आलसी नाई के बारेमे जानकारी – Information about Lazy hairdresser

आलसी नाई के बारेमे जानकारी – Information about Lazy hairdresser,आलसी कैसे होते है,आलसी होने पर क्या होता है-What happens when lazy

सभी को नमस्कार, apnasandesh.com पर आपका स्वागत है। दोस्तों आज के इस लेख में हम चतुर और आलसी नाई की एक सुंदर कहानी प्रस्तुत करने जा रहे हैं।

आलसी नाई - Lazy hairdresser

 

आलसी नाई – Lazy hairdresser :-

सेजपुर शहर के एक गांव में गोपी नामक एक नाई रहता था। वह बहुत आलसी, कामचोर था। एक बार जोर से बारिस हुई और उसके घर की छत टपकने लगी, उसकी खटिया भी भीग रही थी फिर भी वह सोया पडा था। उसकी पत्नि काम पर जाती थी, रोज उसके घर झगडे होते थे। पर गोपी को इस बात का कोई फर्क नही पडता था। वह अपनी पत्नि की बात एक कान से सूनता और निकाल देता था। ऐसे ही दिन बितते रहे।

एक दिन पत्नि काम से आई, गोपी सोया पडा था। दोपहर का समय था। पत्नि ने उसकी मुंह पर पानी डाला उसे जगाया और भुखा प्यासा जबरदस्ती काम पे भेज दिया। गोपी अपनी नाई की थैली उठाकर काम पर चल दिया। दोपहर का समय था। वह चलते चलते जंगल में पहंचा धुप के कारण थक गया, आलसी तो था ही, वह एक पेड के निचे जाकर बैठ गया। उसे जल्दि ही निंद आ गई। जिस पेड़ के निचे वह सोया पडा था उस पेड पर वहा एक राक्षस रहता था। जो नरभक्षी था, वह मनुष्यों को खाता था। थोडी देर में राक्षस वहां पहुंचा, राक्षस उसे देखकर बहुत खुश हुआ। आज उसको बिना मेहनत किये खाने को मिल गया। राक्षस खुद को हस रहा था कि वह खाना ढुंढने गया था, खाना तो यही है।

आलसी नाई

राक्षस ने गोपी को जगाया और बोला मैं आज तुझे खाउंगा और जोर-जोर से हसने लगा। पहले तो गोपी राक्षस को देखते ही बहुत डर गया। डर के मारे वह कांपने लगा। गोपी आलसी था पर चतुर भी था। उसने एक तरकिब लगाई। गोपी ने राक्षस से कहा गोपी हसने लगा बोला तू मुंझे खायेगा मैंने तेरे जैसा एक और राक्षस को अपने पास कैद कर रखा है। राक्षस को पहले तो झुठ लगा इतना छोटा मनुष्य मुझे कैसे कैद करेगा। गोपी ने अपने सामान के थैले से आईना निकाला और दिखाया कि देखो मैंने तुम्हारे जैसे राक्षस को अपने थैले में कैद करके रखा है। राक्षस को अपने थैल निकाला कुद मंत्र बडबडाया आइना दिखाते हुये उसकी तसविर उसको दिखा दि, राक्षस डरने लगा और गिडगिडाते बोला मुझे माफ कर दो मुझसे गलती हो गई, मुझे जाने दो।

गोपी बोला मैं तुझे नही छोडुंगा, राक्षस बोला एक पेड के निचे सोने से भरा हुआ एक सोने का मटका गडा है तूम उसे लेलो और मुझे जाने दो। गोपी बोला मै कैसे तूम्हारी बात मान लुं कि वहा सोने का घडा है ? गोपी ने राक्षस को ही काम पे लगा दिया और उसी से वह सोने का घडा निकलवाया। राक्षस ने पेड उखाडकर फेंका और सोने से भरा घडा गोपी को लाकर दिया। राक्षस बोला अभी मुझे छोड दिया, मैं जाता हुं। गोपी ने राक्षस को जाने नही दिया और गोपी बोला अब मुझे घर पहुंचा दो। इतना बडा सोने का मटका मैं कैसे लेकर जाउंगा, किसी ने लुट लिया तो। राक्षस ने उसे अपने कंधे पर बिठाया और गोपी के घर पहंचा दिया।

आलसी नाई

गोपी की पत्नि राक्षस को देखकर बहोत डर गई। गोपी ने सारी बात पत्नि को बताई। वह बहोत खुश हुई। गोपी ने अपने घर के सारे काम राक्षस से करवाये जैसे की जलाने के लिए लकडियां लाना, बाजार से सब्जी लाना, कूएं से पानी लाने को कहा, घर का टुटा दरवाजा ठिक करने को कहा, फिर छत भी ठिक करवाई। छत ठिक कराते समय एक राक्षस आसमान से उडते हुए जा रहा था वह राक्षस को गोपी के घर की छत ठिक कराते देखा उसके पास आया और बोला तु इस मनुष्य के घर की छत क्यों ठिक कर रहा है ? तु यहां से चला जा यह बहोत ही जादू करने वाला मनुष्य है वह राक्षसों को कैद करता है। मुझ भी इसने पकड के रखा है। तु यहां से चला जा वह राक्षस डर के मारे वहां से भाग गया।

छत ठिक होने पर वह राक्षस गोपी के पास आया और बोला मैंने छत ठिक किया। अब तो मुझे जाने दो। गोपी बोला ठिक है पर एक वचन दे कभी मनुष्यों को तंग नही करेगा, और खायेगा नही तभी मैं तुझे छोडुंगा। राक्षस ने वचन दिया और गोपी ने अपने थैले से आइना निकालकर फिर कुछ मंत्र बोला और उसको उल्टा आइना दिखाते बोला देख मैंने तुझे छोड दिया। राक्षस खुषी खुषी वहां से चला गया।

 

दोस्तों, उम्मीद है की आपको आलसी नाई – Lazy hairdresser यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

 

संबंधित कीवर्ड :-

आलसी नाई – Lazy hairdresser, चतुर आलसी नाई की कहानी, बुद्धिमान नाई की कहानी।

Author By :- BK Geeta

यह भी जरुर पढ़े

➬  RCC कॉलम तैयार करे

➬  इंजिन का कार्य 

➬  PUC कैसे बनाए 

➬  ट्रांसमिसन का कार्य

➬  मायक्रोमीटर का कार्य 

➬  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

➬  गुणकारी दही के लाभ 

➬  तुलसी है एक वरदान 

➬  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

➬  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

➬  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

➬  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

➬  पनीर सलाद कैसे बनाए 

➬  रक्त और हिमोग्लोबिन 

➬  विटामिन के लाभ 

➬  संतुलित आहार के फायदे 

➬  5 ” S ” का महत्व 

➬  नए आविष्कार वाले हेलमेट

➬  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

➬  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

➬  रस्ता संकेत 

➬  वाहनों का आविष्कार 

➬  पहिए का आविष्कार 

➬  पढाई कैसे करे 

➬  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

➬  मल्टीमीटर का उपयोग

➬  पिस्टन रिंग का उपयोग 

➬  सफल होने का रहस्य 

➬  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

➬  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

➬  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

➬  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

➬  जी आय पाइप फिटिंग

➬  दमदार टेक्नोलॉजी

Post Comments

error: Content is protected !!