चतुर ठग की कहानी जाने हिंदी में – Story of clever tricks in Hindi

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है। दोस्तों, आज की इस कहानी में तीन ठगो  की चतुराई के बारे में बताया गया है। जो एक भोले ब्राह्मण को बेवकूफ बनाते हैं।

चतुर ठग की कहानी - Story of clever tricks

 

चतुर ठग की कहानी – Story of clever tricks :-

विराट नगर में एक ब्राम्हण रहता थे उनका नाम विष्वकर्मा था। ब्राम्हण ने एक बार एक बकरी खरीदी और उसे घर की और ले जा रहा था। बकरी बहूत नटखट और चतुर थी। वह आगे पिछे इधर उधर भागती रहती थी। ब्राम्हण बहुत सिधा और सरल था। बिचारा विष्वकर्मा बकरी के पिछे पिछे भागता बकरी को पकडने पर वह हाथ में नही आती थी। तंग आकर बकरी को अपने कंधे पर रखा और चल दिया।

सामने से आते हुये ठगो ने उसे ऐसे करते हुये देख लिया। बकरी को देखते ही उनके मुंह में लालच आया। बकरी बहुत ताजी मोटी धष्ट पुष्ट थी। तिनों ठगो ने आपस में सलाह की बकरी को चुराकर बेच देंगे।

तिनो ठगो में से एक ठग स्वांग बनाकर ब्राम्हण से मिलने आया और आष्चर्य से बोला कुत्ते को अपने कंधे पर क्यों उठाये हो। कुत्ते को कंधे पर उठाकर चलना पहली बार देखा है, यह देखकर मुझे बडा आष्चर्य हुआ।

विष्वकर्मा ब्राम्हण बोला यह कुत्ता नही यह बकरी है तुम्हे कुत्ता दिखता है ? दिखता नही अंधे हो क्या ? बकरी को कुत्ता बोलते हो ?

ठग ने ब्राम्हण को ऐसे देखा जैसे ठग सही हो और ब्राम्हण कुत्ते को उठाकर चल दिया हो।

ठग जाने के बाद ब्राम्हण विष्वकर्मा दो चार कदम चलने पर दुसरा ठग उसके सामने आया और बोला, भाई यह गाय का बछडा जब जिंदा होगा तब तुम्हे यह बहुत प्यारा होगा। पर अब ये मर चुका है। इसे कंधे पर उठाना अच्छा नही है, बेवकुफी है।

Read more – sahsi balk ki kahani

 

विष्वकर्मा ने दुसरे ठग को गुर्राके देखा। और अपने कंधे पर रखे बकरी को निचे उतारते हुये बोला, यह एक और महाशय आये जो बकरी को बछडा बता रहे है, और वह भी मरा हुआ। ब्राम्हण बोला जाइये महाशय आपको कोई काम नही है। मुझे बता रहे है, महाशय बोले आपको नाराज करना नही था। मैं तो आपका शुभचिंतक हुं। दुसरा ठग वहा आया और विष्वकर्मा की तरफ देखकर मुंह बनाकर चला गया। जैसे कि ब्राम्हण झुठ बोल रहा है। गुस्से में बडबडाता विष्वकर्मा वहा से निकल गया। उसके समझ में नही आया कि कौन सही है क्या घोटाला है।

किसी को कूत्ता बताता है तो गाय का बछडा। उसने अपनी बकरी को सोचते हुये देखा और लोगो की तरफ ध्यान नही दिया। वहा से चला गया। आज मुझे सभी की आंखो को कम दिखाई देने वाले मिलेगे यही मेरे नसीब मे है। खुद की आंखे खराब है और मुझे बताने चले।

थोडा दुर जाने पर ब्राम्हण को एक व्यक्ती और आता दिखाई दिया। वह ब्राम्हण के पास आकर आष्चर्य से जोर जोर से हसने लगा। वह व्यक्ती तिसरा ठग था और कोई नही। ब्राम्हण बोला क्या हुआ भाई मेरे मुंह पर कुछ लगा हुआ है क्या ? जो आप मुझे देखकर इस तरह हस रहे है। विष्वकर्मा बौखलाते हुये बोला।

तिसरा ठग अपनी हसी रोकते हूये बोला ब्राम्हण महाशय मेरे जिवन की यह एक अद्भुत बात है जो मैने आज तक नही देखी की गधे को कंधे पर उठाकर ले जाय। ऐसा विचित्र दृष्य पहली बार देख रहा हुं।

बडा ही आष्चर्य है कि बकरी सब को अलग-अलग रूप में दिखाई दे रही है। कोई कुत्ता, कोई बछडा, कोई गधा देखता है ये आज क्या हो रहा है मेरे साथ ? ब्राम्हण बोला ये बकरी है गधा नही,

तभी तीसरा ठग खुद ही जोर जोर से हसने लगा। और बोलै मै झुठ क्युं बोलुंगा भला, वह चला गया। उसके जाने पर विष्वकर्मा अवाक्सा खडा बकरी को देखता रह गया। किसी पुतले के समान बकरी को देखता रह गया। यह बकरी सभी को अलग अलग रूप में क्युं दिखती है। इस पशु में ही जरूर कोई गडबड है। विष्वकर्मा ने उसे घुरते हुये देखा सोचने लगा जरूर इस पशु में कोई भुत है। और ऐसे मन में आते ही बकरी को पहाडी से विष्वकर्मा ने निचे फेंक दिया। मन ही मन बडबडाते हुये कि इस बकरी से मुझे छुटकारा मिल गया। और वो वहा से जल्दि जल्दि निकल गया।

 

तिनों ठग अपनी जित पर बहुत खुश हुये। अपनी जित पर जोर जोर से हसने लगे। वह ब्राम्हण को भी हस रहे थे। उन तिनों मे से एक बोला मजां आ गया। आज बडी सफलता मिली। अपनी चालाकी पर हसते हुये बकरी को उठाकर वहां से चले गये।

दोस्तों कहानी में बताये गए अनुसार जीवन एक अनमोल खजाना है। और इसे साध्य बनाने के लिए हर एक व्यक्ति को या जीवित मनुष्य को दिमाग दिया है। दिमाग का सही उपयोग करे और न किसी से बेवकूफ बनो और चतुराई से काम करो। और हाँ किसी के बहकावे में मत आना यह सिख हमे इस कहानी से सीखने मिलती है।

 

 

संबंधित कीवर्ड :-

चतुर ठग की कहानी – Story of clever tricks, चतुराई से ठग ब्राम्हण को बेवकूफ बनाते है।

दोस्तों, उम्मीद है की आपको चतुर ठग की कहानी – Story of clever tricks यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगता है, तो निश्चित रूप से इस लेख को आप अपने दोस्तों एवं परिचितों के साथ साझा करें। और ऐसे ही रोचक आर्टिकल की जानकारी प्राप्ति के लिए हम से जुड़े रहे और अपना Knowledge बढ़ाते रहे।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

Author By : BK गीता…

यह भी जरुर पढ़े

➬  RCC कॉलम तैयार करे

➬  इंजिन का कार्य 

➬  PUC कैसे बनाए 

➬  ट्रांसमिसन का कार्य

➬  मायक्रोमीटर का कार्य 

➬  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

➬  गुणकारी दही के लाभ 

➬  तुलसी है एक वरदान 

➬  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

➬  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

➬  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

➬  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

➬  पनीर सलाद कैसे बनाए 

➬  रक्त और हिमोग्लोबिन 

➬  विटामिन के लाभ 

➬  संतुलित आहार के फायदे 

➬  5 ” S ” का महत्व 

➬  नए आविष्कार वाले हेलमेट

➬  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

➬  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

➬  रस्ता संकेत 

➬  वाहनों का आविष्कार 

➬  पहिए का आविष्कार 

➬  पढाई कैसे करे 

➬  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

➬  मल्टीमीटर का उपयोग

➬  पिस्टन रिंग का उपयोग 

➬  सफल होने का रहस्य 

➬  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

➬  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

➬  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

➬  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

➬  जी आय पाइप फिटिंग

➬  दमदार टेक्नोलॉजी

Post Comments

error: Content is protected !!