How to make a career in Epigraphy – एपिग्राफिस्ट कैसे बनें

Epigraphy me Career kaise banaye. (How to make a career in Epigraphy), पुरालेखवेत्ता (एपिग्राफिस्ट) कैसे बनें. Epigraphist Kaise bane in Hindi, एपिग्राफी में भविष्य (Future) कैसे बनाएं. in Hindi.

How to make a career in Epigraphy - एपिग्राफिस्ट कैसे बनें

 

How to make a career in Epigraphy – एपिग्राफिस्ट कैसे बनें:

Epigraphy me career kaise banaye: दोस्तों अगर आपका भी 12th के बाद इतिहास विषय में वैज्ञानिक बनाना चाहते है, तो इस पोस्ट में, हम आपको 12th के बाद करियर के बारे में जानकारी देंगे, (How to become a Epigraphist), एपिग्राफी में रोजगार के अवसर, एपिग्राफिस्ट बनने के करियर टिप्स जाने,

एपिग्राफी एक ऐसा नाम है जिससे ऐतिहासिक अवशेषो, प्राचीन सभ्यता और संस्कृति से जुड़े सत्य को जानना या पहचानना है. इस विषय से हर कोई व्यक्ति परिचित है. इसीलिए यह विषय नौकरी पाने के लिए एक बेहतर करियर विकल्प है. अब के युग में हर कोई चाहता है की उसे अच्छी सरकारी नौकरी मिले तो इसके लिए आप इस विभाग में चयन करे क्योंकि यहां काम करना बेहतरीन अनुभव है. क्योंकि यहां हमें प्राचीन सभ्यता से जुड़े इतिहास के बारे में हजारों साल पुरानी संस्कृति का पता चलता है.

इसीलिए यह सरकार का एक बहुत ही महत्वपूर्ण और क्रिएटिव विभाग है. यहाँ से हमें इतिहास से जुड़े रहस्यों के बारे में जानकारी मिलती है. क्या आप पुराने संस्कृति के रहस्यों को जानना चाहेंगे? यदि हां तो इस विभाग में अपना करियर बनाये? क्योंकि यह एक कुशल तथा क्रिएटिव विभाग है.

इस विभाग में नौकरी करने के लिए किसी भी स्थानीय संस्थान से एपिग्राफी में करियर (career in Epigraphy) या डिप्लोमा करना पड़ता है. बहुत कम लोग इसके बारे में जानते हैं. जिसके कारण आज के छात्र इस विषय के बारे में अधिक नहीं जान पा रहे हैं, इसीलिए हम आपको इसके बारे में विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं, इसे ध्यान से पढ़ें.

 

एपिग्राफी में करियर कैसे बनाये (How to make a career in Epigraphy):

A. सामान्य शब्दों में कहा जाये तो, एपिग्राफी वह व्यक्ति होता है जो ऐतिहासिक अवशेषों के आधार पर प्राचीन सभ्यता और संस्कृति से पूर्वानुमान करता है. एपिग्राफी के कई अलग-अलग प्रकार हैं:

1. प्राचीन संस्कृति की पूर्वानुमान,
2. Archeology,
3. प्राचीन सभ्यता में शोधकर्ता,
4. ऐतिहासिक अवशेष खोजकर्ता,

B. एपिग्राफी विज्ञान एक कठिन विषय है, जिसके लिए उच्च गणित, उन्नत भौतिकी, इतिहास और रसायन विज्ञान में पूर्व/ सह-अपेक्षित ज्ञान के साथ-साथ एक अच्छा कंप्यूटर प्रवीणता की आवश्यकता होती है.

Read More – History me career kaise banaye

 

एपिग्राफी में कैरियर:

यदि आप धूल में छिपे सबूतों के आधार पर इतिहास का निर्माण करने के लिए दिलचस्प हैं, तो आप ऐतिहासिक अवशेषों के आधार पर प्राचीन सभ्यता और संस्कृति से संबंधित तथ्यों और सूचनाओं को दुनिया के सामने लाने का चुनौतीपूर्ण कार्य करने के लिए तैयार हैं. तो जाने कैसे बनाये epigraphy के क्षेत्र में अपना करियर?

READ MORE:

मृदा (प्लांट) विज्ञानी कैसे बनें

खगोल विज्ञानी कैसे बनें

मानविकी में करियर कैसे बनाये

 

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एपिग्राफी में में नौकरी):

16 वीं शताब्दी से एपिग्राफी का विज्ञान लगातार विकसित हो रहा है. एपिग्राफी के सिद्धांतों में संस्कृति द्वारा संस्कृति बदल रही है,

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) 1861 में स्थापित किया गया था. तब से, अभिलेखागार की खोज, जांच और संरक्षण एएसआई द्वारा किया गया है.

अभिलेखागार की खोज प्रमुख गतिविधियों में से एक है. अभिलेखागार के अध्ययन के लिए सर्वेक्षण की एक अलग शाखा है. संस्कृत और द्रविड़ शिलालेखों और सिक्कों के अध्ययन के लिए और नागपुर में अरबी और फारसी अभिलेखागार और सिक्कों के अध्ययन के लिए इसका मुख्यालय मैसूर में है.

एपिग्राफी ब्रांच ऑफिस लखनऊ और चेन्नई ये दो मुख्यालय दो अलग-अलग निदेशकों के नेतृत्व में कार्य करते हैं.

 

पुरालेखवेत्ता (एपिग्राफिस्ट) कैसे बनें (एपिग्राफी क्या है?):

आज के Technology के युग में, विज्ञान की एक शाखा है जो हमारे शानदार इतिहास के बारे में जानना हमेशा महत्वपूर्ण रहा है. यह विभिन्न प्राचीन भाषाओं और संकेतों के साथ रहस्यमय पांडुलिपियों को पढ़ने की कला है. इसे एपिग्राफी के नाम से भी जाना जाता है. एपिग्राफी, पत्थर, तांबे की प्लेट, लकड़ी आदि पर लिखी गई प्राचीन और अज्ञात पांडुलिपियों को खोजने और समझने का विज्ञान है. एपिग्राफ इतिहास का स्थायी और सबसे प्रामाणिक दस्तावेज है. वे ऐतिहासिक घटनाओं की तारीख, सम्राटों के नाम, उनके शीर्षक, उनकी शक्ति की अवधि, वंशावली की वंशावली के बारे में सटीक और सटीक जानकारी का एक महत्वपूर्ण स्रोत हैं.

विभिन्न सामग्रियों पर लिखे गए ये अभिलेखागार विभिन्न भाषाओं और लिपियों के उद्भव और विकास के साथ-साथ प्राचीन भाषाओं में साहित्य के रुझानों और इतिहास के विभिन्न पहलुओं के बारे में सटीक जानकारी प्रदान करते हैं.

उनकी मदद से, हम इतिहास के अज्ञात तथ्यों से परिचित हो सकते हैं और पहले से परिचित इतिहास की घटनाओं पर भी प्रकाश डाल सकते हैं. जो भी इतिहास हम किताबों में पढ़ते हैं वह सभी अभिलेखागार पर आधारित होता है.

 

एपिग्राफिस्ट कैसे बनें (पात्रता):

एपिग्राफी में करियर बनाने के लिए छात्रों को 12 वी की परीक्षा Art स्ट्रीम (इतिहास विषय के साथ) में अच्छे अंको से उत्तीर्ण करना है.

छात्रों को इतिहास विषय में ग्रेजुएट होना है.

इसके बाद इतिहास विषय में मास्टर डिग्री सहित किसी भी उपरोक्त विषय में प्रथम श्रेणी में मास्टर डिग्री प्राप्त करना है,

ऐसे कई संस्थान है जो एपिग्राफी में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स की पेशकश करते हैं जो चयनित होने के लिए एक अतिरिक्त योग्यता बन सकती है.

 

एपिग्राफी में करियर कैसे बनाये (प्रधान संस्थान):

1. Jeevaji University, Gwalior, Madhya Pradesh

2. Avadhesh Pratap Singh University, Rewa, Madhya Pradesh

3. Deccan College, Pune, Maharashtra

4. Maharaja Sayajirao University of Baroda Gujarat

5. Punjab University Chandigarh

6. Kurukshetra University, Kurukshetra, Haryana

7. Banaras Hindu University, Varanasi, Uttar Pradesh

Epigraphist Kaise bane

अभिलेखागार की खोज (एपिग्राफी में करियर कैसे बनाये):

एपिग्राफी, पुरातत्व की विभिन्न शाखाओं में से एक है, जो कि विभिन्न स्मारकों जैसे कि किलों, मंदिरों, मकबरों, मकबरों में अभिलेखागार या शिलालेखों की खोज करती है. इन्हें फोटोग्राफी पर या कागज पर स्याही रगड़कर बनाया जाता है. इसके बाद, उन्हें बहुत ध्यान से समझने का प्रयास किया जाता है. इस दौरान, उन तथ्यों और सूचनाओं की मदद से, लोगों, घटनाओं, तिथियों, स्थानों आदि का उल्लेख किया जाता है.

ऐसी सभी जानकारी वार्षिक ‘इंडियन एपिग्राफी रिपोर्ट – Indian Epigraphy Report’ में प्रस्तुत की जाती है और महत्वपूर्ण खोजों को प्रमुख रूप से वार्षिक ‘इंडियन आर्कियोलॉजी जर्नल – Indian Archeology Journal’ में दिखाया जाता है. संपादित विवरण के साथ सटीक ऐतिहासिक महत्व के अभिलेखागार मुद्रित होते हैं.

Epigraphist Kaise bane

एपिग्राफी (करियर) वेतन पैकेज:

विज्ञान के सबसे दुर्लभ क्षेत्रों में से एक है, इसलिए बहुत कम लोग हैं जो इसके बारे में जानते हैं और इससे भी कम जो इस विषय को चुनते हैं.

एपिग्राफी वैज्ञानिक का वेतन उसकी योग्यता और अनुभव पर निर्भर करता है. भारत सरकार योग्य एपिग्राफी वैज्ञानिकों को एक सुंदर वेतन प्रदान करती है. यह 25, 000/- से 50, 000/- के बीच हो सकता है.

Epigraphist Kaise bane

एपिग्राफिस्ट कैसे बनें (कौशल और गुण):

एक अच्छा एपिग्राफिस्ट साबित करने के लिए, संबंधित भाषा में पकड़ के साथ-साथ इतिहास, विश्लेषणात्मक और तार्किक सोच का अच्छा ज्ञान होना आवश्यक है.

A. नवीनतम जानकारी पढ़ने और प्राप्त करने की आदत,

B. फील्ड वर्क और रिसर्च करना आवश्यक है,

C. घर से दूर, और बहुत मेहनत करने की सोच,

D. शरीर और दिमाग दोनों का मजबूत होना जरूरी है,

E. शारीरिक रूप से स्वस्थ और मजबूत,

F. काम के दौरान होने वाली थकान को सहन करना,

G. एपिग्राफिस्ट की नौकरी कड़ी मेहनत और समय दोनों की मांग करती है.

H. खराब मौसम या कठिन परिस्थितियों में एपिग्राफिस्ट को सभी प्रकार की परिस्थितियों में काम करना पड़ता है.

 

Inspection supervision:

Overview:- How to make a career in Epigraphy – एपिग्राफिस्ट कैसे बनें (एपिग्राफिस्ट बनने के करियर टिप्स और ट्रिक्स)

Name- एपिग्राफी में भविष्य (Future) कैसे बनाएं,

Educational Qualification:- इंजीनियरिंग, बीएससी, और एपिग्राफी में MSc, Ph.D.

Skill:- नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,

Job location:- इंडिया, और Other Country.

Job Category:- Epigraphist,

Final Word:- एपिग्राफिस्ट कैसे बनें. एपिग्राफी कोर्स कैसे करे.

Official website:- https://www.tnarch.gov.in/epigraphy

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. आरटीओ में करियर कैसे बनाये

2. दुर्घटनाओं को रोकने के लिए बेस्ट उपाय

3. फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करे

4. इंधन बचाने के तरीके

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की How to make a career in Epigraphy – Epigraphist Kaise bane और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!