What is the truth of electricity – बिजली का सच क्या है?

बिजली का इतिहास – History of electricity, बिजली का सच क्या है – What is the truth of electricity, बिजली का आविष्कार कब हुआ – When was the invention of electricity, बिजली का परिचय – Introduction to electricity, बिजली का शोध – electrical energy search, बिजली की बढ़ती जरुरत – Increasing need of electricity, सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों फिर से, Technology की दुनिया में, एक सुंदर और शिक्षाप्रद लेख जो electrical प्रणाली में काम करता है. दोस्तों पिछले लेख में, हमने बिजली का आविष्कार इसके बारे में जानकारी आप तक पहुँचने की कोशिश की है. आज के लेख में हम बिजली के रहस्यमय परिचय तथा बिजली के सच के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे.

बिजली का सच क्या है - What is the truth of electricity

 

What is the truth of electricity – बिजली का सच क्या है?

इस शब्द का उल्लेख मनुष्यों को पुरातनवर्ष में हुआ. पुराने वातावरण की शक्ति के साथ, भगवान का क्रोध इस नाम से प्रकट हुआ था यह बिजली रहस्य. यह पर्यावरण की शक्ति है, कि मनुष्य इस शक्ति से डरता है, उस समय मानव को इसके शास्त्रीय कारण के बारे में पता नहीं था. लेकिन आज, बिजली मानव ऊर्जा का एक प्रमुख हिस्सा बन गया है. बिजली सभी क्षेत्रों में मानव जीवन की प्राचीनता रही है और हर जगह नाम आ रहे हैं. जैसे रेडियो, टीवी, टेलीफोन, रेलवे प्रकाश निर्माता, सभी मानव जीवन से परिचित हैं. तो आइए जानते हैं क्या है बिजली?

 

बिजली क्या है ?

करीब करीब 3000 बरस पहले पूर्व प्रशिया में बाल्टिक सागर के सँमलैंड बिच पर न्यूटन को कुछ पीले पत्थर मिले. जब यह पत्थर सूरज की रोशनी में पकड़ा गया तो सुनहरे रंग के दृश्य उनमें से निकले आए. इस पत्थर को आग में फेंकने के बाद, ज्वाला इससे बाहर निकली, फिर इसे बर्निंग टोन कहा गया और उसे एम्बर के रूप में अग्रेषित किया गया. कुछ साल बाद उन पत्थरों के साथ सजावटी शंकु जैसी वस्तुओं को बनाना शुरू किया. जब यह पत्थर लोकर के कपडे पर घासा गया तो उससे एक उज्वल ज्वाला का रहस्य सामने आया. और फिर कुछ वर्ष बाद ग्रीक समुदाय से इसे ”इलेक्ट्रॉन” नाम दिया गया.

लेकिन सुमारे 2000 बरस पूर्व इंग्लिश शास्त्रज्ञ विलियम्स मिल बर्ट ने ग्रीक शब्द ”इलेक्ट्रॉन” इस शब्द से ”इलेक्ट्रिक” इस शब्द का विशेष अर्थ स्पष्ट किया.

 

इलेक्ट्रॉन और उनकी रचना :-

इलेक्ट्रॉन के बारे में आपको पता ही होगा. इलेक्ट्रॉन के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना है तो पदार्थ के बारिक सूक्ष्म रचना के तरफ ध्यान देना होगा.

कोई भी पदार्थ यह अनेक सूक्ष्म जीव कणों से बना हुआ होता है. उस सूक्ष्म कण को मॉलिक्यूल कहा जाता है. इस मॉलिक्यूल से ओर भी छोटा सूक्ष्म कण विभाजित होता है और उन सभी सूक्ष्म कण को ”Atoms” नाम से व्यक्त किया है. सूर्य के चारों ओर  घूमने वाले ग्रह मालिक के की तरह उनकी रचना रहती है.

 

न्यूक्लियस :-

Atoms के बीच में जो फिर एक घटक रहता है उसे न्यूक्लियस कहते हैं. यह न्यूक्लियस के दो प्रकार होते हैं –

प्रोटॉन :-

इस प्रोटीन पर पॉजिटिव चार्ज रहता है, प्रोटोन अपनी सेल की जगह छोड़ता नहीं.

न्यूट्रॉन :-

न्यूट्रॉन पर किसी भी तरह का भार नहीं रहता, वह बिजली न्यूट्रल रखता हैं.

इलेक्ट्रॉन :-

स्थिर रूप में न्यूक्लियस के आसपास इलेक्ट्रॉन सर्कल कक्ष से भ्रमण करते हैं. इलेक्ट्रॉन के ऊपर नेगेटिव चार्ज रहता है. नेगेटिव चार्ज इलेक्ट्रॉन पॉजिटिव चार्ज के प्रोग्राम से सामान रखते हैं. उस कारण उसका अंतिम परिणाम  zero रहता है. इलेक्ट्रॉनिक का वेट यह प्रोटोन के वेट से १/१८४० कम रहता है.

 

बिजली का सच क्या है - What is the truth of electricity

इलेक्ट्रॉनिक भ्रमण कक्षा क्षेत्र को पकड़े रहते हैं. जब एक असमंजस समान Atom से कुछ इलेक्ट्रॉन दूर गए तब वह Atoms असमंजस असमान बनकर पॉजिटिव चार्ज इलेक्ट्रॉन के नेगेटिव चार्ज से ज्यादा रहता है. वैसे ही जब एक Atoms में कुछ इलेक्ट्रॉन आए तब उसमें के पॉजिटिव चार्ज से नेगेटिव चार्ज ज्यादा रहता है. जो Atoms में पॉजिटिव चार्ज ज्यादा रहता है तब Atoms यह दूसरे Atoms के फ्री इलेक्ट्रॉन को अपने तरफ खींचता है.

और अपने आप में संतुलन बनाए रखता है. बिना चार्ज रहने वाले पदार्थों में आकर्षण रहता है. लेकिन जिस Atom के फ्री Electrons बाहर खींचे हुए हैं, तब ज्यादातर पॉजिटिव चार्ज खुद ही समतल बनाने के रहते हुए दूसरे Atoms के फ्री Electron खुद के तरफ खींचते समय तोल बनाए रखने का प्रयत्न करते हैं. Electron प्रवाह की एक चैन बनी जाती है. उस प्रवाह को बिजली प्रवाह व्यक्त करते हैं.

 

परमाण्विक भार – Atomic weight :-

Atom के प्रोटॉन और न्यूट्रॉन इन दोनों के पूरे weight को Atomic weight कहते हैं.

 

परमाणु क्रमांक – Atomic number :-

Atom के प्रोटोन और इलेक्ट्रॉन के संख्या को Atomic number कहते हैं.

Read More – Battery charging tips in Hindi.

 

Atom की भ्रमण कक्षा संरचना :-

इसके के सूर्य मालिका ग्रहों के न्यूक्लियस के वातावरण में Electron का भ्रमण विशिष्ट भ्रमण कक्षा से चलता है.

बिजली का सच क्या है - What is the truth of electricity

इस आलेख के न्यूक्लियस सबूत वालों में Electron के चार कक्ष में चलता है.  K सेल, L सेल, M सेल, N सेल ऐसे संबोधित किया है.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको बिजली का सच क्या है – What is the truth of electricity यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें. और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ.

धन्यवाद.

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…….

 

Author By :- Yogesh Chaudhari

 

यह भी जरुर पढ़े

1. नीबू के महत्वपूर्ण गुण

2. पुदीना के जबरदस्त फायदे

3. पनीर सलाद कैसे बनाए

4. रक्त और हिमोग्लोबिन

5. विटामिन के लाभ

6. संतुलित आहार के फायदे

7. 5 ” S ” का महत्व

8. नए आविष्कार वाले हेलमेट

9. BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

10. इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है

11. रस्ता संकेत

12. वाहनों का आविष्कार

13. पहिए का आविष्कार

14. पढाई कैसे करे

15. ट्रांसफोर्मर का कार्य

16. मल्टीमीटर का उपयोग

Post Comments

error: Content is protected !!