खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology me career) में रोजगार कैसे बनाये

तेजी से बदलती जीवन शैली और महानगरीय संस्कृति में खाद्य प्रौद्योगिकी (Food technology) को महत्व दिया जा रहा है. अगर आप भी इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा पढ़ें. Food Technology me career kaise kare in Hindi, हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से पूरी जानकारी देंगे, तो चलिए जानते है. food technology में रोजगार कैसे बनाये, food technology rojgar kendra kaise kare, food technology ke fayde, food technology में रोजगार के अवसर, food technology me naukri kaise kare. food engineer करियर विकल्प, सभी जानकारी हिंदी में.

खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology me career) में रोजगार कैसे बनाये

विभिन्न खाद्य उत्पादों की जैविक समृद्धि सुनिश्चित करने और सुरक्षित और पोषण से भरपूर खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए खाद्य प्रौद्योगिकी पेशेवरों की आवश्यकता होती है. खाद्य प्रौद्योगिकी पेशेवरों की जिम्मेदारियों में विभिन्न पोषण समृद्ध खाद्य पदार्थों का संरक्षण और किसी भी प्रकार के क्षय को रोकना शामिल है. खाद्य प्रौद्योगिकी पेशेवर विभिन्न फास्ट फूड आइटम, पोषण संबंधी भोजन, सामग्री, स्नैक्स इत्यादि लॉन्च करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

 

खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology me career) में रोजगार कैसे बनाये :

food engineer करियर विकल्प :

भारत में लगभग 30 मिलियन की आबादी प्रसंस्कृत और डिब्बे में बंद किया हुआ भोजन का उपयोग करती है. यही नहीं, बल्कि भारत दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा फल और सब्जी उत्पादक देश है. जब प्रसंस्कृत भोजन बनाने वाली बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ (Food Processing Industries) दुनिया भर से भारत आती हैं. तो ऐसे में खाद्य प्रौद्योगिकी के भविष्य की कल्पना और भी beautiful की जा सकती है.

खाद्य प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में न केवल निजी क्षेत्र में कई अवसर उपलब्ध हैं, बल्कि खाद्य सुरक्षा और पोषण सुरक्षा, कृषि क्षेत्र में अनुसंधान, विभिन्न शिक्षा और अनुसंधान संस्थानों से संबंधित विभिन्न सरकारी विभागों और संगठनों में भी विकल्प उपलब्ध हैं.

कृषि मंत्रालय, राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन संस्थान और विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों के संबद्ध संगठन समय-समय पर खाद्य प्रौद्योगिकी की भर्ती करते हैं.

 

यह भी पढ़े 

1.ब्रांड मार्केटिंग मैनेजर कैसे बने

2. स्मार्ट एम्प्लॉयमेंट कार्ड कैसे बनाये

3. डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन में दाखिला कैसे लें

खाद्य प्रौद्योगिकी के लिए पात्रता/योग्यता :-

1. यदि आप खाद्य प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान या गणित विषयों के साथ 10 + 2 में कम से कम 50 प्रतिशत अंक आवश्यक हैं,

2. MSc कोर्स करने के लिए फूड टेक्नोलॉजी से संबंधित विषयों में स्नातक की डिग्री आवश्यक है,

3. फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सरकारी नौकरी (Government Job) पाने के लिए उम्मीदवार को फूड टेक्नोलॉजी या Food Technology and Management, Food Science and Technology, Food Process Engineering, Dairy Engineering, Dairy Technology, के क्षेत्र में योग्य स्नातक की डिग्री (BE/BTech) होनी चाहिए,

4. किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या शैक्षणिक संस्थान से कृषि और खाद्य इंजीनियरिंग, डेयरी और खाद्य इंजीनियरिंग, अधिक जानकारी ☛ Food technology College and University ☚

5. वरिष्ठ पदों के लिए, खाद्य प्रौद्योगिकी या संबंधित क्षेत्र में मास्टर डिग्री आवश्यक है, यह एजुकेशन पूरा करने के लिए Education Loan भी किसी मान्यता प्राप्त बैंक से दिया जाता है.

6. खाद्य प्रौद्योगिकी शिक्षा संस्थानों में संकाय की स्थिति के लिए, संबंधित क्षेत्र में PHD होना आवश्यक है,

 

कोर्स की अवधि :

1. खाद्य प्रौद्योगिकी में BSc (3 वर्ष)

2. खाद्य पोषण और संरक्षण में BSc (3 वर्ष)

3. फूड इंजीनियरिंग में B.Tech (4 वर्ष)

4. खाद्य प्रौद्योगिकी में MSc (2 वर्ष)

 

अध्ययन का प्रकार क्या है :

खाद्य प्रौद्योगिकी और संबंधित पाठ्यक्रमों में भोजन के उचित रखरखाव से लेकर पैकेजिंग, फ्रीज़िंग इत्यादि तक की तकनीकी जानकारी शामिल है,इसके तहत पोषण संबंधी अध्ययन, फल, मांस, सब्जी और मछली प्रसंस्करण आदि से संबंधित जानकारी भी दी जाती है,

Food Engineer – व्यक्तिगत कौशल :

1. खाद्य प्रौद्योगिकीविदों को वैज्ञानिक दिमाग होना जरुरी है,

2. उसे प्रौद्योगिकी विकास, स्वास्थ्य और पोषण में रुचि होनी चाहिए,

3. इसके साथ ही जिम्मेदारी और टीम के साथ काम करना भी जरूरी है,

4. इसमें अच्छी कम्युनिकेशन स्किल भी होनी चाहिए,

खाद्य प्रौद्योगिकी के लिए चयन प्रक्रिया –

1. खाद्य प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विभिन्न पदों के लिए उम्मीदवारों के चयन में नियुक्ति के लिए पद का स्तर भिन्न होता है.

2. आमतौर पर उम्मीदवारों का चयन academic records, लिखित परीक्षा (Written exam) और व्यक्तिगत साक्षात्कार (personal interview) में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है.

3. यदि अनुबंध के आधार पर नियुक्ति की जानी है तो शैक्षणिक रिकॉर्ड और व्यक्तिगत साक्षात्कार के आधार पर उम्मीदवारों का चयन किया जा सकता है.

 

Food Engineer – वर्क प्रोफाइल :

1. विकसित देशों की तुलना में भारत में खाद्य प्रौद्योगिकी और प्रसंस्करण उद्योग तुलनात्मक रूप से पिछड़ा हुआ है.

2. जैसे, हमारे देश में खाद्य प्रौद्योगिकी और प्रसंस्करण उद्योग सदियों पुराना है. प्राचीन काल से, महिलाएं अपने घरों में अचार-जैम, अमचूर आदि बनाती रही हैं, लेकिन यह अभी भी एक कुटीर उद्योग है.

3. लेकिन अब, धीरे-धीरे, दुनिया के साथ, हमारे देश में आधुनिक खाद्य प्रौद्योगिकी और प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित की जा रही हैं. इन इकाइयों से उत्पादित उत्पादों की गुणवत्ता विश्व स्तर की है.

4. खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता, स्वाद और उपस्थिति को बनाए रखने के लिए सभी कार्यों को शामिल करता है.

5. जैसे कि मक्खन, शीतल पेय, जैम और जेली, फलों का रस, बिस्कुट, आइसक्रीम आदि. इसके अलावा, वह कच्चे और तैयार सामग्रियों की गुणवत्ता, भंडारण और स्वच्छता आदि की निगरानी भी करता है.

 

नौकरी कहा कर सकते है :

1. कृषि पर आधारित खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology) के क्षेत्र में कैरियर की बहुत अच्छी संभावनाएं हैं.

2.एक अनुमान के मुताबिक, इस सेक्टर में हर साल ढाई लाख से ज्यादा नई नौकरियां मिलती है.

3. खाद्य प्रौद्योगिकी का उपयोग करके बहुत बड़ी मात्रा में खाद्य प्रसंस्करण करके, उन्हें खराब होने से बचाया जा सकता है और बेहतर गुणवत्ता और पौष्टिक खाद्य पदार्थों को बाजार में खपत के लिए उपलब्ध कराया जा सकता है.

4. इससे रोजगार के अवसरों में भी भारी वृद्धि होगी, विभिन्न संगठनों में रोजगार खाद्य प्रौद्योगिकीविदों के लिए एक अच्छा अवसर है. इनमें सरकार, सहकारी और विभिन्न बहुराष्ट्रीय कंपनियां शामिल हैं.

5. Food Technologist Product Development, Manager, Researcher, Quality Assurance Manager, Laboratory Supervisor, Food Packing Manager, Food Processing Technician, BIS-AGMARK Inspection, Food Inspector आदि के रूप में भी नियुक्ति की जाती है. खाद्य प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद, इन में से एक नौकरी प्राप्त की जा सकती है.

6. खाद्य उद्योग, होटल, अस्पताल, पैकेजिंग उद्योग, सॉफ्ट ड्रिंक फैक्ट्री, राइस मिल आदि में आप फूड टेक्नोलॉजी का कोर्स करके स्वरोजगार भी कर सकते हैं.

7. इसके अलावा, एक तकनीकी संस्थानों में शिक्षक या प्रशिक्षक के पद पर भी काम कर सकता है.

 

वेतन पैकेज :

1. इस क्षेत्र में, आप प्रारंभिक स्तर पर 8 से 12 हजार रुपये प्रति माह आसानी से कमा सकते हैं.

2. अनुभव के बाद, आप प्रति माह या उससे भी अधिक 30 हजार रुपये कमा सकते हैं.

3. अगर आप स्वरोजगार से जुड़ते हैं, तो आपकी कमाई और बढ़ सकती है.

 

दोस्तों, उम्मीद है की आपको खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology me career) में रोजगार कैसे बनाये यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद…

हसते रहे – मुस्कुराते रहे…..

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े….

information article   information article
1. बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये 1. Rain Gage बनाने के आसान तरीके
2. मेडिकल इंजीनियर कैसे बने 2. Ranu Mondal के बारे में रोचक बाते
3. माइक्रोबायोलॉजी में करियर कैसे बनाये

4. पेस्टीसाइड वैज्ञानिक कैसे बने

5. मीडिया डायरेक्टर कैसे बने

3. सौर ऊर्जा का महत्व

4. Dhvani Bhanushali के बारे में रोचक बातें

5. यातायात के नए नियम 2019

 

Post Comments

error: Content is protected !!