Gudi Padva ke bare me jankari – गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी

गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी. Gudi Padwa ke bare me jankari, गुड़ी पड़वा का रहस्य जाने. gudi padva ka mahtv kya hai, गुड़ी पड़वा का आध्यात्मिक रहस्य, गुड़ी पड़वा संदेश कैसे भेजे, (Gudi Padva ka Parichay in Hindi)

Gudi Padva ke bare me jankari - गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी

 

Gudi Padva ke bare me jankari – गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी:

नमस्कार आज फिर एक बार ApnaSandesh वेबपोर्टल आप सभी का स्वागत है. दोस्तों आज आपके लिए इस वर्ष के गुड़ी पड़वा त्यौहार को इको-फ्रेंडली कैसे मनाये इसके बारे में बताने जा रहे है. क्या आप गुड़ी पड़वा के बारे में जानते है, क्या आप गुड़ी पड़वा का रहस्य जानते है? इको-फ्रेंडली गुड़ी पड़वा कैसे मनाये, गुडी पाडवा, गुडी पाडवा हम क्यों मनाते है, इसका क्या उपयोग क्या है, कब से यह हमारे भारत देश में प्रचलित में आया है, इन सारी बातोँ की जानकारी आज के लेख के माध्यम से हम ज्ञात करते है.

Read More – Rashtriy tatha Antarrashtriy din sedulous 

 

गुडी पाडवा मराठी नववर्ष की जानकारी:

गुडी पाडवा को मराठी लोगो का नया साल के तौर पर मनाया जाता है, इस बार यह (Tuesday, 13 April Gudi Padwa 2021 in Maharashtra) 13 April 2021 को ”गुडी पाडवा का नववर्ष” शुरु होने जा रहा है. इसी दिन को चैत्र मास और शुक्ल प्रतिपदा कहा जाता है.

हिन्दू लोगो की मान्यता के कारन हिन्दू नव वर्ष का आरम्भ इसी दिन होता है, गुडी का मतलब विजय पताका होता है. आन्ध्र प्रदेश में “युगादि” कर्नाटक में “उगदी” और महाराष्ट्र में “गुडी पाडवा” कहकर इस दिन को मनाया जाता है. और इसी से चैत्र नवरात्रि की सुरुवात होती है.

कहते है की ब्रम्हाजी ने इसी दिन सारी सुष्टि की रचना की थी और इसी दिन सारे देवी देवता की पूजा भी की जाती है, चैत्र महीने में ही पेड़ो को नए पुष्प लगना आरंभ होते है. इसी महिने में अच्छी फसल का भी आना होता है, और गुडी पाडवा के दिन ही पंचांग भी तैयार किया जाता है. (Gudi Padva ke bare me jankari aur mahtv)

चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा को महाराष्ट्र में गुडी पाडवा कहा जाता है. हिन्दू मान्यताओ के अनुसार शालिवाहक नामक एक कुम्भार था उसके लड़के ने मिटटी से सैनिको की सेना बनाई और उसमे पाणी छिड़ककर जान डाल दी और इसी सेना से उसने कई राजाओ को पराजित किया, और इतना ही नहीं तो लोगो की माने तो इसी दिन भगवान राम ने वानरराज बाली का अंत करके उसकी प्रजा को मुक्ति दिलाई, प्रजा इसी दिन को याद करके उनके घर के आंगन में गुडी खड़ी करते है, और इसी दिन से महाराष्ट्र में यह “गुडी पाडवा” प्रथा सुरु हो गई,

 

महाराष्ट्र मराठी नववर्ष प्रारंभ:

महाराष्ट्र में इस दिन स्वादिष्ट नए नए व्यंजन बनाये जाते है. पूरण पोली या फिर मीठी रोटी बनाई जाती है, इसमें गुड, नमक, और इमली भी मिलाई जाती है, जो चटपटा स्वाद में रस आता है, घी के साथ सक्कर खिलाया जाता है, और तो और इस दिन ख़ास तौर पर घर पर ही श्रीखंड बनाकर खाने के साथ परोसा भी जाता है.

यह त्योहार पुरे 9 दिन मनाया जाता है, जिसके साथ दुर्गा पूजा और राम नवमी भी आदि का समावेश है, गुडी पाडवा को हिन्दू नववर्ष की शुरुआत माना जाता है. यही कारण है की हिन्दू लोग अलग अलग तरह से इसे एक त्यौहार के रूप में मनाते है.

आमतौर पर देखा जाये तो इस दिन हिन्दू परिवार के लोग गुडी का पूजन करके इसे अपनी घर के दरवाजे के बाहर पर लगाते है, और उसी तरह घर के दरवाजो पर आम के पेड़ो के पत्ते से बना बंदनवार जो की रस्सी की सहायता से बनाकर घर के दरवाजो पर लगाया जाता है. इस बंदनवार से घर में सुख शांती और खुशिया बनी रहती है.

 

गुडी पाडवा मराठी नए साल की शुरुआत:-

भारतीय संस्कृती के तौर पर माने तो भारतीय नववर्ष की शुरुआत चैत्र शुक्ल प्रतिपाद से ही होती है, और इसी दिन ग्रहों और गणितीय खगोल शास्त्रीय संगणक के अनुसार माना जाता है. इसे भारतीयों की परंपरा का प्रतिक माना जाता है.

यह किसी देवी देवता और किसी महान पुरुषो के जन्म पर आधारित नहीं है, यह विक्रम संवत है जो की इस्वी या हिजरी सन इनकी तरह किसी भी जाती और संप्रदाय के लिए विशेष नहीं है. यह दिन भारतीय परम्परा के अनुसार शुभ दिन के तौर पर माना जाता है, और इसी दिन सृष्टि की रचना हुई थी.

चैत्र महिना भी इसी दिन से आरंभ होता है, इसी प्रतिप्रदा के दिन राजा विक्रमादित्य ने विदेशी शको से भारत का रक्षण किया था और इसी दिन काल गणना की शुरआत की थी, और इसी दिने से महाराजा के नाम से विक्रम संवत कहकर पुकारने लगे, इसी दिन भगवान राम का राज्य भिषेक हुआ था, और इसी दिन महाराज युधिष्ठिर का भी राज्य भिषेक हुआ, और इसी दिन महाराज विक्रमादित्य ने भी शको पर विजय प्राप्त करके उत्सव के तौर पर आज का दिन मनाया था. (Gudi Padva ke bare me jankari aur mahtv)

 

परिवार के साथ गुड़ी पड़वा सेलिब्रेशन:-

A. सबसे पहले, सुबह में अपने शरीर को पोषण और पुनर्जीवित करने के लिए आयुर्वेदिक तेल या मालिश चिकित्सा लागू करें,

B. इसके बाद, सूर्योदय के दौरान अपने घर के प्रवेश द्वार पर झंडा या, गुड़ी ’फहराएं

C. अब सूर्योदय के बाद ही फहराए गए ध्वज की पूजा करें,

D. फिर, अपने घर के हर नुक्कड़ को साफ करें,

E. लाल, नारंगी और पीले जैसे चमकीले रंगों से सुंदर रंगोली तैयार करें, गुड़ी पड़वा उत्सव एक जीवंत रंगोली सजावट के बिना अधूरा होगा,

F. अपने प्रवेश द्वार, लिविंग रूम और बाथरूम को नीम की पत्तियों और गेंदे के फूलों से सजाएं,

 

गुड़ी पड़वा सेलिब्रेशन:-

G. गुड़ी पड़वा विशेष पोशाक में तैयार हो जाओ, महिलाओं के लिए, नौवारी-एक पारंपरिक नौ-गज की मराठी शैली की साड़ी पहनी जाती है, जबकि पुरुषों को कुर्ता पायजामा के साथ-साथ शुभ गुड़ी पड़वा उत्सव के दौरान भगवा पगड़ी पहननी चाहिए,

H. मराठी नव वर्ष के अवसर पर अपने परिवार और रिश्तेदारों को इकट्ठा करें,

I. गुड़ी पड़वा विशेष मराठी नववर्ष पंचांग या पंचांग लाएं,

J. विशेष नीम के पत्ते प्रसाद के रूप में लें,

K. गुड़ी पड़वा स्पेशल साबूदाना वड़ा, गुड़ी पड़वा स्पेशल श्रीखंड, गुड़ी पड़वा स्पेशल पूरन पोली और गुड़ी पड़वा स्पेशल खीर ​​जैसे व्यंजन तैयार करें,

L. मराठी नव वर्ष पर गुड़ी पड़वा विशेष लेजिम नृत्य करें,

M. जरूरतमंदों को कपड़े परोसें,

N. जरूरतमंद लोगों को पानी परोसें,

 

गुड़ी पड़वा संदेश भेजे:-

गुड़ी पड़वा पर परिवार और दोस्तों को भेजने के लिए कुछ संदेश, शुभकामनाएं, एसएमएस इस प्रकार हैं:

एक नई शुरुआत,
एक नई शुरुआत की कामना है कि,
आप मेरे दिल के कोने में रहे,
हैप्पी गुड़ी पड़वा…

गुड़ी पड़वा अंत में यहां आपके और मेरे लिए एक महत्वपूर्ण दिन है.
जो आपकी अच्छी इच्छा और स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करता है.
आप अनंत काल तक धन्य रहे यही हमारी दुआ है…
हैप्पी गुड़ी पड़वा …

हर साल का हर दिन,
ईश्वर आपको स्वास्थ्य और जयकार के साथ आशीर्वाद दे,
कभी दूर न जाएं हमेशा पास रहें,
ये आपके लिए मेरी शुभकामनाएं हैं.
हैप्पी गुड़ी पड़वा …

Gudi Padva ke bare me jankari - गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी

 

गुड़ी पड़वा त्यौहार पर अपना संदेश भेजे:

धूमधाम और धार्मिक पक्ष के बीच गुड़ी पड़वा के शुभ अवसर का जश्न मनाएं,
आपके और आपके परिवार के सदस्यों के लिए सबसे अच्छा दिन हो,
यह मेरी तरफ से शुभकामनाएं…
हैप्पी गुड़ी पड़वा …

परिवार के प्यार और आशीर्वाद के साथ कोई भी उत्सव अधूरा है.
और मेरी कामना है कि हम सभी एक-दूसरे के साथ गुड़ी पड़वा मनाएं,
हैप्पी गुड़ी पड़वा …

आइए इस दिन आने वाले वर्ष में हमारे देश के लिए शांति और सद्भाव के लिए प्रार्थना करें,
आपको गुड़ी पड़वा की हार्दिक शुभकामनाएँ,..

गुड़ी पड़वा का त्योहार आपके लिए भाग्य, सफलता और खुशियां लेकर आए,
आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं,
हैप्पी गुड़ी पड़वा ,..

 

Author by: Prashant

 

Inspection supervision:

Overview:- Gudi Padva ke bare me jankari – गुड़ी पड़वा के बारे में जानकारी (gudi padva ka mahtv kya hai).

Name:- गुड़ी पड़वा का त्यौहार, Gudi Padva ka mahtv aur Parichay.

Caution:- रासायनिक साहित्यो से बचाव,

Gudi Padwa Delicious Recipes:- स्पेशल साबूदाना वड़ा, गुड़ी पड़वा स्पेशल श्रीखंड, गुड़ी पड़वा स्पेशल पूरन पोली और गुड़ी पड़वा स्पेशल खीर,

Search Keyword:-
1. Gudi Padva ke bare me jankari in Hindi,
2. Gudi Padva tyohar kab hai,
यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. दीवाली का आध्यात्मिक रहस्य क्या है

2. चन्द्र रत्न मोती का सच क्या है

3. पचमढ़ी पर्यटन स्थल की जानकारी

4. नवरात्रि का आध्यात्मिक रहस्य क्या है

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Gudi Padva ke bare me jankari – celebrate Gudi Padva और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!