शरीर के स्वास्थ्य बनाने के नियम – Rules to make body health

शरीर के स्वास्थ्य बनाने के नियम – Rules to make body health,शरीर के स्वास्थ्य कैसे बनाये -How to make body health,शरीर को स्वास्थ्य बनाने के लिए क्या खाये -What to eat to make the body health in Hindi.

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com में आप सभी का स्वागत है। दोस्तों आज के इस लेख में शरीर सम्बंधी स्वस्थ्य नियम तथा गुणकारी औषधीय गुण और शरीर को स्वस्थ्य रखने के उपाय इसके बारे में जानने वाले है। (शरीर के स्वास्थ्य नियम, नैचरल तरीके से करें बीमारिया दूर. शरीर के बामारियो को करे बाय बाय, शरीर को स्वास्थ्य कैसे रखे, health is wealth, शरीर का ध्यान कैसे रखे, शरीर को तंदुरुस्त रखने के उपाय)

शरीर के स्वास्थ्य नियम - Body health rules

 

आजकल हम भागदौड़ की जिंदगी में अपने स्वास्थ्य के तरफ ध्यान देना ही भूल गए हैं। हमारे घर में कई गुणवत्ता वाले वस्तु होते हैं। लेकिन हम इसके लाभों के बारे में नहीं जानते हैं, इसलिए हम इसके महत्वपूर्ण गुणों से अनजान रहते हैं। अगर बताये गए स्वस्थ्य नियम का पालन हम करते है तो शरीर तंदुरुस्त रह सकता है। लेकिन आज के युग में हम अपने शरीर के तरफ ध्यान ही नहीं दे पाते। वर्तमान युग में बढ़ते हुए प्रदुषण के कारण हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक शक्ति दिन प्रति दिन कम होती जा रही है। अगर हम ने अपने स्वास्थ्य के तरफ ध्यान नहीं दिया तो इस युग में जिंदगी जीना ही मुश्किल होगा।

शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules :-

यदि आप इन स्वास्थ्य संबंधी नियमों का पालन करते हैं, तो आप सालो तक बीमार और बूढ़े पण से दूर रहेंगे, ”स्लिम और फिट”।

वैज्ञानिको के रिसर्च से स्थायी अनुभव……

➥ देर रात, 10.00 बजे सोना चाहिए।

➥ सुबह 5. 00 – 5. 30 AM इसके बीच में उठना।

➥ ब्रश करने से पहले एक गिलास गर्म पानी पीना चाहिए और धीरे-धीरे नींबू के रस को पीना चाहिए।

➥ खाना खाने के बाद 10 से 15 मिनट तक बैठे रहें।

➥ अधिकतम 12 या 24 तक सबेरे सूर्यनमस्कार का अभ्यास करें।

➥ प्राणायाम के लिए न्यूनतम 30 मिनट का समय निकाले और 10 मिनट संभवतः ओमकार का जप करें।

➥ हर दिन न भूले आवला और उसके रस का सेवन करें।

➥ यदि 8.30-9.00 इस समय के बिच ढेर सारा नाश्ता करने के बजाय खाना खाये यह शरीर के लिए बेहतर है।

➥ दोपहर 2.बजे थोड़ा हल्का भोजन लें।

➥ ऑफिस में हर 1 घंटे में कुर्सी पर ही अपने शरीर को स्ट्रेचिंग करें ।

➥ शाम 7 – 7.30 पर बहुत कम भोजन करें।

➥ वज्रासन में 15 मिनट तक बैठना अनिवार्य है।

➥ रात 10 बजे एक गिलास गर्म पानी पिए और रात में 10 को सो जाये यह शरीर के लिए लाभकारी है। शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules

 

 इस बात का ख्याल रखें – Take care of this :-

✦ रात के खाने के बाद चलने से बचें, या बस थोड़ा सा चलें, ( एक सौ कदम ) कई लोग रात को खाने के बाद 5-6 किलोमीटर चलकर पसीना-पसीना हो जाते हैं। लेकिन यह सब शरीर के लिए हानिकारक है। यह चलने का प्रोग्राम सबेरे करें।

✦ भोजन से एक घंटा पहले और आधे घंटे के बाद पानी पीना चाहिए। अगर आप पाचन शक्ति को ठीक रखना चाहते हैं, तो खाना खाते समय पानी बिल्कुल न पिएं।

✦ हर दिन कम से कम 3 लीटर पानी पिएं।

 

✦ मौसमी फल ही खाएं।

✦ बाईं ओर करवट लेकर सोएं।

✦ सुबह 5 मिनट धूप में रहें।

याद रखना चाहिए, अगर आपका पेट ठीक चल रहा है, तो कोई बीमारी नहीं है, तथा उपरोक्त सभी समाधान पेट पर सबसे अच्छे काम के लिए हैं।

 इस बात का ख्याल रखें

☘ ९ ०% बीमारियाँ पेट से आती हैं, पेट की अम्लता, कब्ज, पेट साफ़ नहीं होना आदि, यह सब नहीं होना चाहिए। स्पष्ट है कि अगर पेट स्वास्थ्य है तो यह स्वास्थ्य शरीर का राजा है।

☘ शरीर में १३ अस्पष्टीकृत गति होती है, इसके बारे में सोचो।

☘ ध्यान रखें कि १६० प्रकार के रोग केवल मांस उत्पादों से होते हैं।

☘ 80 प्रकार की बीमारियाँ केवल चाय पीने से होती हैं। यह आपको अंग्रेजों द्वारा दी गई जहरीली खुराक है।

☘ 48 प्रकार की बीमारिया केवल अल्ट्रासोनिक बर्तनों के उपयोग के कारण होते हैं, ऐसे में, हम इस बर्तन का उपयोग सबसे अधिक करते हैं। इस बर्तनों का उपयोग अंग्रेज अपने कैदियों को परेशान करने के लिए करते हैं।

☘ शराब, कोल्ड्रिंक, चाय के अधिक सेवन से भी दिल की बीमारी हो सकती है।

☘ शरीर के बड़े मासपेशिया गुटखा, पूरी, सूअर का मांस, पिज्जा, बर्गर, सोयाबीन बीड, सिगरेट, पेप्सी और कोक के माध्यम से ख़राब होने लगते हैं।

☘ भोजन के तुरंत बाद स्नान नहीं करना चाहिए, इससे पाचनशक्ति कमजोर होती है और शरीर कमजोर होता है।

☘ बालों को कलर न करें, हेयर कलर से आंखों को परेशानी होती है, या आखों को कम दिखाई देता है।

☘ गर्म पानी से नहाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। गर्म पानी कभी भी आखों के ऊपर से नहीं लेना चाहिए इससे आखें कमजोर होती है।

☘ नहाते समय कभी भी अपने सिर पर पानी न डालें क्योंकि लकवा, दिल का दौरा पड़ सकता है। सबसे पहले घुटनों, घुटनों, पेट, छाती, कंधों को धो लें, फिर सिर पर पानी लें, ताकि सिर का परिसंचरण सिर में हो और कोई परेशानी न हो, कोई चक्कर नहीं है। शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules

 इस बात का ख्याल रखें

☘ खड़े होकर कभी भी पानी का सेवन ना करे।

☘ कभी भी खाना खाते समय ऊपर से नमक ना लें, यह दिल के दौरे को बढ़ाता है, रक्तचाप बढ़ाता है।

☘ कभी भी जोर से छींकें नहीं, अन्यथा कान में तकलीफ हो सकती है।

☘ हर दिन सबेरे तुलसी के पत्तो का सेवन करने से जुकाम, बुखार और मलेरिया नहीं होगा।

☘ यदि लगातार खांसी होती है, हर समय मुलहठी का सेवन करते रहने से खांसी निकल जाएगी और आवाज बेहतर हो जाती है।

☘ हमेशा ताजा पानी पिएं, कुए का पिणि हर समय अच्छा होता है, बोतलबंद पानी पिने से शरीर में परेशानी का कारण बन सकता हैं।

☘ दूषित जल से होने वाले रोग, कुष्ठ रोग, यकृत, टाइफाइड, शस्त्र और पेट के रोगों को नींबू के रस से बचाया जा सकता है।

☘ गेहूं की चीखें और गेहूं के कोमल कोम्ब का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

☘ किसी प्रकार का खाना पकाया जाता है, तो इसे 48 मिनट के भीतर खाएं, अन्यथा इसमें पोषक तत्व गायब हो जाते हैं।

 इस बात का ख्याल रखें

☘ मिटटी के बर्तन में 100% पोषक तत्व, पीतल के बर्तन में 90% पोषक तत्व, और सिर्फ एल्यूमीनियम के बर्तन में 7 से 13% पोषक तत्व होते है

☘ गेहूँ के आटे का प्रयोग १५ दिनों तक ही करना चाहिए।

☘ १४ वर्ष से कम उम्र के बच्चों को खाद्य पदार्थ बिस्कुट, समोसा और अन्य खाद्य पदार्थ नहीं खाने चाहिए।

☘ सबसे अच्छा सैंधा नमक है, फिर काला नमक और उसके बाद सफ़ेद नमक जो शरीर के लिए हानिकारक है।

☘ भुने हुए स्थान पर आलू का रस, हल्दी, शहद, एलोवेरा इत्यादि लगाने से ठंड महसूस होती है और यह परेशान नहीं करता है।

☘ यदि पैर के अंगूठे को सरसो के तेल से रगड़ दिया जाए, तो आँखें, खुजली और लाली अच्छी होती है।

☘ खाने का चुना 70 प्रकार के रोगों को ठीक करता है।

☘ यदि कुत्ता काटता है, तो तुरंत उस घाव को हल्दी लगाकर ठिक करें। शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules

☘ यदि नींबू, अदरक, हल्दी, नमक को एक साथ मिलाकर अपने दांतों को ब्रश किया जाए तो दांत साफ और सफेद हो जाते हैं और सारी बीमारियाँ ठीक हो जाती हैं। आंखों की बीमारी होने पर ब्रश न करें।

☘ अत्यधिक जागृति के कारण शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। पाचन संबंधी विकार बढ़ जाते हैं और आंखों के रोग हो जाते हैं।

 

हर सुबह – Every morning :-

15 मिनिट योग या 12 सूर्यनमस्कार करें।

30 मिनट प्राणायाम करें।

15 ध्यान करें।

इस तरह से जिंदगी का मजा लें और ज़िन्दगी खुसीसे जिए।

 

संबंधित कीवर्ड :

शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules, शरीर को सुखी पाने के लिए प्राणायम करें, प्रकृति में है सभी बीमारियों की दवा, नैचरल तरीके से करें बीमारिया दूर।

 

दोस्तों, उम्मीद है की आपको शरीर के स्वास्थ्य नियम – Body health rules यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगता है, तो निश्चित रूप से इस लेख को आप अपने दोस्तों एवं परिचितों के साथ साझा करें। और ऐसे ही रोचक आर्टिकल की जानकारी प्राप्ति के लिए हम से जुड़े रहे और अपना Knowledge बढ़ाते रहे।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

Author By : सविता…

यह भी जरुर पढ़े

➬  RCC कॉलम तैयार करे

➬  इंजिन का कार्य 

➬  PUC कैसे बनाए 

➬  ट्रांसमिसन का कार्य

➬  मायक्रोमीटर का कार्य 

➬  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

➬  गुणकारी दही के लाभ 

➬  तुलसी है एक वरदान 

➬  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

➬  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

➬  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

➬  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

➬  पनीर सलाद कैसे बनाए 

➬  रक्त और हिमोग्लोबिन 

➬  विटामिन के लाभ 

➬  संतुलित आहार के फायदे 

➬  5 ” S ” का महत्व 

➬  नए आविष्कार वाले हेलमेट

➬  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

➬  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

➬  रस्ता संकेत 

➬  वाहनों का आविष्कार 

➬  पहिए का आविष्कार 

➬  पढाई कैसे करे 

➬  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

➬  मल्टीमीटर का उपयोग

➬  पिस्टन रिंग का उपयोग 

➬  सफल होने का रहस्य 

➬  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

➬  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

➬  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

➬  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

➬  जी आय पाइप फिटिंग

➬  दमदार टेक्नोलॉजी

Post Comments

error: Content is protected !!