What is cement kaise banta hai – जानिए सीमेंट कैसे बनता है?

सीमेंट का सच क्या है – What is the truth of cement, जानिए सीमेंट कैसे बनता है – Know how cement is made, सीमेंट बनाने के आसान टिप्स – Easy Tips for Making Cement, (Cement banaye) सीमेंट क्या है – What is cement, सीमेंट बनाने की प्रक्रिया – Cement making process, असली सीमेंट की पहचान – Identification of real cement. सभी जानकारी हिंदी में

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है। आज के लेख में, हम सीमेंट के आविष्कार और मुख्य अवयवों तथा उसमें प्रस्तुत सीमेंट की विशेषताओं के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

जानिए सीमेंट कैसे बनता है - Know how cement is made

प्राचीन वर्ष में भवन के निर्माण के लिए, पत्थरों और वीटा का उपयोग करके, कसने के लिए किया जाता था, वे पोस्टमॉर्टम जैसे पदार्थ का उपयोग करते थे। इस प्रक्रिया में, रेत और Binder का मिश्रण उपयोग करते थे, इसे सीमेंट के रूप में जाना जाता था।

Read more – ferocement ka mul parichay 

 

सीमेंट क्या है – What is cement:-

इजिप्त में मॉर्टर का उपयोग करके पिरॅमिड बिल्डिंग्स बनाने के लिए जिप्सम का उपयोग किया गया था। फिर कुछ समय पश्चात ग्रीक समुदाय ने कैल्शियम हाइड्राक्साइड का उपयोग किया। लेकिन कैल्शियम हाइड्राक्साइड से इमारत को दरारे पड़ने लगे इसीलिए ग्रीक और रोमन वैज्ञानिको ने एक अलग प्रकार के सीमेंट का अविष्कार किया जिसे पोझोलाना नाम से जानते थे। क्योकि इस सीमेंट में इटली के पोझूओली शहर के ज्वालामुखी से निकलने वाले पदार्थों का मिश्रण था।

सीमेंट वर्तमान युग में मनुष्य के संस्कृति को मजबूत बनाने के लिए उपयोगी एक घटक है। विटा, पत्थर, और टाइल आदि में जोड़ने के लिए उपयोग किया जाता है उसे सीमेंट कहा जाता है। और जब पानी के साथ मिश्रित होता है तो एक घट्ट पदार्थ का निर्माण होता है।

 

सीमेंट क्या है

वर्तमान युग में विभिन्न प्रकार के बांधकाम के निर्माणों के लिए सीमेंट सबसे महत्वपूर्ण घटक है, जैसे कि बड़ी इमारतें, बड़ी सड़कें, बड़े पुल, बाँध, इत्यादि। यह कहने में कोई आपत्ति नहीं है कि यह सारा निर्माण सीमेंट की वजह से ही पूरा हो रहा है। मानव जीवन के मूल्यवान वस्तुए बनाने के लिए सबसे अधिक आवश्यक सीमेंट कैसे तैयार किया जाता है? सीमेंट बनाने के लिए कौन सी सामग्री का उपयोग करते हैं? Cement कितने प्रकार के होते हैं? सीमेंट का रासायनिक रूप क्या है? आदि यह सब जानकारी हम आज के लेख में जानेंगे।

सीमेंट के प्रकार अलग अलग है, लेकिन उसके मूल घटक के अनुसार मुख्यता तीन प्रकार है। पोर्टलैंड सीमेंट रासयनिक प्रयोग से कैल्सियम सिलिकेट और अल्युमिनियम इनका मिश्रण है, स्लैग फर्नेस यह उच्च quality पोलाद भट्टीतील स्लैग मिश्रित सीमेंट है। स्लैग में आयरन का प्रमाण अधिक होने के वहज से यह सीमेंट अधिक मकबूत और कठिन होता है। इस सीमेंट का उपयोग बड़ी ईमारत, पूल, उर्जाकेंद्र और मिलिटरी ईमारत आदि बनाने के लिए किया जाता है। इस प्रकार का सीमेंट जल्द ही कठिन बन जाता है। और तीसरा प्रकार याने जल्दी घट्ट में रूपांतर होना।

 

असली सीमेंट की पहचान – Identification of real cement:-

इस प्रकार के सिंनेट में पानी का मिश्रण हो जाये तो रासायनिक प्रक्रिया होकर यह जल्द ही कठिन बन जाता है। इसके परिणाम स्वरूप एक नया कठिन पदार्थ का निर्माण होता है। इसलिए इस प्रक्रिया को सीमेंट सेटिंग भी कहा जाता है। साधारणतः सीमेंट को कठिन बनाने में तीन – चार दिन का अवधि लगता है, लेकिन इस प्रकार के सीमेंट को कठिन बनाने में उतना अवधि नहीं लगता है।

 

मुख्यतः रंग के आधार पर भी सीमेंट के प्रकार है।

☛ सफ़ेद रंग का सीमेंट

☛ ग्रे रंग का सीमेंट

सीमेंट के प्रक्रार में और एक प्रक्रार मैग्नेशियम ऑक्सीक्लोराईड होता है। मैग्नेशियम ऑक्साइड और मैग्नेशियम क्लोराईड इनका मिश्रण बनाकर इस प्रक्रार के सीमेंट को बनाते है। इस प्रक्रार के सीमेंट का उपयोग टाइल्स तथा मंज़िल लगाने के काम में आता है।

 

सीमेंट बनाने की प्रक्रिया – Cement making process:-

पोर्टलैंड सीमेंट बनाने की प्रक्रिया :-

इस प्रक्रार के सीमेंट को दो तरीके से बनाया जाता है। प्रथम प्रक्रिया में चूनखड़ी का चूर्ण और चीनीमिट्टी का लगदा योग्य में लेकर उसका मिश्रण तैयार करके चक्रगति भट्टी में 1400 से 1600 डिग्री सेल्सियस में कुछ समय तपाया जाता है। इस प्रक्रार के सीमेंट प्रक्रिया को ”कोरडी” प्रक्रिया कहा जाता है। इस पद्धत में चूनखड़ी और चीनीमिट्टी दोनों को Dry सिस्टिम के स्वरूप में मिश्रण बनाया जाता है। इस मिश्रण को गरम करते हुए एक नए अवतार में पदार्थ निर्माण होता है उसे क्लींकर खा जाता है। क्लींकर को शीत बनाकर उसमे दो या तीन प्रतिसत जिप्सम का मिश्रण मिश्रित करते है और इससे तैयार होता है पोर्टलैंड सीमेंट।

 

रासायनिक प्रक्रिया के अनुसार सीमेंट के मुख्यता चार प्रकार है :-

1. ट्रायकैल्शियम सिलिकेट

2. ट्रायकैल्शियम अल्युमिनेट

3. डायकैल्शियम सिलिकेट

4. टेट्राकैल्शियम  अल्युमिनो फेराइट

इन चार प्रकार के रासायनिक मिश्रण में अगर पानी का मिश्रण करते है तो एक मजबूत और कठिन पदार्थ का निर्माण होता है।

सीमेंट में खड़ी, रेती और पानी का मिश्रण बनाकर कॉन्क्रीट बनाया जाता है।  इसका उपयोग फिर बड़ी-बड़ी इमारते, पूल और मकान का छत बनाने में मदत होती है।

सन 1904 वर्ष में मद्रास शहर में सर्व प्रथम सीमेंट का उद्योग कारखाना सुरु किया गया। लेकिन सीमेंट का उत्पादन सन 1914 में अधिक बढ़ गया। इंडियन सीमेंट कंपनी पोरबंदर, कातने सीमेंट फैक्टरी, चुन्नर सीमेंट फैक्टरी, देहरादून सीमेंट फैक्टरी इस प्रकार के बड़ी बड़ी सीमेंट फैक्ट्रियां हमारे देश में बनी। और बांधकाम में विकास की वजह से और भी अच्छे quelity में सीमेंट का उत्पादन वर्तमान युग में होने लगा है।

दोस्तों, उम्मीद है की आपको सीमेंट क्या है – What is cement यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

 

यह भी जरुर पढ़े
1.  RCC कॉलम तैयार करे

2.  इंजिन का कार्य 

3  PUC कैसे बनाए 

4.  ट्रांसमिसन का कार्य

5.  मायक्रोमीटर का कार्य 

6.  फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

7.  गुणकारी दही के लाभ 

8.  तुलसी है एक वरदान 

9.  घुटने दर्द होने पर ट्रीटमेंट करे

10.  रेसिपीज बनाने के  तरीके 

11.  नीबू के महत्वपूर्ण गुण 

12.  पुदीना के जबरदस्त फायदे 

13.  पनीर सलाद कैसे बनाए 

14.  रक्त और हिमोग्लोबिन 

15.  विटामिन के लाभ 

16.  संतुलित आहार के फायदे 

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग

10.  पिस्टन रिंग का उपयोग 

11. सफल होने का रहस्य 

12.  वाहन मेंटेनन्स बनाए रखे 

13.  अंग्रेजी बोलने के तरीके 

14.  प्रदुषण कैसे नियत्रण करे 

15.  अंग्रेजी बोलने के टिप्स 

16.  जी आय पाइप फिटिंग

 

Post Comments

error: Content is protected !!