How to classify automobiles vehicle – ऑटोमोबाइल वाहनों का वर्गीकरण कैसे करे

ऑटोमोबाइल्स का वर्गीकरण कैसे करे. How to classify automobiles vehicle, वाहनों का वर्गीकरण कैसे करे. Automobile vahano ka vargikaran kaise kare, वाहन उपयोग और जाँच कैसे करे, in हिंदी.

प्रिय पाठक को हमारा नमस्कार, दोस्तों आज फिर आपके लिए ऑटोमोबाइल वाहनों के रहश्यमय प्रकार और उपयोग के बारे में जानकारी दी जा रही है. दोस्तों आपको आज के लेख में हम वाहनों के प्रकार के बारे जानेंगे, Introduction to the Type of Automobile Vehicle, वाहन कितने प्रकार के होते है, यह जानकारी आपकी भाषा में प्रस्तुत की जा रही है उम्मीद है आप इसे पसंद करेंगे.

How to classify automobiles vehicle - ऑटोमोबाइल वाहनों का वर्गीकरण कैसे करे

दोस्तों यदि आप इस पोस्ट को पसंद करते हैं, तो इसे फेसबुक, ट्विटर, Whats App पर अपने दोस्तों के साथ साझा जरुर करें. शेयरिंग बटन पोस्ट के तुरंत बाद ही हैं, उन पर क्लिक करें और उन्हें अपने परिचितों से साझा जरुर करें, तो चलिए दोस्तों जानते है इसके बारे में विस्तृत जानकारी.

 

How to classify automobiles vehicle – ऑटोमोबाइल वाहनों का वर्गीकरण कैसे करे :

ऑटोमोबाइल (या मोटर वाहन) एक वाहन है जो स्वयं को सक्षम करने में सक्षम है. सत्रहवीं शताब्दी के बाद से, व्यावहारिक रूप से ऑपरेटिव ऑटोमोबाइल के डिजाइन और निर्माण के लिए कई प्रयास किए गए हैं.

आज, ऑटोमोबाइल किसी भी देश के सामाजिक, आर्थिक और औद्योगिक विकास में एक अकल्पनीय भूमिका निभाते हैं.

आंतरिक दहन इंजन की शुरूआत के बाद,ऑटोमोबाइल उद्योग (मोटर वाहन उद्योग) में जबरदस्त वृद्धि देखी गई है.

दोस्तों इसके पिछले लेख में हमने ऑटोमोबाइल प्रणाली के बारे में विस्तार से जानकारी दी है. यदि आपने यह जानकारी प्राप्त नहीं की है तो यहां क्लिक करे. तो दोस्तों आज फिर उसी लेख को पूरा करते हुए आपको बताना चाहेंगे की डिझेल इंजिन में फ्यूल सप्लाई कैसे करते है. तो चलिए दोस्तों जानते है इसके बारे में.

 

इस लेख में निम्नलिखित भाग हैं:

1. ऑटोमोबाइल का परिचय,

2 ऑटोमोबाइल्स का वर्गीकरण,

3. उद्देश्य के आधार पर,

4. क्षमता के आधार पर,

5. ईंधन स्रोत पर आधारित,

6. ट्रांसमिशन के प्रकार के आधार पर,

7. पहियों की संख्या के आधार पर,

8. ड्राइव के आधार पर,

 

ऑटोमोबाइल का वर्गीकरण:

ऑटोमोबाइल को कई मानदंडों के आधार पर कई प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है. ऑटोमोबाइल का एक संक्षिप्त वर्गीकरण नीचे सूचीबद्ध है:

 

यह भी पढ़े :-

1. CRDI के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करे

2. MPFI के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करे

3. SI Engine में फ्यूल सप्लाई कैसे करें

4. CI Engine में फ्यूल सप्लाई कैसे करें

 

उद्देश्य के आधार पर:

यात्री वाहन – ये ऑटोमोबाइल यात्रियों को ले जाते हैं – जैसे: बसें, यात्री ट्रेनें, कारें

माल वाहन – इन वाहनों का उपयोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर माल के परिवहन के लिए किया जाता है। उदा: माल लॉरी, माल वाहक,

 

क्षमता के आधार पर:

भारी मोटर वाहन (HMV) – बड़े और भारी मोटर वाहन – जैसे: बड़े ट्रक, बसें,

लाइट मोटर व्हीकल (LMV) –छोटे मोटर वाहन – जैसे: कारें, जीप,

मध्यम वाहन – अपेक्षाकृत मध्यम आकार के वाहन – जैसे: छोटे ट्रक, मिनी बसें,

 

ईंधन स्रोत पर आधारित:

पेट्रोल इंजन वाहन – पेट्रोल इंजन द्वारा संचालित ऑटोमोबाइल – जैसे: स्कूटर, कार, मोपेड, मोटरसाइकिल,

डीजल इंजन वाहन – डीजल इंजन द्वारा संचालित ऑटोमोटिव – जैसे: ट्रक, बसें,

गैस वाहन – वे वाहन जो बिजली के स्रोत के रूप में गैस टरबाइन का उपयोग करते हैं – जैसे: टर्बाइन संचालित कारें,

सौर वाहन – सौर ऊर्जा द्वारा संचालित वाहन – जैसे: सौर ऊर्जा से चलने वाली कारें,

हाइड्रोजन वाहन – वे वाहन जिनके पास हाइड्रोजन एक शक्ति स्रोत के रूप में है – जैसे: होंडा FCX स्पष्टता,

इलेक्ट्रिक वाहन – ऑटोमोबाइल जो बिजली के स्रोत के रूप में बिजली का उपयोग करते हैं – जैसे: इलेक्ट्रिक कारें, इलेक्ट्रिक बसें,

 

यह भी जरुर पढ़े :-

1. वाहनों का आविष्कार

2. पहिए का आविष्कार

3. मल्टीमीटर का उपयोग

4. पिस्टन रिंग का उपयोग

 

स्टीम इंजन वाहन – स्टीम इंजन द्वारा संचालित ऑटोमोटिव – जैसे: स्टीमबोट, स्टीम लोकोमोटिव, स्टीम वैगन,

हाइब्रिड वाहन – वे वाहन जो दो या अधिक अलग-अलग बिजली स्रोतों का उपयोग करते हैं – जैसे: हाइब्रिड बसें, हाइब्रिड कारें जैसे टोयोटा प्रियस, होंडा लाइट,

हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वाहन (HEV) –ऑटोमोबाइल जो आंतरिक दहन इंजन और इलेक्ट्रिक पावर स्रोत दोनों का उपयोग खुद को प्रेरित करने के लिए करता है – जैसे: जगुआर C-X75,

 

ट्रांसमिशन के प्रकार पर आधारित:

ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन वाहन – ऑटोमोबाइल्स जो गियर अनुपात को स्वचालित रूप से बदलने में सक्षम हैं, जैसे कि वे चलते हैं – जैसे: स्वचालित ट्रांसमिशन कारें,

पारंपरिक ट्रांसमिशन वाहन – ऑटोमोटिव, जिनके गियर अनुपात को मैन्युअल रूप से बदलना होगा,

अर्ध-स्वचालित ट्रांसमिशन वाहन – वे वाहन जो क्लच पेडल के साथ मैनुअल गियर बदलने की सुविधा देते हैं,

 

पहियों की संख्या के आधार पर:

टू व्हीलर – दो पहिया वाले ऑटोमोबाइल – जैसे: स्कूटर, मोटरसाइकिल,

थ्री व्हीलर – तीन पहियों वाले मोटर वाहन – जैसे: तिपहिया वाहन, ऑटो रिक्शा, टेम्पो,

फोर व्हीलर – चार पहिया वाले वाहन – जैसे: कार, जीप,

सिक्स व्हीलर – भारी परिवहन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले छह पहिए वाले ऑटोमोबाइल – जैसे: बड़े ट्रक, बड़ी बसें,

 

ड्राइव के पक्ष पर आधारित:

लेफ्ट हैंड ड्राइव ऑटोमोबाइल – वाहन जिसमें स्टीयरिंग व्हील बाएं हाथ पर फिट किया जाता है – जैसे: संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस में पाए जाने वाले ऑटोमोबाइल,

राइट हैंड ड्राइव ऑटोमोबाइल – वाहन जिसमें स्टीयरिंग व्हील को दाहिने हाथ की तरफ लगाया जाता है – जैसे: भारत में पाए जाने वाले ऑटोमोबाइल,

यदि आप ऑटोमोबाइल के वर्गीकरण के किसी अन्य तरीके को जानते हैं, तो हमें जरूर बताने का प्रयास करे.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको How to classify automobiles vehicle – ऑटोमोबाइल वाहनों का वर्गीकरण कैसे करे यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद…

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. Maha Career Portal par Login kaise kare

2. मौसम विज्ञानी कैसे बनें

3. खाद्य प्रौद्योगिकी (Food Technology) में career कैसे बनाये

4. 12th के बाद पैरामेडिकल साइंस में करियर कैसे बनाये

5. शहरी नियोजन में करियर कैसे बनाये

6. ऑटोमोटिव इंजीनियर कैसे बने

7. 10th ka result kaise check kare

8.बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये

9. मेडिकल इंजीनियर कैसे बने

10.माइक्रोबायोलॉजी में करियर कैसे बनाये

11. पेस्टीसाइड वैज्ञानिक कैसे बने

12. मीडिया डायरेक्टर कैसे बने

Post Comments

error: Content is protected !!