How to use Die – Workshop me डाई का उपयोग कैसे करे?

डाई क्या है – What is die, डाई का उपयोग कैसे करे – How to use die, डाई का परिचय – Introduction of die, डाई का महत्व – Importance of die, डाई के बारे में जानकारी – Information about die, डाई के विविध प्रकार – Various types of die, इंजीनियरिंग वर्कशॉप में डाई का उपयोग – Use of die in Engineering Workshop, सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार दोस्तों apnasandesh.com में आप सभी का हार्दिक स्वागत करते है, आज के Technical वाले युग में हम आप को फिर एक बार इस और ले चलते है, आज के लेख में डाई के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते है.

How to use Die - Workshop me डाई का उपयोग कैसे करे?

 

How to use Die – Workshop me डाई का उपयोग कैसे करे :-

डाई क्या है – What is the Die :-

दोस्तों आप सायद जानते होंगे की टैपिंग करते समय किसी होल के अंदरूनी भाग को टैप किया जाता है, उसी तरह डाई भी एक ऐसा टूल है जो की थ्रेड्स बनाने का काम करता है. फर्क सिर्फ इतना है की टैप अन्दर की थ्रेड बनता है और डाई बहार की थ्रेड बनता है, जिसे हम External थ्रेड भी कहते है, किसी भी गोल रॉड या फिर पाइप के बाहरी भाग के उपर अगर थ्रेड बनाना है तो डाई का उपयोग किया जाता है.

डाई यह हाई कार्बन स्टील की बनी होती है, और इसे हार्ड और सकत कर दिया जाता है, इसलिए अलग से हाई स्पीड स्टील की भी डाई बनाई जाती है. डाई का आकार गोलाकार होता है, और यह अन्दर से V आकर की थ्रेड बनी होती है, इस थ्रेड पर कुछ कटिंग एज भी बनाये जताए है, डाई अपना काम करते समय एक तरफ से सुरु करके कुछ थ्रेड्स बनती है.

 

डाई के प्रकार – Types of die

सॉलिड डाई – solid die,

राउंड स्प्लिट डाई – round split die,

पाइप डाई – pipe die,

टू पिस एडजस्टेबल डाई – two piece adjustable die,

डाई प्लेट – die plate,

डाई नट – die nut,

 

सॉलिड डाई ( solid die ) :-

सॉलिड डाई यह एक ही मटेरियल की होती है, और सॉलिड होती है, इस डाई को किसी भी तरह से एडजस्ट नहीं किया जा सकता, और इसको कम ज्यादा भी नहीं किया जा सकता, इस डाई के अन्दर V आकार की थ्रेड्स बनी रहती है, और इसमें चार फ्लूट बने रहते है, इस फ्लूट के व्दारा एक ही बार में किसी भी जॉब पर मतलब रॉड या फिर पाइप पर एक ही बार में थ्रेड्स बनाई जा सकती है, इस डाई का उपयोग ज्यादा से ज्यादा पुराणी और ख़राब थ्रेड्स को रिपेयर करने के लिए कार्य करती है. इस तरह की डाई, डाई रैंच में फसाकर इसका उपयोग किया जाता है.

 

राउंड स्प्लिट डाई ( round split die ) :-

इस तरह की डाई एक ही तुकडे के बनी होती है, साइज़ में गोलाकार होने के साथ-साथ साइड में एक जगह पर स्लॉट कटा हुआ होता है, थ्रेड्स बनाने के लिए इसे एक डाई स्टॉक या फिर डाई हेंडल का उपयोग किया जाता है. इसमें डाई को पकड़ने के लिए हेंडल के ऊपर तिन स्क्रू दिए रहते है जिसके कारन डाई अच्छी तरह से फिट बैठ जाती है, और डाई में भी खाचे दिए रहते है जिसके कारन डाई स्टॉक या हेंडल का उपयोग करते समय डाई घूम नहीं सकती और न ही बाहर निकल सकती है.

 

पाइप डाई ( pipe die ) :-

पाइप डाई में डाई को एडजस्ट करने के लिए एक adjusting स्क्रू लगा होता है, और साथ में एक गाइड व्दारा बुश भी लगा होता है, जो पाइप को ठीक रखने का कार्य करता है, डाई से अलग-अलग पाइपो पर डाई किया जा सकता है जैसे की पानी, गैस, ऑइल, और पाइप पर भी थ्रेड बनाई जाती है, इस तरह के डाई में भी दो या चार बिट्स होते है, जिसे एक डाई हेंडल या फिर डाई स्टॉक में पकड़ा जाता है, जब भी डाई थ्रेड्स बनाने का कार्य करती है, तब गाइड बुश होने के कारन पाइप पर थ्रेड बड़ी आसानी से बनती रहती है, और थ्रेड्स टेढ़ी मेढ़ी नहीं बनती और अच्छी गहराई के साथ बनाई जाती है, इस डाई द्वारा काटी गयी थ्रेड्स टेपर की बनती है.

 

टू पिस एडजस्टेबल डाई ( two piece adjustable die ) :-

इस तरह के डाई में दो तुकडे होते है, और इन दो तुकडे से डाई बनाई जाती है, जिन्हें हम डाई बिट्स भी कहते है, इन डाई में V आकर की थ्रेड बनी होती है, थ्रेड के साथ साथ कटिंग एज बनी रहती है, और जिसके साथ चिप्स को बाहर निकालने के लिए बिट्स के बिच में ग्रूव होता है. इस डाई में भी और डाई की तरह ही कुछ थ्रेड्स टेपर में बनाई जाती है, इस डाई का उपयोग करते समय इन्हें एक डाई स्टॉक या फिर डाई हेंडल में फिट किया जाता है और हेंडल में लगे स्क्रू की सहायता से जितना चाहिए उतने बिट्स को कम या फिर ज्यादा एडजस्ट किया जाता है, और दो या फिर तिन बार में थ्रेड की गहराई पूरी कर ली जाती है.,

कंपनी और वर्कशॉप में इस तरह की डाई का बहुत जादा इस्तेमाल किया जाता है,क्योंकि इस डाई को साइज़ के अनुसार कम ज्यादा करके एडजस्ट किया जाता है, इस डाई का उपयोग बड़े रॉड पैर किया जाता है और इसे बहुत अधिक ताकत भी नहीं लगानी पड़ती.

Read More – Fasteners ka upyog kaise kare

Read More – Tread kya hai aur parichay

 

डाई प्लेट ( die plate ) :-

इस तरह की डाई कार्बन स्टील की बनी हुई होती है, और यह हार्ड होने के कारन इसकी सिरे पर एक प्लेट है, जिसके सिरे पर एक छोटा सा हेंडल लगा रहता है, इस तरह के डाई का उपयोग रेडिओ और बिजली के उपकरण में लगने वाले कम से कम पेचो पर थ्रेड काटने के लिए काम में लाया जाता है, इस प्लेट पर बहुत से छेद होते है, और अलग अलग साइज़ के threads कटी हुई होती है, इस डाई में टैप के सामान तिन होल दिए रहते है, और इसे पूरी गहराई थ्रेड काटने के लिए दिया जाता है, इस तरह के डाई का उपयोग सोनार लोग जादा करते है.

 

डाई नट ( die nut ) :-

इस तरह की डाई नट अनेक प्रकार के आकार की बनी हुई होती है, और इसमें चार या फिर छे फ्लूट कटे होते है, इस डाई का उपयोग पुराणी और ख़राब थ्रेड को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है, इस डाई को भी स्टॉक या फिर हेंडल और डाई रैच में पकड़कर थ्रेड्स बनाई जाती है.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको डाई का उपयोग कैसे करे – How to use Die यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें. और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ.

धन्यवाद…

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…..

 

Author By :- Prashant Sayre Sir

 

यह भी जरुर पढ़े  :-

1.  नए आविष्कार वाले हेलमेट 

2.  BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स 

3.  इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है 

4.  रस्ता संकेत 

5.  वाहनों का आविष्कार 

6.  पहिए का आविष्कार 

7.  पढाई कैसे करे 

8.  ट्रांसफोर्मर का कार्य 

9.  मल्टीमीटर का उपयोग 

10.  पिस्टन रिंग का उपयोग 

11.  सफल होने का रहस्य 

Post Comments

error: Content is protected !!