Safe Driving kaise kare – सुरक्षित (careful) ड्राइविंग besic Tips

सुरक्षित ड्राइविंग – Safe Driving kaise kare – सुरक्षित (careful) ड्राइविंग besic Tips, सड़क सुरक्षा क्या है – What is road safety? सुरक्षित और जिम्मेदार ड्राइविंग – Safe and responsible driving, गाड़ी चलाने से पहले सावधान – Be careful before driving, सुरक्षित ड्राइविंग का महत्व क्या है – What is the importance of safe driving, वाहन चलाते समय ली जाने वाली सावधानी – Cautiousness while driving सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. वर्तमान युग में आप सभी के पास वाहन है, आप सभी जानते है की वाहन एक यंत्र मशीन है जिसे हमें सुरक्षित और सावधानी से चलना पड़ता है. अगर वाहन चलाते समय हम में से किसी भी एक व्यक्ति से गलती हो जाये तो अपना जीवन खोना पड़ सकता है. इसलिए हमे अपने वाहन तथा वाहन संबंधी सभी जानकारी प्राप्त होना जरुरी है.

Safe Driving kaise kare - सुरक्षित (careful) ड्राइविंग besic Tips

 

Safe Driving kaise kare – सुरक्षित (careful) ड्राइविंग besic Tips

वाहन चलाने से पहले सावधान – Be careful before driving a vehicle :-

दोस्तों आये दिन दुर्घटना को देखते हुए सोचने की बात है की, क्या हम वाहन चलाते समय अपने वाहन से परिचित है? क्या हमे अपने वाहन के बारे में सभी जानकारी प्राप्त है? क्या हम रस्ता सुरक्षा जानते है? यह सभी सवाल के बारे में, ”जवाब” अगर हमारे पास है तो निश्चित ही हम सुरक्षित ड्राइविंग कर सकते है. दोस्तों हमेशा ध्यान रखना की हम, वाहन चलाते समय रस्ते पर सिर्फ मेहमान है, इसलिए आप खुद सुरक्षित रहो और दुसरो को भी सुरक्षित रखो.

Read More – New Traffic Rules – यातायात के नये ट्रैफिक रूल्स

Read More – RTO का फुल फॉर्म क्या है?

सुरक्षित और जिम्मेदार ड्राइविंग :-

सुरक्षित और जिम्मेदार ड्राइविंग के लिए तैयार हो :-

गाड़ी चलाने से पहले –

☛ सुनिश्चित करें कि आप अपनी मानसिक और शारीरिक स्थिति के साथ सहज हैं।

☛ अपने वाहन का निरीक्षण करें और ड्राइविंग की स्थिति का निरीक्षण करें।

ड्राइविंग करते समय आपको अपना ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाण पत्र, बीमा प्रमाणपत्र और प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र ले जाना जरुरी है। परिवहन और वाणिज्यिक वाहन चालकों के पास परमिट और वाहन फिटनेस प्रमाणपत्र होना जरुरी है।

 

सुरक्षित ड्राइविंग – Safe Driving :-

एक सुरक्षित चालक होने के लिए ज्ञान, कौशल और दृष्टिकोण के संयोजन की आवश्यकता होती है :-

यातायात नियमों और ड्राइविंग प्रथाओं का ज्ञान जो यातायात को सुरक्षित रूप से आगे बढ़ने में मदद करता है।

सड़क पर दूसरों की सुरक्षा की देखभाल करने का कौशल होना जरुरी है,

ट्रैफ़िक को सुरक्षित रूप से ले जाने के लिए अन्य ड्राइवरों के साथ सहयोग करने का रवैया।

हमें विनम्र होना चाहिए, अन्य ड्राइवरों को लेन बदलने की जगह देनी चाहिए,

Read More – Duplicate Driving License kaise banaye

Read More – Automobile Vahan me Security kit kaise lagaye

 

शारीरिक और मानसिक सतर्कता :-

वाहन चलाने से पहले अच्छी शारीरिक और मानसिक स्थिति में रहें।

यदि आप वाहन चालक है तो यह ना करें :-

1. शराब पीकर गाड़ी ना चलाए,

2. ऐसी कोई भी दवा ना ले जो आपकी प्रतिक्रियाओं को प्रभावित करे।

3. थके होने के कारण थकान आपके ड्राइविंग कौशल और प्रतिक्रिया समय को प्रभावित कर सकती है।

4. बीमार या घायल होने पर गाड़ी ना चलाए,

5. परेशान होने पर गाड़ी ना चलाए,

इन सब कारणों से अगर आप गाड़ी चलाते हो तो आप सड़क पर अपने जीवन या दूसरों के जीवन को खतरे में डाल सकते हैं।

Read More – Sadak Surksha kya hai

Read More – Road Safety ki Study kaise kare

 

अपने वाहन के बारे में जानें :-

1. वाहन में स्तिथ सर्विस मैनुअल के बारे में जानकारी प्राप्त करे। सर्विस मैन्युअल के बारे में विस्तृत जानने के लिए यहां Click करें.

2. आपको उस वाहन की विशेषताओं को जानना चाहिए जिसे आप ड्राइव करने जा रहे हैं। उदाहरण – एंटी-लॉक ब्रेक, 4-व्हील ड्राइव।

3. सुनिश्चित करें कि आप जानते हैं कि नियंत्रण और उपकरण कहां हैं और वे क्या करते हैं। जांचें कि सभी आपातकालीन संकेत और उपकरण काम करते है या नहीं।

4. आपको वाइपर, वॉशर, हेडलाइट्स, इंडिकेटर आदि सिस्टम के बटन को बिना देखे और बिना आंख बंद किए सड़क पर ले जाने में सक्षम होना चाहिए।

5. बैठने की स्थिति अच्छी होनी चाहिए, वाहन चलाते समय उचित, ईमानदार स्थिति अधिक स्थिरता देती है।

6. सुनिश्चित करें कि आप स्टीयरिंग व्हील और हुड के ऊपर देख सकते हैं। आपको उचित निर्णय के लिए वाहन के सामने जमीन को 4-5 फीट देखने में सक्षम होना चाहिए।

7. अपने कोहनियों को थोड़ा झुकाकर सीधे सीट पर सीधे बैठ जाएं। सीट को समायोजित करें ताकि आपके पैर पैडल तक आसानी से पहुंच सकें। ब्रेक पेडल के नीचे अपने पैरों को फर्श पर सपाट रखें। यदि आप ऐसा कर सकते हैं तो आप ठीक से बैठे सकते हैं।

8. सिर को उचित ऊंचाई तक समायोजित करें, यह एक्सीडेंट की स्थिति में सुरक्षा करता है।

9. एयर बैग वाली कारें में बैठने की स्थिति गलत होने पर एयर बैग से चोट लग सकती है। सीट बेल्ट का नियमित उपयोग करें.

Safe Driving kaise kare

अपनी सीट बेल्ट बांधना :-

1. अपनी सीट बेल्ट बांधना शुरू करने से पहले। सीट बेल्ट आपकी सुरक्षा के लिए हैं न कि केवल चालान से बचने के लिए।

2. यदि एक्सीडेंट हो तो सीट बेल्ट आपको अपनी सीट पर रखने के लिए पर्याप्त आरामदायक पहननी चाहिए।

3. बेल्ट पट्टा एक कंधे से होकर सीधा दूसरे हाट के निचे से बेल्ट लॉक में लगाए।

Read more – Online driving licensee ke liye apply kaise kare

Read more – Driving me career kaise banaye

Safe Driving kaise kare

सीट बेल्ट जीवन जीते हैं :-

1. सीट बेल्ट आपको पहिया के पीछे और टक्कर के मामले में वाहन के नियंत्रण में रखता है।

2. सीट बेल्ट आपके सिर और शरीर को सुरक्षित रहता है

3. सीट बेल्ट आपको टक्कर में वाहन के अंदर रखता है। टक्कर के दौरान वाहन से बाहर फेंके गए व्यक्ति को गंभीर चोट लगने की संभावना अधिक होती है इसलिए नियमित सीट बेल्ट का उपयोग करें.

Safe Driving kaise kare

रात में रोशनी की स्थिति में हेडलाइट ऑन करें :-

सूर्यास्त से 30 मिनट पहले हेडलाइट चालू करें और सूर्योदय के 30 मिनट बाद तक उन्हें चालू रखें। जब कोहरा या बारिश आपकी दृश्यता को 100 मीटर से कम कर दे तो अपनी रोशनी चालू करें।

अपने हेडलाइट्स को साफ रखें और उन्हें नियमित रूप से समायोजित करें ताकि वे ठीक से निशाना लगा सकें। मंद प्रकाश में, अपने हेडलाइट्स का उपयोग करें, न कि पार्किंग रोशनी का। पार्किंग लाइट केवल पार्किंग के लिए है।

उच्च बीम दिल्ली, चंडीगढ़ और अन्य शहरों जैसे शहरों में प्रतिबंधित हैं। आपको सड़कों पर उच्च बीम का उपयोग नहीं करना चाहिए। यदि आप हाईवे पर यात्रा कर रहे हैं और उच्च बीम हेडलाइट्स का उपयोग कर रहे हैं, तो आने वाले वाहन के 150 मीटर के भीतर कम बीम पर स्विच करें। जब आप दूसरे वाहन से 60 मीटर से कम दूरी पर हों, तो अपने कम बीम पर स्विच करें।

दोस्तों, उम्मीद है की आपको सुरक्षित ड्राइविंग – Safe Driving यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

 

यह भी जरुर पढ़े  :-

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग

10.  पिस्टन रिंग का उपयोग 

Post Comments

error: Content is protected !!