खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें – How to Become a Rabbit and Turtle Friend

खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें – How to Become a Rabbit and Turtle Friend,अच्छा दोस्त कैसा हो -Good friend how are you,

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है। दोस्तों, आप बचपन से खरगोश और कछुओं के बारे में सुनते आए हैं। उस कहानी में, कड़ी मेहनत और दृढ़ता से कछुआ जित जाता है। लेकिन आपने उसके आगे की कहानी नहीं पढ़ी है, इसीलिए हम इस लेख के माध्यम से आपके लिए उस कहानी को पूरा कर रहे हैं।

खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें - How to Become a Rabbit and Turtle Friend

 

खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें – How to Become a Rabbit and Turtle Friend :-

आपने सुना ही होगा की खरगोश और कछुआ की दौड़ में खरगोश को अपने आलस की वजह से कछुए से सर्यत को हारना पड़ा, लेकिन फिर खरगोश चुप नहीं रहा। उसने महसूस किया कि तेज दौड़ने की क्षमता के बावजूद भी वह अपनी नींद के वजह से जित हाशिल करती हुई दौड़ को उसने खो दिया, अर्थात परजीत कर ली। इस हार को खत्म करने के लिए, खरगोश ने फिर से दौड़ का प्रस्ताव कछुए के पास रखा। जीत की खुशी में भ्रमित, कछुए को लगा की वह जीत सकता हैं। दौड़ फिर शुरू हुई, इस बार खरगोश गलत नहीं हुआ, यह रुका नहीं, सोया नहीं, आलस किया नहीं। और अपने लक्ष को पाने के जूनून में, तेज दौड़ ते गया और आखिर जित हासिल कर लि। लेकिन बिचारा कछुआ धीमा चलने के वजह से पराजित हो गया।

लेकिन एक बार जीत का स्वाद चखने वाला कछुआ पराजित के लिए तैयार नहीं था। कछुआ फिर से खरगोश के पास गया। उसने कहा, ‘मैंने आपकी बात सुनकर दौड़ लगाया, अब मेरी बात सुनो। “मुझे फिर से दौड़ लगानी है” यह सुनकर खरगोश मुस्कुराया और कहा, “मेरे एक गलती के वजह से मुझे पराजित होना पड़ा?” अब वह गलती मई कैसे करूँगा? दौड़ तो मै ही जीतूँगा। और कहा दौड़ के लिए मै तैयार हु। इसपर कछुए ने कहा, ‘लेकिन इस बार मैं दौड़ के लिए रास्ता मै तय करूँगा। खरगोश ने अपनी गति और कछुए की गति को देखते हुए यह दौड़ का प्रस्ताव भी स्वीकार किया।

 

हार न मानने वाला कछुआ :-

अब दौड़ का रास्ता तय हुआ। दौड़ फिर से शुरू की गई, खरगोश गलती करने वाला नहीं था। वह तेजी से आगे बढ़ता रहा। बिचारा कछुआ पीछे रह गया लेकिन भागता हुआ खरगोस अचानक रुक गया। खरगोस के सामने लम्बी सी नदी थी, वह सोचने लगा अब क्या किया जाए। खरगोस तैर नहीं सकता था। खरगोश वहीं रुक गया। धीरे-धीरे चलने वाला कछुआ वहां पहुंच गया। उसने खरगोश के तरफ देखकर मुस्कुराया और नदी में कूद गया। इस तरह कछुआ फिर से अपनी अकलमंदी से सीमा के किनारे पहुँच गया।

पराजित होने वाला खरगोश सोच में पड़ गया की मुझे तहरना नही आता इसलिए मै पराजित हुआ। मै तैर नहीं सकता, यह एहसास खरगोस को हुआ। यह सोचकर वह कछुए के पास वापस चला गया। खरगोस ने कहा, ‘दोस्त, हम आज से कोई दौड़ नहीं लगायेंगे। बल्कि आज से हम एक होंगे। मैं तुम्हें उस स्थान पर ले जाऊंगा जहां जमीन है। और तुम मुझे उस स्थान पर ले जाना जहाँ नदी स्थित है। अगर हम एक साथ आगे बढ़ते रहेंगे, तो हम दोनों सबसे आगे होंगे।

 

अपने अच्छे गुणों को पहचानो :-

सभी के पास, सभी चीजें या गुण नहीं होते हैं। लेकिन सभी में कुछ न कुछ मौल्यवान बिंदु या गुण होते हैं। दूसरों में जो गुण नही है वह अपने आप में हो सकते है। आपके पास ऐसा गुण हो सकता है जो दूसरों के पास नहीं है। एक दूसरे के ऐसे गुणों का उपयोग करके हम कमियों को दूर कर सकते हैं। और सबसे अच्छी उपलब्धि हासिल की जा सकती है।

एक दूसरो के पराजित में ताकत खर्च करने के बजाय, उसी ताकत का उपयोग करके मजबूत बन सकते है। व्यक्तिगत परिमाण की व्यक्तिगत गलतियों तथा दूसरों की गलतियों को अनदेखा करना, और उसके अच्छे गुणों का शोषण करना, यही सच्ची सफलता है!

यदि आप उन लोगों की मदद करने में सक्षम हैं जो आपके लिए उपयोगी हैं, और आपकी मदद करने वाले किसी व्यक्ति को देखकर मदद कर सकते हैं, तो सह कार्य से बड़े कार्यों को पूरा करने के लिए किया जाता है। कुछ लोगों के पास कल्पना है, लेकिन विचार क्रिया नहीं है। किसीमे जिसमें सच्चाई है, लेकिन नियोजन की कोई उचित क्षमता नहीं है। कुछ में संगठनात्मक क्षमताएं हैं; लेकिन कोई निर्णय लेने की ताकद नहीं है। किसी के पास निर्णय लेने गुण है तो नेतृत्व नहीं है। जिसके पास अपने गुणों का सही इस्तेमाल करने का अधिकार है, व्ही महानताका प्रतिक है।

अगर आप सफलता हासिल करना चाहते हैं तो इन गुणों और गरिमा को बचाना बहुत जरूरी है। संकट के समय घोंघे की तरह छुपकर नहीं रहना चाहिए। अधिक से अधिक लोगों के साथ जुड़ने का प्रयास करे। उनकी अच्छाई को हासिल करें, पुरानी एकजुटता की खोज करें। नई दोस्ती करें, उन सभी के साथ संपर्क करें। और एक दुसरो की मदत करके आगे बढ़े।

 

conclusion

दोस्तों, उम्मीद है की आपको खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें – How to Become a Rabbit and Turtle Friend यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

 

संबंधित कीवर्ड :-

खरगोश और कछुआ मित्र कैसे बनें – How to Become a Rabbit and Turtle Friend, अपने अच्छे गुणों को पहचानो, हार न मानने वाला कछुआ।

 

यह भी जरुर पढ़े

➬  RCC कॉलम तैयार करे

➬  इंजिन का कार्य 

➬  PUC कैसे बनाए 

➬  ट्रांसमिसन का कार्य

➬  मायक्रोमीटर का कार्य 

➬  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

➬  गुणकारी दही के लाभ 

➬  तुलसी है एक वरदान 

➬  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

➬  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

➬  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

➬  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

➬  पनीर सलाद कैसे बनाए 

➬  रक्त और हिमोग्लोबिन 

➬  विटामिन के लाभ 

➬  संतुलित आहार के फायदे 

➬  5 ” S ” का महत्व 

➬  नए आविष्कार वाले हेलमेट

➬  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

➬  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

➬  रस्ता संकेत 

➬  वाहनों का आविष्कार 

➬  पहिए का आविष्कार 

➬  पढाई कैसे करे 

➬  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

➬  मल्टीमीटर का उपयोग

➬  पिस्टन रिंग का उपयोग 

➬  सफल होने का रहस्य 

➬  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

➬  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

➬  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

➬  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

➬  जी आय पाइप फिटिंग

➬  दमदार टेक्नोलॉजी

Post Comments

error: Content is protected !!