The process of making biomass fuel – बायोमास ईंधन कैसे बनाये

बायोमास ईंधन कैसे बनाये (How to make biomass fuel), बायोमास ईंधन बनाने का आसान तरीका. make biomass fuel banane ka tarika, बायोमास ईंधन का सच क्या है (the truth of biomass fuel), बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया, The process of making biomass fuel – biomass Indhan kaise banaye?

The process of making biomass fuel - बायोमास ईंधन कैसे बनाये

 

How to make biomass fuel – बायोमास ईंधन कैसे बनाये:

नमस्कार दोस्तों, www.apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. आज के लेख में, हम पर्यावरण को बचाने के लिए उपयोग किए जाने वाले उपचार ”बायोमास ईंधन के बारे में जानकारी” प्रस्तुत करने जा रहे हैं.

Biomass Fuel Kaise banate hai: दोस्तों अगर आपको भी लगता है की जैविक कचरे का सही इस्तेमाल किया जाये तो यहाँ जाने बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया (The process of making biomass fuel), बायोमास ईंधन बनाने के लिए लगने वाले साहित्य, बायोमास प्राकृतिक ईंधन के बारे में जानकारी, बायोमास क्या है (What is biomass?)

दोस्तों, अपना संदेश वेब पोर्टल पर हमने कुछ दिन पहले ”बायोगैस ऊर्जा का उपयोग कैसे करे” इसके बारे में लेख प्रकाशित किया है. जैसा कि हम पर्यावरण टेक्नोलॉजी के बारे में लिखना पसंद करते हैं और आज हम उसी संबंधी लेख को प्रकाशित करने जा रहे हैं, आशा करते है कि आप इस लेख को भी उतना ही पसंद करेंगे. तो प्रिय पाठक “बायोमास ईंधन कैसे बनाये” इसके बारे में जानते हैं.

 

बायोमास कोयला बनाने की प्रक्रिया – Process of making biomass coal:-

Bio mass क्या है (What is biomass):-

बायोमास का जनरल मतलब हम सभी जैविक घटक भी कर सकते है. लेकिन बायोमास यह अवधारणा व्यापक है. हमारे आस-पास बायोमास का अधिक भंडारण है, जैसे की आप जानते है बायोमास एक जैवीक घटक है. बायोमास इंधन सभी प्रकार के जैविक पदार्थ या कचरे से बनता है. जैसे की खेती में निकलने वाला अन्य कचरा, किसी काम में उपयोग न होने वाले पेड़ के टूटे हुए पत्ते, गन्ने का उपयोग न होने वाला पाचड , वेस्टेज सब्जी, घर से निकलने वाला वेस्टेज कचरा, आदि. इन सभी घटक सर्वसाधारण बायोमास के ही उदहारण है.

लेकिन इन सभी घटको का इस्तेमाल कैसे करे जिससे बायोमास इंधन तैयार हो सके, बायोमास क्या है – What is biomas, बायोमास का उपयोग कैसे करें, बायोमास के विविध प्रकार, बायोमास बनाने की प्रक्रिया (process of making biomass fuel), यह हमें पता ही नहीं है. इसलिए हम आपके लिस इस लेख के माध्यम से बायोमास इंधन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने जा रहे, तो आइये जानते है ”बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया क्या है”.

Read more – bio energy ke bareme jankari

 

बायोमास के विभिन्न स्रोत (बायोमास ईंधन कैसे बनाये):-

इन सभी जैविक पदार्थ की हमारे आस-पास हर समय उपलब्धता होती है. इन सभी प्रकार के जैविक घटको से हम बायोमास इंधन बना सकते है.

जैविक घटकों से तैयार बायोमास को कोयला या लकड़ी का कोयला कहा जाता है. हमारे आस-पास ग्रामीण क्षेत्र में पारम्परिक कोयला स्वाभाविक मिल जाता है.

लेकिन बायोमास से तैयार होने वाला कोयला हमारे लिए अधिक उपयुक्त है. साथ ही यह कोयला पर्यावरण को नुकसान भी नहीं पहुँचता है. और इसके उत्पन से आय भी प्राप्त कर सकते है.

बायोमास कोयला बनाने के लिए किसी अधिक लगत की जरुरत नहीं है, इसे बनाने के लिए न किसी अन्य कौशल्य की जरुरत है. इसे बहुत ही आसानी से अपने परिसर (आसपास के जगह पर) में बनाया जा सकता है. और इस प्रकार का प्रकल्प अगर हम अपने आसपास के जगह पर सुरु करते है तो इससे अधिक आय कमा सकते है.

 

बायोमास कोयला बनाने की प्रक्रिया (Process of making biomass coal):-

दोस्तों बायोमास बनाने की सरल प्रक्रिया (process of making biomass fuel) पुणे शहर से विकसित हुई है, जी हां दोस्तों पुणे शहर से ऐप्रोप्रिएट रूरल टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट (RT) इनके बदौलत एक सरल और कम समय याने 15-20 मिनिट में एक बैच कोयला तैयार करने की प्रक्रिया सुरु की है.

Read More Article –

1.  Eye Specialist Doctor kare bane

2. B.Sc Nursing me Career kaise banye

3. After 12th Science me Career Kaise Banaye

4. B.Sc Computer Me career kaise banaye

 

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया – The process of making biomass fuel:-

1. टाकाऊ पदार्थ जैसे की खेती से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल कोयला बनाने के भट्टीमे डालें, और ऊपर से आग लगाने के बाद उसके ऊपर कवर और धुराटे लगाए,

2. इसके कुछ देर पश्चात वह कवर निकाले,

3. कवर निकालने के बाद अचानक मिलने वाले प्राणवायु से लगने वाली आग को बुझाये और कोयले को ठंडा होने के लिए रखे.

4. इस भट्टी में गन्ने के पाचाड या विभिन्न जैविक पदार्थ 6 से 7 किलो,

5. अन्य जैविक पदार्थ के सात बारीक़ वाली लकड़ी 10 से 12 किलो, या हमारे परिसर से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल जैसे, कागज, पाल्यभाजी, घर से निकलने वाला कूड़ा कचरा आदि जो भट्टी में समा सके इतना (साधारण 5 किलो)

The process of making biomass fuel - बायोमास ईंधन कैसे बनाये

6. इन सभी प्रकार के घटको से 1/3 प्रतिशत कोयला निर्माण होता है.

7. खेती से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल, कागज, घास, गन्ने का पाचाड, या किसी भी प्रकार के सुके पदार्थ जिससे हम जैविक ईंधन बना सकते है.

 

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया

8. इस प्रकार का कोयला हमे छोटे लकड़ी के आकर में प्राप्त होते है जिसे हम अपने खाजगी तथा अन्य कामो के

9. लिए ईंधन के रूप इस्तेमाल नहीं कर सकते है. इसके लिए उसके अलग आकार के पार्ट बनाते पड़ते है.

10. इस ईंधन को ब्रिकेट्स नमक यंत्रसे अलग अलग प्रमाण में बनाया जाता है.

भट्टी तैयार करने की प्रक्रिया (Process of furnace preparation):-

A. तेल के लिए उपयोग किया जाने वाला मेटल का 200 लीटर ड्रम या बैरल लें और उसका उपका का कवर निकाले,

B. अब उसके निचले हिस्से में 12 इंच चौड़ाई, और 10 इंच ऊंचाई के छेद गिराए,

C. इस ड्रम में निचले भाग में 8 इंच के दो मेटल रॉड एक बाजू से लेकर दूसरे बाजु तक एक समान लगाए.

D. क्योकि इसका उपयोग स्टील के बैरल को आधार के रूप में होता है.

E. भीतर का ड्रम 100 लीटर के आस पास होना चाहिए और यह स्टील से बना होना चाहिए, इस ड्रम के निचले हिस्से में 3/8 इंच Diameter के 6 होल गिराए,

F. यह ड्रम बड़े ड्रम के अंदर रखे.

 

जैविक पदार्थों की कार्बनिक प्रक्रिया (Organic process of organic matter):-

अंदर के ड्रम में सभी प्रकार के जैविक पदार्थ भरे जाते है और इसके आकार के साथ 45 मिनिट या 1 घंटे तक इसे गरम किया जाता है, इस प्रक्रिया को technically फायरिंग कहा जाता है.

फायरिंग के बाद ड्रम के अंदर में तैयार कार्बन कोयले को ठंडा होने दे और उसका वजन करे आपके इसका वजन 30 प्रतिशत मिलेगा.

 

बंधक पदार्थ का निर्माण (Construction of mortgage):-

बंधक पदार्थ याने बाइंडर क उपयोग ब्रिकेट्स strong बनाने के लिए होता है. 100 किलोग्राम वेट के कार्बनीकरण कोयले की 60 से 100 लीटर पानी में 5 से 6 किलो स्टार्च या फिर तवकील मिक्स करके बाइंडर बनाया जाता है. यह सब प्रक्रिया कच्चे पदार्थ के वजन के हिसाब से होता है.

Read More Article –

1. फार्माकोलॉजी में करियर कैसे बनाये

2. डिप्लोमा इंजीनियरिंग (Polytechnic) की प्रवेश प्रक्रिया

3. अभियांत्रिकी (Engineering) में प्रवेश कैसे प्राप्त करें

4. बायोइंजीनियरिंग में रोजगार के अवसर

5. कैसे बने इलेक्ट्रिकल इंजीनियर

6. पेस्टीसाइड वैज्ञानिक कैसे बने

7. कृषि इंजीनियर कैसे बने

 

ब्रिकेटिंग प्रक्रिया (Briquetting process):-

तैयार हुए कोयले को हात से या फिर मशीन का उपयोग करके ब्रिकेटिंग किया जाता है.

The process of making biomass fuel - बायोमास ईंधन कैसे बनाये

सुखाना और पैकिंग करना (Drying and packing):-

तैयार हुए ब्रिकेटिंग को सूर्यप्रकास में सुकाया जाता है. और फिर सूकने के बाद उसे पैक किया जाता है.

 

इस तंत्रज्ञान के फायदे (Benefits of this technology):-

1. धुरविरहित प्रक्रिया – यह कोयला बिना धुर किये जलता है.

2. राख का अनुपात कम होता है (कोयले के मूल वजन से 5 % कम)

3. साधारण इस में स्थिर कार्बन का प्रमाण अधिक है.

4. इस प्रकार के कोयले को जलाने की प्रक्रिया के बाद, कोई स्मेल नहीं आती है.

5. लकड़ी के कोयले के तुलना में यह कोयला अधिक समय जलता है बिना कुछ प्रदुषण किए. आदि

 

Inspection supervision:

Overview:- How to make biomass fuel – बायोमास ईंधन कैसे बनाये,

Name- भविष्य (Future) में बायोमास फ्यूल को कैसे बनाएं,

Educational Qualification:- कोई भी शिक्षा की जरूरत.

Skill:- नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,

Final Keyword:- बायोमास ईंधन कैसे तैयार करे,

Official website:- https://www.energy.gov/eere/bioenergy/biofuels-basics

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. RCC कॉलम तैयार करे

2. इंजिन का कार्य 

3. PUC कैसे बनाए 

4. ट्रांसमिसन का कार्य

5. मायक्रोमीटर का कार्य 

6. फेरोसिमेंट बनाने के तरीके

7. गुणकारी दही के लाभ 

 

conclusion

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की ”How to make biomass fuel – बायोमास ईंधन कैसे बनाये” और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!