Truth of electrical resistance – (electricity) विद्युत प्रतिरोध का सच

प्रतिरोध का परिचय – Introduction to Resistance, विद्युत प्रतिरोध का सच – Truth of electrical resistance, प्रतिरोध की जानकारी – Resistance information प्रतिरोध का तापमान गुणांक – Temperature coefficient of resistance, बिजली का विरोध क्या है – What is the opposition of electricity, विद्युत विरोध का परिचय – Introduction to electrical resistance सभी जानकारी हिंदी में.

नमस्कार, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों आज के लेख में हम प्रतिरोध का सच तथा प्रतिरोध के परिचय के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे.

विद्युत प्रतिरोध का सच - Truth of electrical resistance

 

Truth of electrical resistance – (electricity) विद्युत प्रतिरोध का सच :-

दोस्तों पिछले लेख में हमने Ohm के नियम के बारे में जाना है. Ohm के नियम में देखा की बिजली प्रवाह सर्किट के बिजली दाब के सम प्रमाण में रहता है तब विरोध अपने व्यस्त प्रमाण में रहता है. यानी कि बिजली प्रवाह पर परिणाम करने वाला एक प्रमुख घटक मतलब ”विरोध” है.

इस विरोध की यंत्र प्रणाली घर्षण के बराबर है. यह तुलना सतह के ऊपर वाहन से होने वाले घर्षण के विरोध से कर सकते है.

बिजली विरोध क्या है :-

जब एक बोर्ड से बिजली प्रवाह आगे बढ़ने से रुकता है तब वह विरोध कहलाया जाता है. और जो वहां Critical Condition निर्माण होती है उसको ”बिजली विरोध” व्यक्त किया जाता है.

 

व्यवहारिक परिणाम :-

एक बोर्ड के एक व्होल्ट इतना बिजली दबाव देने पर जब 1 Ampere इतना बिजली प्रवाह बहते रहता है तब उस मंडल का विरोध 1 Ohm इतना रहता है.

 

अंतरराष्ट्रीय परिणाम :-

1.45 21 ग्राम Watt और 10 6.3 CM लंबार्ट रहनेवाला एक जैसा क्षेत्र का स्तम्भ 0 सेंटीग्राम तापमान पर रहता है वह विरोध मतलब याने ”अंतरराष्ट्रीय” 1 Ohm है.

 

किलो  Ohm :-

1. इस विरोध का उच्च परिणाम है.

2. 1 किलो Ohm = 1000 Ohm

3. सभी प्रकार के इलेक्ट्रिकल उपकरणों में विरोध किलो Ohm में गिना जाता है.

 

Mega Ohm :-

1. विरोध का अति उच्च परिणाम यह Mega Ohm है.

2. 1 Mega Ohm = 1000000 Ohm इतना है. और इस प्रकार के विरोध का उपयोग इलेक्ट्रिकल सर्किट में किए जाते हैं.

 

Micro Ohm :-

1. इस प्रकार के विरोध सूक्ष्म परिणाम में पाए जाते है.

2. 1 Micro Ohm = 10 लक्ष Mega Ohm भाग है.

3. धातु का विशिष्ट विरोध यह Micro Ohm से गिना जाता है.

विरोध पर परिणाम करने वाले घटक :-

Length

Cross sectional area

Metal

Temperature

 

लंबाई :-

वाहन की लंबाई बड़ी तो उसका विरोध बढ़ता है मतलब विरोधियों वाहक के सम प्रमाण में रहता है

क्रॉस सेक्शनल एरिया :-

वाहक का क्रॉस सेक्शनल एरिया बढ़ गया तो उसका विरोध कम होता है और फिर वाहक के विरोध को क्रॉस सेक्शनल एरिया से संबोधित किया जाता है.

धातु :-

वाहक का विरोध यह तो जिन धातु से बना रहता है उस पर ही अवलंबित रहता है. जैसे कि तांबा (विरोध कम करने वाला घटक), एलुमिनियम (विरोध ज्यादा करने वाला घटक), नायक्रोंन  (विरोध अधिक ज्यादा करने वाला घटक).

तापमान :-

कुछ धातु ऐसे रहते हैं कि उनका तापमान बढ़ता है तो उसका विरोध भी बढ़ता है. और कुछ धातु का तापमान बढ़ा ही है तो उसका विरोध कम होता है.

इस प्रकार, लंबाई, क्षेत्र, धातु और तापमान विरोध के संदर्भ में, नियम का व्याख्यान करते है. और यह लॉज ऑफ रजिस्ट्री से जाना जाता है.

Read More – How many Electrical testing equipment 

 

विशिष्ट प्रतिरोध :-

1. 1 सेंटीमीटर घन और 1 मीटर घन धातु का आगेका जो भाग रहता है उसमें मिलने वाला विरोध उस धातु का Specific Resistance कहलाता है.

2. यह विरोध कम रहने के कारण Micro Ohm में गिना जाता है.

3. विशिष्ट विरोध यह कांस्टेंट रहता है वह हर धातु का अलग अलग रहता है

विद्युत प्रतिरोध का सच - Truth of electrical resistance

R = ९ * L / a

R = धातुका विरोध

L = लंबाई

a = क्षेत्र

९ = धातुका विशिष्ट विरोध

विरोध का तापमान गुणांक :-

वाहक के वातावरण का तापमान यह वाहक के विरोध पर परिणाम करने वाला एक प्रमुख घटक है. कुछ धातु ऐसे भी है जिसका टेंपरेचर बढ़ा तो उनका विरोध भी बढ़ जाता है. विशेषता धातु का साधारण तापमान जब बढ़ने लगता है तब उसवक्त धातु का विरोध भी बढ़ता है.

ऐसी धातु का तापमान गुणांक सकारात्मक रहता है. जैसे Silver, copper, aluminum, bronze, zinc ऐसे धातु के साथ और तापमान के साथ होने वाली बढ़ोतरी एक जैसी होती है. और कुछ मिश्र धातु के तापमान में जब बाढ़ होती तब उनका विरोध कम से कम बढ़ता है.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको विद्युत प्रतिरोध का सच – Truth of electrical resistanceयह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ.

 

धन्यवाद.

हसते रहे – मुस्कुराते रहे.

 

Author By :- Yogesh Chaudhari

 

यह भी जरुर पढ़े

1. नीबू के महत्वपूर्ण गुण

2. पुदीना के जबरदस्त फायदे

3. पनीर सलाद कैसे बनाए

4. रक्त और हिमोग्लोबिन

5. विटामिन के लाभ

6. संतुलित आहार के फायदे

7. 5 ” S ” का महत्व

8. नए आविष्कार वाले हेलमेट

9. BS-4 वाहन के स्ट्रोंग फीचर्स

10. इलेक्ट्रिकल कैसे कम करती है

Post Comments

error: Content is protected !!