career in milk production – दूध उत्पादन में करियर कैसे बनाये

Milk Production me career kaise banaye. career in milk production, दूध उत्पादन में लाखो कैसे कमाये, Dudh Utpadan Yojana ka Labh kaise len, डेयरी टेक्नीशियन कैसे बने (How to become a dairy technician), in Hindi.

career in milk production - दूध उत्पादन में करियर

 

career in milk production – दूध उत्पादन में करियर:

सभी को नमस्कार, दोस्तों जैसा कि हम करियर विकल्प के बारे में लिखना पसंद करते हैं और आज हम उसी संबंधी लेख को प्रकाशित करने जा रहे हैं, आशा करते है कि आप इस लेख को भी उतना ही पसंद करेंगे. तो प्रिय पाठक “दूध डेयरी व्यवसाय कैसे खोलें – How to open milk dairy business” इसके बारे में जानते हैं.

ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के लिए आजीविका के साधनों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जाती हैं. इन योजनाओं पर अनुदान का भी प्रावधान है. किसान और आम ग्रामीण अनुदान प्राप्त करके अपनी आजीविका के साधन में सुधार कर सकते हैं. इसके लिए अनुदान की प्रक्रियाओं को जानना आवश्यक है. तो दोस्तों सबसे पहले, हम दूध उत्पादक लोगों को योजनाओं और अनुदानों की जानकारी प्रदान कर रहे हैं. तो जानिये दूध उत्पादन अनुदान कैसे प्राप्त करें.

 

दूध उत्पादन के लिए अनुदान कैसे लें (career in milk production):

दूध उत्पादन में दूध उत्पादन रोजगार गांव की आर्थिक संरचना को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. सरकार गांवों में दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कई तरह से डेयरी योजनाओं (Dairy scheme) के विकास पर काम कर रही है.

ग्रामीण क्षेत्र में बड़े पैमाने पर दूध का उत्पादन कर सकते हैं और इसके लिए राज्य सरकार के पशुपालन विभाग (Animal Husbandry Department) द्वारा कई सुविधाएं दी जा रही हैं.

दुधारू मवेशी योजना के तहत, ग्रामीणों को मवेशियों की उन्नत प्रजातियां भी दी जाती हैं जो दूध का उत्पादन करना चाहते हैं वह इसका लाभ उठाते है.

 

इसके बारे में भी जाने:

1. डेयरी वैज्ञानिक कैसे बने (How to become a dairy scientist)

 

दुधारू पशु योजना का उपयोग कैसे करे (career in milk production):

1. ग्रामीण क्षेत्र की गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतीत करने वाले लोगों के लिए मिल्क कैटल स्कीम (Milk cattle scheme) के तहत लाभ प्रदान किया जाता है.

2. इस योजना के तहत दो दुधारू पशुओं को दूध उत्पादक को 50 प्रतिशत अनुदान और 50 प्रतिशत ऋण पर दिया जाता है.

3. दुधारू पशु गाय या भैंस हो सकते हैं. प्रत्येक मवेशी को छह महीने के अंतराल पर दिया जाता है.

4. योजना लागत में पशु की खरीद के लिए 70,000 रुपये दिए जाते हैं.

5. इसके अलावा मवेशियों को रखने के लिए एक गौशाला के निर्माण के लिए 15,000 रुपये दिए जाते हैं.

6. और जानवरों के लिए बीमा प्रीमियम तीन साल के लिए दिया जाता है. इसके लिए 8000 रुपये का लाभ दिया जाता है.

Read More – Dairy Farming manager kaise bane

 

मिनी डेयरी कैसे शुरू करे (दस दुधारू पशुओं के लिए):

A. एक अन्य योजना के तहत दूध उत्पादन के लिए युवा शिक्षित बेरोजगार और प्रगतिशील किसानों को दस दुधारू पशु उपलब्ध कराए जाते हैं.

B. स्वयं सहायता समूह भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. दुधारू पशुओं को सभी को 40 प्रतिशत अनुदान और 60 प्रतिशत बैंक ऋण प्रदान किया जाता है.

C. पांच मवेशियों को योजना के माध्यम से छह महीने के अंतराल पर दिया जाता है. और इस योजना के माध्यम से, रुपये 3,50,000 दूध उत्पादन के लिए दिया जाता है. (शेड के निर्माण के लिए 90,000/- रूपये)

D. दूध उत्पादन को बेहतर स्वरोजगार के रूप में अपनाया जा सकता है.

E. जो लोग दूध उत्पादन को रोजगार में अपनाना चाहते हैं, वे इस संबंध में अधिक जानकारी अपने जिले के जिला विकास अधिकारी (District Development Officer) से प्राप्त कर सकते हैं.

F. इसके अलावा, वे दूध उत्पादन, मवेशियों और अनुदानों की जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने निकटतम डेयरी पशु विकास केंद्र और जिला पशुपालन अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं.

 

मिनी डेयरी कैसे शुरू करे (पांच दुधारू पशुओं के लिए):

1. सरकार द्वारा एक मिनी डेयरी योजना चलाई जा रही है, जिसके लिए दूध उत्पादकों को अनुदान दिया जाता है.

2. इस योजना के तहत प्रगतिशील किसानों और शिक्षित युवा बेरोजगारों को पांच दुधारू पशु उपलब्ध कराए जाते हैं.

3. ये मवेशी गाय या भैंस हो सकते हैं. इस योजना के तहत पांच दुधारू पशुओं को 50 प्रतिशत अनुदान और 50 प्रतिशत बैंक ऋण पर दिया जाता है. दो चरणों में मवेशी दाता को दिए जाते हैं.

4. पहले चरण में, तीन मवेशियों की खरेदी के लिए और दो महीने के बाद दो मवेशियों के लिए बैंक के माध्यम से पैसा दिया जाता है.

5. मवेशियों की खरेदी के लिए योजना लागत 1,75,000 रुपये, शेड निर्माण के लिए 45,000 रुपये और तीन साल के लिए मवेशियों के बीमा प्रीमियम के लिए 20,000 रुपये है. डेयरी टेक्नीशियन कैसे बने.

 

केंद्र सरकार की जरुरी योजना:

A. दूध उत्पादन के लिए केंद्र सरकार द्वारा कई योजनाएं भी चलाई जाती हैं. इसके लिए दूध उत्पादकों को कई तरह के अनुदान दिए जाते हैं.

B. दूध उत्पादकों को डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है. यह वित्तीय सहायता मुख्य रूप से छोटे किसानों और भूमिहीन मजदूरों को दी जाती है.

C. डेयरी उद्यमिता विकास योजना भारत सरकार की एक योजना है जिसके तहत डेयरी और अन्य संबंधित व्यवसायों को प्रोत्साहित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है.

D. इसके तहत छोटे डेयरी फार्म खोलने, उन्नत नस्ल की गायों या भैंसों की खरीद के लिए पांच लाख रुपये की सहायता दी जाती है. यह राशि दस दुधारू पशुओं की खरीद के लिए दी जाती है.

 

दूध उत्पादन योजना और प्रशिक्षण की आवश्यकता:

1. यह योजना राज्य पशुपालन विभाग (State Animal Husbandry Department), जिला ग्रामीण विकास एजेंसी (District Rural Development Agency), डेयरी सहकारी समिति (Dairy Cooperative Society) और फेडरेशन ऑफ डेयरी फार्मों (Federation of Dairy Farms) द्वारा स्थानीय रूप से नियुक्त तकनीकी व्यक्ति की मदद से तैयार की गई होती है.

2. लाभार्थी को डेयरी में प्रशिक्षण के लिए राज्य कृषि विश्वविद्यालय (State Agricultural University) भी भेजा जाता है.

3. योजना में कई प्रकार की जानकारी शामिल है. इसमें भूमि, पानी और चारागाह प्रणाली, चिकित्सा सुविधा, बाजार, किसान के प्रशिक्षण और अनुभव और राज्य सरकार या डेयरी फेडरेशन की सहायता के बारे में जानकारी आवश्यक है.

4. इसके अलावा, खरीदी जाने वाली मवेशियों की नस्ल, मवेशियों की संख्या और अन्य संबंधित जानकारी के बारे में जानकारी प्राप्त होती है.

5. योजना बैंक को प्रस्तुत की जाती है. योजना के अधिकारी योजना का विश्लेषण करते हैं और योजना के जोखिम और मरम्मत की अवधि के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं.

 

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने जाना है की,

❏ दूध डेयरी फार्म खोलने का तरीका,

❐ गाय पालन के लिए मार्केट रिसर्च कैसे करें,

❏ डेयरी फार्म के लिए बिज़नेस टिप्स,

❐ दूध उत्पादन के लिए केंद्र सरकार की योजना,

❑ मिनी डेयरी कैसे शुरू करे,

दोस्तों डेयरी फार्म बिज़नेस से मुनाफा कैसे प्राप्त करे, डेयरी फार्म के लिए लोन कैसे लें, इसके बारे में हम जल्दी ही इनफार्मेशन प्रकाशित करेंगे, तब तक हमसे जुड़े रहे.

 

Inspection supervision:

Overview:-career in milk production – दूध उत्पादन में करियर.

Name:-दूध व्यवसाय में भविष्य (Future) कैसे बनाएं,

Educational Qualification:- डेयरी टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा और डेयरी टेक्नोलॉजी कोर्स में BSc, B.Tech, बीटेक के बाद डेयरी टेक्नोलॉजी में MTech, आदि.

Skill:-नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,

Job location:-इंडिया.

Job Category:- Dairy technician, Dairy Designer,

Final Word:- Dairy technician Kaise bane. दूध व्यवसाय का कोर्स कैसे करे.

Official website:-

1. http://dairy.maharashtra.gov.in/

2. http://dahd.nic.in/hi

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. आरटीओ में करियर कैसे बनाये

2. दुर्घटनाओं को रोकने के लिए बेस्ट उपाय

3. फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करे

4. योग में करियर कैसे बनाये

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की career in milk production – Dairy technician Kaise bane और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!