vahan ke black box system upyog – ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे

black box system upyog – क्या आप जानते है की वाहन के सड़क सुरक्षा के लिए नई तकनीक का आविष्कार हुआ है? अगर नहीं तो, फिर जान लेते है की. ब्लैक बॉक्स क्या है? What is a black box?, वाहन ब्लैक बॉक्स सिस्टम क्या है? vahan black box system kaise kam karti hai?, black box ka upyog kaise kare, ब्लैक बॉक्स से वाहन की सुरक्षा कैसे होती है, black box ki visheshtaye, A black box is in fact ट्रैकिंग सिस्टम, black box से करे वाहन की निगरानी, black box एक सुरक्षा डिवाइस, Information in Hindi.

black box system - ब्लैक बॉक्स से वाहन की सुरक्षा कैसे होती है, black box ki visheshtaye,

बदलते युग में Technology का आविष्कार इतना हो रहा है, की हर क्षेत्र में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कार्य किए जाते है. तथा आप जानते ही है की हमारे भारत वर्ष में गलत ड्राइविंग या नियमो के गलत उपयोग से दुर्धटनाए अधिक संख्या में हो रही है, इससे कुछ सिमित तक बचने के लिए वाहन के निगरानी तथा सुरक्षा संबंधी जानकारी के लिए ब्लैक बॉक्स सिस्टम का निर्माण किया है. यह प्रणाली वाहन के सभी कार्यो पर निगरानी रखती है. तो चलिए दोस्तों जानते है क्या है ”ब्लैक बॉक्स प्रणाली का उपयोग.

 

black box system – ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे :

A black box is in fact ट्रैकिंग सिस्टम – वाहन ब्लैक बॉक्स :

वाहन ब्लैक बॉक्स एक परम वाहन ट्रैकिंग सिस्टम है जो वाहन और उसमे रहने वालों की सुरक्षा और सावधानी को ध्यान में रखते हुए वाहन के प्रदर्शन और ड्राइवर के व्यवहार की निगरानी के लिए डैशबोर्ड पर स्थित होता है.

 

ब्लैक बॉक्स ट्रैकिंग सिस्टम :-

1. ट्रैक ऑन डिमांड,

2. उच्च शराब चेतावनी (मानार्थ),

3. ओवर स्पीड अलार्म,

4. फुटेज रिकॉर्डिंग,

5. एसएमएस – एपीपी के माध्यम से इंजन स्थिरीकरण,

 

ब्लैक बॉक्स सिस्टम रैश ड्राइविंग, दुर्घटनाओं के दौरान सहायता, आपके वाहन के साथ-साथ लोगों को सुरक्षा और सुरक्षा के मुद्दों को हल करने पर केंद्रित हैं.

वाहन ब्लैक बॉक्स को विशेष रूप से सुरक्षा और सावधानी को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है और इसमें कुछ अनोखे और विशेष फीचर्स जोड़े गए हैं जैसे कि ब्रेथ एनालाइजर (Breath analyzer) जिसका मुख्य उद्देश्य ड्राइवर के अल्कोहल स्तर का पता लगाना है.

अगर ड्राइवर ने शराब का सेवन अनुमेय सीमा से अधिक कर दिया है तो वाहन प्रज्वलन बंद हो जाता है जिससे ड्राइवर को गाड़ी चलाने की अनुमति नहीं मिलती है.

ब्रेथ एनालाइजर (Breath analyzer) क्या है और यह प्रणाली कैसे काम करती तथा इसका उपयोग कैसे होता है इस संबंधी सभी जानकारी हमने प्रकाशित की है. इसकी पूरी जानकारी (Read here) यहां पढ़े ☚.

 

Black Box की विशेषताएं –

1. इसमें कुछ विशेष विशेषताएं भी हैं जो वाहन की गति और त्वरण का पता लगाती हैं और तेज घुमावों के साथ-साथ ओवर स्पीडिंग आदि की विस्तृत रिपोर्ट देती हैं.

2. सिग्नल और साइनबोर्ड का भी पता लगाया जाता है और यदि उन्हें तोड़ा जाता है तो इस वाहन ट्रैकिंग सिस्टम द्वारा वाहन मालिक को एक सूचना दी जाती है.

3. यह एक थेफ्ट मॉनिटरिंग सिस्टम से भी लैस है जो वाहन को चोरी होने से रोकता है. तथा इसे एसएमएस भेजकर वाहन के प्रज्वलन को नियंत्रित किया जा सकता है.

4. डिवाइस में लगे कैमरे ड्राइवर के व्यवहार को जानने में मदद करते हैं, यह वाहन के अंदर और बाहर की लाइव वीडियो फुटेज देता है. इसमें पैनिक और पुश टू कॉल बटन भी होता है जो आपातकाल के समय में सहायक होता है. पैनिक बटन क्या है और इससे रिलेटेड जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे ☚.

5. कार बीमा (Car insurance), (third party car insurance), (car insurance companies) एक विशाल कार्य की तरह महसूस कर सकता है.

6. यही कारण है कि ब्लैक बॉक्स यह तय करने के लिए कि यह सबसे अच्छा विकल्प है, ब्लैक बॉक्स इंश्योरेंस के लाभों को एक साथ रखता है.

 

black box system – ब्लैक बॉक्स बीमा का लाभ :

यह आपको एक बेहतर ड्राइवर बना सकता है –

ब्लैक बॉक्स आपकी गति को मापने में मदत करता हैं, आप कितनी तेजी से बढ़ते हैं, ब्रेकिंग व्यवहार करते हैं और आप किस समय ड्राइव करते हैं. इस बात के प्रति सचेत रहना कि आपका ड्राइविंग आपके स्कोर को कैसे प्रभावित करता है और आप अपनी कार बीमा (insurance) के लिए क्या भुगतान करते हैं, यह निश्चित रूप से बदल जाएगा कि आप ड्राइविंग के बारे में कैसा महसूस करते हैं. इसका मतलब है कि समय के साथ आपकी ड्राइविंग में सुधार होगा, क्योंकि आप अपने स्कोर को बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे.

 

अगर आप किसी दुर्घटना में हैं तो साक्ष्य –

ब्लैक बॉक्स के बारे में सबसे अच्छी चीजों में से एक यह है कि उनका उपयोग यह साबित करने के लिए किया जा सकता है कि दुर्घटना में गलती किसकी थी, यदि दूसरा ड्राइवर निर्णय लेता है कि वे जिम्मेदारी स्वीकार नहीं करना चाहते हैं, तो आप अपने ब्लैक बॉक्स बीमा प्रदाता से डेटा की जांच करने के लिए पूछ सकते हैं कि वास्तव में क्या हुआ था.

कार खो गई हैं या चोरी हो गई हैं तो आप अपनी कार का पता लगा सकते हैं –

हालांकि इसकी संभावना नहीं है कि आप अपनी कार खो देंगे, लेकिन आपकी गाड़ी चोरी हो जाती है तो ब्लैक बॉक्स शानदार होते हैं. ब्लैक बॉक्स प्रदाता – जैसे कि वाइस ड्राइविंग – यह ट्रैक कर सकता है कि आपका वाहन जीपीएस (GPS) के माध्यम से कहां है और सही लोगों को उसके स्थान पर सूचित कर सकते है. यह जानकर थोड़ा सुकून मिलता है कि अगर ऐसा कुछ होना चाहिए और चोर पकड़ा जा सकता है.

 

आपके पैसे बचा सकता है –

आप जितना सुरक्षित ड्राइव करेंगे, आपको उतना ही कम भुगतान करना पड़ेगा. जिस तरह से आप ड्राइव करते हैं, उसे एक स्कोर दिया जाता है, जो आपके बीमा प्रदाता (insurance provider) से पैसे वापस प्राप्त कर सकता है यदि यह एक अच्छा है. Other wise ड्राइविंग में, आपके ड्राइविंग स्कोर की गणना 100 में से करते हैं – यह तब प्रभाव डालता है कि आप अपने बीमा के लिए कितना भुगतान करते हैं.

बेशक, यह महत्वपूर्ण है कि आप जांच करें कि आपके द्वारा चुनी गई नीति के साथ क्या पुरस्कार आते हैं.

black box system upyog

यह पता लगा सकता है कि क्या आपके साथ कोई दुर्घटना हुई है –

आपके ब्लैक बॉक्स ट्रैक, जहां आप ड्राइविंग कर रहे हैं और वाइस ड्राइविंग के टेलीमैटिक्स बॉक्स (Telematics box) में एक दुर्घटना चेतावनी सुविधा शामिल है, जो बताती है कि क्या आप एक निश्चित जी-फोर्स से टकराव में शामिल थे, यदि ऐसा होता है, तो आपसे यह पता लगाने का प्रयास करते है कि क्या आप ठीक हैं.

कृपया ध्यान दें, यह सुविधा केवल तभी उपलब्ध है जब आपके पास अपनी कार में एक ब्लैक बॉक्स स्थापित हो.

black box system upyog

आपका डेटा हमेशा निजी और सुरक्षित होता है –

1. जब ब्लैक बॉक्स की घोषणा की गई, तो बहुत से लोगों ने चिंता जताई कि वे मूल रूप से ‘बिग ब्रदर’ की तरह  नज़र तो नहीं रखेंगे या निगरानी या Privacy को चुरा तो नहीं लेंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं यह बिलकुल सुरक्षित रूप से दायर किया जाता है और केवल तब उपयोग किया जाता है जब जरूरत होती है.

2. इसे किसी अन्य के साथ साझा नहीं किया जाता है जब तक कि यह एक दावे के उद्देश्य के लिए नहीं है, या यदि पुलिस किसी घटना के बाद इसका अनुरोध करती है,

3. केवल आपके और आपके बीमाकर्ता द्वारा देखा जा सकता है.

4. आपको ब्लैक बॉक्स को बनाए रखने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह आपके ड्राइविंग को पृष्ठभूमि में ट्रैक करता है.

 

black box system ke jaruri facts –

1. जीपीएस ट्रैकिंग (Gps tracking)

2. ट्रैक ऑन डिमांड (Track on demand)

3. रैश ड्राइविंग (Rash driving)

4. घबराहट होना (panic button)

5. एसएमएस / एपीपी के माध्यम से इंजन स्थिरीकरण (Engine stabilization via SMS / APP (upcoming feature))

6. ई-सिम (E-sim (upcoming feature))

Vehicle BlackBox डिवाइस एक पैनिक बटन के साथ आता है, जिसका उपयोग किसी दुर्घटना या वाहन के टूटने या किसी अन्य आपात स्थिति में, पूर्व निर्धारित नंबरों पर एसएमएस के माध्यम से वाहन स्थान भेजने के लिए किया जा सकता है.

 

vahan black box system kaise kam karti hai – black box ka upyog kaise kare

दोस्तों, उम्मीद है की आपको black box system – ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद…

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…..

black box ki visheshtaye

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. Maha Career Portal par Login kaise kare

2. मौसम विज्ञानी कैसे बनें

3. खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology) में career कैसे बनाये

4. 12th के बाद पैरामेडिकल साइंस में करियर कैसे बनाये

5. शहरी नियोजन में करियर कैसे बनाये

6. ऑटोमोटिव इंजीनियर कैसे बने

7. 10th ka result kaise check kare

8.बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये

9. मेडिकल इंजीनियर कैसे बने

10.माइक्रोबायोलॉजी में करियर कैसे बनाये

11. पेस्टीसाइड वैज्ञानिक कैसे बने

12. मीडिया डायरेक्टर कैसे बने

13. Rain Gage बनाने के आसान तरीके

14. Ranu Mondal के बारे में रोचक बाते

15. सौर ऊर्जा का महत्व

16. Dhvani Bhanushali के बारे में रोचक बातें

 

1. क्या ब्लैक बॉक्स में GPS होता है?

Yes,

2. क्या ब्लैक बॉक्स एक अच्छा डिवाइस है?

हा, बिलकुल..

3. क्या एक कार ब्लैक बॉक्स रिकॉर्ड आवाज करता है?

विमान ब्लैक बॉक्स के विपरीत, अधिकांश वाहन ब्लैक बॉक्स वाहन के अंदर ऑडियो या वीडियो फुटेज रिकॉर्ड नहीं करते हैं. इसके बजाय, ये बॉक्स ड्राइवर के ओवर-स्पीडिंग और हार्ड-ब्रेकिंग पैटर्न जैसे ड्राइविंग व्यवहार की जानकारी रिकॉर्ड करते हैं और ऐसे उदाहरणों के मालिक को सचेत करते हैं.

Post Comments

error: Content is protected !!