How to use Chisel – Work shop me Chisel का उपयोग कैसे करे?

Chisel का उपयोग कैसे करे, छेनी का उपयोग कैसे करे, चिझल का उपयोग कैसे करे – How to use Chisel, चिझल किसे कहते है – Who is the Chisel, चिझल का रखरखाव कैसे करे – How to maintain a Chisel, चिझल का परिचय – Introduction to Chisel, चिझल कितने प्रकार के होते हैं – How many types of Chisel are, इंजिनीअरिंग वर्क शॉप में चिझल का उपयोग – Use of Chisel in the engineering work shop, चिझल क्या है – What is the Chisel सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार दोस्तों APNASANDESH.COM में आप सभी का स्वागत है. आज के लेख में हम आपको छेनी (चिझल) के बारे में विस्तृत जानकारी देने जा रहे है.

Chisel का उपयोग कैसे करे - How to use Chisel

चिझल एक प्रकार का ऐसा टूल है जिसे हम वर्कशॉप और इडस्ट्री में उपयोग करते है, तो आइए दोस्तों जानते है चिझल के बारे में जानकारी.

 

How to use Chisel – Work shop me Chisel का उपयोग कैसे करे? :-

चिझल का परिचय – INFORMATION OF CHISEL :-

दोस्तों चिझल का उपयोग किसी भी मेटल को काटने के लिए किया जाता है. लेकिन वह मेटल गर्म अवस्था में हो तभी चिझल का उपयोग किया जाता है, वैसे तो HACKSAW का भी उपयोग मेटल काटने के लिए किया जाता है, पिछले लेख में हमारे टीम द्वारा इसी के बारे में विस्तार से बताया है अगर आपने यह जानकारी नहीं पढ़ी तो ☛ यहां Click करे और पूरी जानकारी प्राप्त करे. लेकिन जहा HACKSAW का उपयोग नहीं करते वह चिझल का प्रयोग करके काम किया जाता है. मुख्यतः छेनि के दो प्रकार की होती है.

 

छेनि के प्रकार – TYPES OF CHISEL :-

1. हॉट छेनी (HOT CHISEL)

2. कोल्ड छेनी (COLD CHISEL)

3. फ्लैट छेनी (FLAT CHISEL)

4. हाफ राउंड छेनी (HALF ROUND CHISEL)

5. डायमंड पॉइंट छेनी (DIAMOND POINT CHISEL)

6. क्रॉस कट छेनी (CROSS CUT CHISEL)

7. साइड कट छेनी (SIDE CUT CHISEL)

8. काउ माउथ छेनी (COU MOUTH CHISEL)

यह भी पढ़े ☛ हैमर का उपयोग कैसे करे

यह भी पढ़े ☛ वाइस का उपयोग कैसे करे

 

हॉट छेनी – HOT CHISEL  :-

हॉट छेनी का उपयोग लोहार करता है. क्योंकि उसे BLACK SMITH SHOP में उसका कार्य होता है, इस हॉट छेनी के व्दारा उसे गर्म लोहे को काटना या फिर उसमे सुराग करना इसके लिए किया जाता है. इस छेनी का प्रयोग करने के लिए इसमें लकड़ी से बने हेंडल या फिर टोंगल का प्रयोग किया जाता है. किसी भी गर्म जॉब को पकड़ने के लिए बार-बार उसे छेनी के मुह को पानी में डाला जाता है, ताकि छेनी की कटिंग एज ख़राब न हो.

 

कोल्ड छेनी – COLD CHISEL :-

कोल्ड छेनी यह हार्ड कार्बन स्टील की बनी रहती है, और इसमें सल्फर का प्रमाण भी ०.०५% मिलाया जाता है, जिसके कारन यह और भी जादा गुणकारी हो जाती है. कोल्ड छेनी की बनावट अगल-अलग होती है, जैसा जॉब हो उस हिसाब से इसे बनाया जाता है. यह स्टील की भी बनी होती है, इसका साइज़ NORMAL साधारणतः २ इंच से लेकर ८ इंच तक बनायीं जाती है. इस छेनी का उपयोग हर इंडस्ट्री या फिर वर्कशॉप में किया जाता है. इसके व्दारा ठन्डे लोहे को काटने का काम किया जाता है, यह हात से पकड़कर कार्य भी अच्छी तरह से कर सकते है, तथा वर्तमान में अब यह बाजार में हर साइज़ की और शेप की आसानी से मिल जाती है.

 

फ्लैट छेनी – FLAT CHISEL :-

फ्लैट छेनी का उपयोग आमतौर पर फ्लैट शिट काटने के लिए किया जाता है, और इससे चिपिंग के लिए भी उपयुक्त में लाया जाता है. जब इस छेनी से मेटल को काटा जाता है तब मेटल किस प्रकार का है उसकी जानकारी होनी चाहिए, क्योंकि सॉफ्ट मेटल काटने के इसका एंगल कम कर दिया जाता है, और हार्ड मेटल को काटने के लिए इसका एंगल को बड़ा दिया जाता है. इस छेनी के साइड को थोडा कट किया जाता है. ताकि कटिंग करते समय यह बिच में फस न जाये। इसका उपयोग पुराने रेवेंट को निकलने और जंग लगे नट बोल्ट की काटने के लिए भी किया जाता है.

 

हाफ राउंड छेनी – HALF ROUND CHISEL :-

इस तरह की छेनी का उपयोग जादातर ऑटोमोबाइलवर्क शॉप वाले करते है. क्योकि जब जॉब पर आयल Grooves बनाये जाते है तब इस छेनी का उपयोग किया जाता है. बेअरिंग चेंनल बनाने की लिए भी इस छेनी का उपयोग किया जाता है. इस चिझल को हार्ड फोर्जिंग के व्दारा बनाया जाता है. किसी भी जॉब पर ड्रिल करते समय ड्रिल आउट हो जाता है, तब इस छेनी के व्दारा उसे सेंटर में लाया जाता है.

 

डायमंड पॉइंट छेनी – DIAMOND POINT CHISEL :-

इस तरह की छेनी चौरस और टेपर की होती है. इसे भी फोर्ज करके बनाया जाता है, इसका मुह बहुत ही नुकीला होता है, जिसके कारन किसी भी जॉब की V शेप के खांचे आसानी से बनाये जाते है. और इसी के व्दारा फ्लैट जॉब के पउपर भी V शेप की झिरी को आसानी से बनाये जाते है, और इसके नाम से ही जाना जाता है की इसके पॉइंट पर डायमंड लगा है.

 

क्रॉस कट छेनी – CROSS CUT CHISEL :-

दोस्तों आप सायद जानते होंगे की छेनी के बहुत से प्रकार होते है और उन में से एक प्रकार क्रॉस कट छेनी का भी है, इस छेनी से जॉब पर काम करते समय इस छेनी व्दारा झिरिया या खांचे बनाये जाते है, इस छेनी का कटिंग पॉइंट कम होता है ताकि चिपिंग या खांचे बनाते समय वह फस न जाये। इस छेनी का उपयोग कभी-कभी फ्लैट छेनी की जगह भी किया जाता है, और फ्लैट छेनी से रिवेट नहीं कर सकते वहां पर इस छेनी का प्रयोग किया जाता है.

Read More – Engine kaise work karta hai

 

साइड कट छेनी – SIDE CUT CHISEL :-

जहां पर कभी फ्लैट छेनी का प्रयोग नहीं कर सकते वहां पर इस छेनी का प्रयोग किया हा सकता है. इस छेनी से Grooves को बनाया या काटा जा सकता है. इसका कटिंग पॉइंट एक और मुडा हुआ होता है, और चिपिंग को साफ़ करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है.

 

सावधानिया – SAFETY PRECAUTION  :-

1. छेनी पर हैमर का प्रहार करने से पहले हेंडल को चेक कर लेना चाहिए,

2. छेनी और हेंडल पर किसी तरह का ऑइल लगा न रहे,

3. कभी भी मशरूमहेड वाली छेनी का प्रयोग नहीं करना चाहिए,

4. किसी भी जॉब की चिपिंग करना हो तो उसे चम्पर कर देना चाहिए, ताकि उसकी अच्छी तरह से चिपिंग हो सके,

यह भी पढ़े ☛ प्लायर्स का उपयोग कैसे करे

यह भी पढ़े ☛ Electrical कलर कोड का परिचय

 

5. जॉब को काटते समय छेनी की कटिंग एज को देखते रहना चाहिए,

6. चिपिंग या फिर कटिंग करते समय गिनती नहीं करनी चाहिए,

दोस्तों, उम्मीद है की आपको Chisel का उपयोग कैसे करे – How to use Chisel यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें. और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ.

धन्यवाद…

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…..

 

Author By :- Prashant Sayre Sir

 

यह भी जरुर पढ़े  :-

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट 

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स 

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग 

10.  पिस्टन रिंग का उपयोग 

11.  सफल होने का रहस्य 

Post Comments

error: Content is protected !!