What is the truth of Ohm’s law – Ohm’s law का सच क्या है

बिजली का उपयोग कैसे करें – How to use electricity, ओहम का नियम – Rule of ohms, बिजली करंट, वोल्टेज और रेजिस्टेंस क्या है – What is electricity, voltage and resistance? Ohm’s law का सच क्या है – What is the truth of Ohm’s law? ओहम क्या है – What is ohm? करंट, रेजिस्टेंस का उपयोग कहा होता है – What is the use of current, resistance? जानिए सभी जानकारी हिंदी में।

नमस्कार, आप सभी का हमारे apnasandesh.com पर स्वागत है। दोस्तों आज के लेखे में बताएँगे की ओहम का नियम क्या है। और साथ ही करंट, रेजिस्टेंस का परिचय तथा उसके बारे में निम्नलिखित जानकारी प्राप्त करेंगे।

Ohm's law का सच क्या है - What is the truth of Ohm's law

 

What is the truth of Ohm’s law – Ohm’s law का सच क्या है :-

Ohm’s Law – जॉज सायमन ओहम (१७८९-१८६४) :-

1. जर्मन प्रोफ़ेसर ने इसकी निर्मिति सन १८२७ में किया था। और इस सिद्धांत को अपना ही नाम दिया था। वोल्टेज और करंट के बिच का संबंध इससे समझाया गया है।

2. Ohm’s law एक आदर्श कंडक्टर में वोल्टेज और करंट के बीच के संबंध से संबंधित है। यह संबंध बताता है कि:-

3. एक आदर्श कंडक्टर में संभावित अंतर (वोल्टेज) इसके माध्यम से करंट के लिए आनुपातिक है।

4. आनुपातिकता के निरंतरता को “प्रतिरोध”(R) कहा जाता है

5. जिस कंडक्टर में से करंट पास होता है वह दो विंदु के अंतर में विभिन्न रहने के कारण दोनों सामान रहते है (Directly Proportional).

V = S*R

R = Prepositionally Constant,

I =V/R,

R=V/I,

 

करंट – Current :-

एक विशेष माध्यम से बहने वाली आवेश की मात्रा के माध्यम से विद्युत धारा को बता सकते हैं। दूसरे शब्दों में, विद्युत आवेशों के प्रवाह की दर है।

 

बिजली करंट को इस्तेमाल कैसे करते है – How to use electricity?

एक सेल या डिवाइस के बिच चालक लिंक सिंगल स्विच से बनती है। विद्युत शक्ति के निरंतर और विवश पथ को प्रकाश का मार्ग भी कहा जाता है। जब की सर्किट में अगर विभिन्नता आती है तो बिजली ला फ्लो रुक जाता है। उस सर्किट में बिजली का प्रवाह रुक जाता है। LED की बात करें तो स्विच बंद होने पर बिजली के प्रवाह में विभिन्नता निर्माण होती है और LED चालू नहीं होती।

विद्युत धारा को एम्पीयर में व्यक्त की जाती है। विद्युत प्रवाह की गणना एमीटर में तब की जाती है जब एमीटर किसी परिपथ में धारा को मापता है। इसे हमेशा सर्किट के साथ में Series Connection में लगाया जाता है।

दिए गए आरेख में, विद्युत प्रवाह (electric current) और एम्मीटर टर्मिनल से बैटरी के (negative ) नकारात्मक टर्मिनल तक बहती है।

 

Direct Current और Alternating Current :-

AC Supply विवरण ”फ्रीक्वेंसी” से आता है। भारत देश में AC supply में 50. H₂ Cycle/Second फ्रीक्वेंसी रहती है।  उसे Hertz में व्यक्त किया गया है। वही अन्य दूसरे देशो में 60 H₂ Cycle/Second फ्रीक्वेंसी होती है।

Read More – Electrical testing equipment ka upyog kaise kare – safety rules

 

वोल्टेज (Voltage) – Electrical Potential और Patential Difference :-

विद्युत फ्लो कैसे बनता है?

एक धातु के तार से एक इलेक्ट्रॉन केवल तब मिलता है जब कंडक्टर की छोटी पिच अलग होती है, इसे संभावित अंतर के रूप में व्यक्त किया जाता है। Potential difference बैटरी से बिंदु तक चलता है, इसे संभावित रक्षा कहा जाता है। वोल्टमीटर में Potential difference को मापा जाता है। और वोल्टमीटर को जोड़ने वाले शिखर को जोड़ने वाले दो बिंदुओं को हमेशा पैरेलल कनेट किया जाता है जिनके बिच Potential difference को मापा जाता है।

 

रेजिस्टेंस :-

1. रेजिस्टेंस यह एक कंडक्टर का युग है जिसमें से प्रवाह का विरोध करता है। इसकी SI इकाई को ”ओहम” के नाम से सम्‍मिलित किया गया है।

2. ओहम के नियम से R =V /I और I =V/R यह देखा जाये तो करंट के समानता में रेजिस्टेंस रहता है लेकिन रेजिस्टेंस को दो गुना बढ़ाया तो करंट रेजिस्टेंस के बराबरी में आधा हो जायेगा।

3. जिस Conductor में पर्याप्त प्रत्यय होता है उसे रेजिस्टेंस कहा जाता है।

 

दोस्तों, उम्मीद है की आपको Ohm’s law का सच क्या है – What is the truth of Ohm’s law यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे – मुस्कुराते रहे।

 

Author By :- Yogesh Chaudhari

 

यह भी जरुर पढ़े

1. नीबू के महत्वपूर्ण गुण

2. पुदीना के जबरदस्त फायदे

3. पनीर सलाद कैसे बनाए

4. रक्त और हिमोग्लोबिन

5. विटामिन के लाभ

6. संतुलित आहार के फायदे

7. 5 ” S ” का महत्व

8. नए आविष्कार वाले हेलमेट

9. BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

10. इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है

11. रस्ता संकेत

12. वाहनों का आविष्कार

13. पहिए का आविष्कार

14 पढाई कैसे करे

15. ट्रांसफोर्मर का कार्य

16. मल्टीमीटर का उपयोग

Post Comments

error: Content is protected !!