

 पंचवार्षिक योजनाअवधिGDP की आर्थिक वृद्धि -दर लक्ष्य % मेंउपलब्धि % में
 पहली1951 – 562. 1 3. 60
 दूसरी1956 – 614. 5 4. 21
 तिसरी1961 – 665. 6 2. 72
 चौथी1969 – 745. 7 2. 05
 पांचवी1974 – 784. 4 4. 85
 छठी1980 – 855. 2 5. 54
 सातवीं1955 – 905. 0 6. 02
 आठवीं1992 – 975. 6 6. 68
 नौवीं1997 – 20026. 5 5. 35
 दसवीं2002 – 20078. 0 7. 80
 ग्यारवी2007 – 20129. 0 7. 90
 बारवी2012 – 20179. 0    –

पहली तीन योजनाए का लक्ष्य राष्ट्रिय आय के सन्दर्भ में निर्धारित किया गया है। चौथी योजना का लक्ष्य कुल घर के उत्पादन में है। बाकि सभी योजनाए में यह सकल घरेलु उत्पादन के संदर्भ में है।

भारतीय अर्थव्यवस्था और अर्थशास्त्र के बारे में जानकारी - Information about Indian Economy and Economics

भारत के प्रमुख शेयर बाजार – Major stock markets of India

✦ राष्ट्रिय शेयर बाजार ( National Stock Exchange )

राष्ट्रीय शेयर बाजार की स्थापना सन 1991 में मेखानी समिति ने की थी। 1992 में सरकार ने भारतीय औद्यगिक विकास बैंक ( IDBI ) को इस बाजार की स्थापना का कार्य सौपा था। इस राष्ट्रिय शेयर बाजार की प्रांरभिक अधिकृत पूंजी 25 करोड़ रूपये के आसपास है।

Read More – Future meteorology ki jankari

 

✦ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE )

इसकी स्थापना सन 1875 ई. में स्टॉक एक्सचेंज मुंबई के नाम से किया गया था। जिसे 2002 में बदलकर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) कर दिया। इसमें वर्तमान में 4800 से भी अधिक भारतीय कम्पनिया पंजीकृत है।

 

✦ ओवर दी काउंटर एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया ( DTCEI )

इसकी स्थापना नवम्बर 1992 में मुंबई में की गई। यह भारत में सर्वप्रथम ऑन लाइन ट्रेडिंग सुविधा सम्पन Computerized Exchange नैस्डेक के आधार पर की गई गई।

 

भारत के प्रमुख शेयर सूचकांक – India’s main stock index :

1. BSE Sensex : यह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी शेयर सूचकांक है। यह 30 प्रमुख शेयरों का प्रतिनिधित्व करता है।

2. BSE २०० : यह मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का 200 शेयरों को प्रतिनिधित्व करता है।

3. Dollex : BSE 200 सूचकांक का ही डॉलर मूल्य सूचकांक डॉलेक्स कहलाता है।

4. NSE – 50 : राष्ट्रिय स्टॉक एक्सचेंज सूचकांक का नाम बदलकर S & PCNX – NIFTY रखा गया है।

 

यह भी जरूर पढ़े :

1. जल और मिट्टी को कैसे बचाएं

2. पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ

3. उल्टी पर करें घरेलु उपचार

4. जंगल को कैसे बचाए

 

दोस्तों हमने आपको अर्थव्यवस्था के बारे में अच्छे से बताना चाहा उम्मीद है की आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। तो निश्चित ही आप यह लेख आपने दोस्तों एवं परिचितों को साझा करें।

धन्यवाद।

 

Author By : सचिन सर ….

यह भी जरुर पढ़े

1.  RCC कॉलम तैयार करे

2.  इंजिन का कार्य 

3.  PUC कैसे बनाए 

4.  ट्रांसमिसन का कार्य

5.  मायक्रोमीटर का कार्य 

6.  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

7.  गुणकारी दही के लाभ 

8.  तुलसी है एक वरदान 

9.  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग

Post Comments

error: Content is protected !!