accident Car Body Repair kaise kare – एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग

एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग. accident Car Body Repair kaise kare, डैंट कार की बॉडी को ठीक कैसे करे (Dent Car Body repairing kaise kare), कार बॉडी के उपयोग कैसे कैसे, Car body ko jang se kaise bachaya jaye in Hindi.

accident Car Body Repair kaise kare - एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग

 

Accident Car Body Repair kaise kare – एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग:

Car Body Repair kaise kare: नमस्कार दोस्तों, ऑटोमोबाइल तंत्रज्ञान के युग में आप अभी का स्वागत है, प्रिय पाठक पिछले लेख में हमने चेसिस रिपेयरिंग के बारे में जाना है. तो उसी लेख को पूरा करते हुए आज का यह लेख आपके लिए, जी हां दोस्तों इस लेख में हम कार बॉडी रिपेरिंग के बारे में बात करेंगे,

दोस्तों, क्या आप ऑटोमोबाइल में उपयोग होने वाले कार बॉडी के बारे में जानते है, क्या आप एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग के बारे में जानते है, (accident Car Body Repair) क्या आप बॉडी की गुणवत्ता कैसे करे यह जानते है? और क्या आप डैंट कार की बॉडी को ठीक कैसे करे (Dent Car Body repairing) इसके बारे में जानने के लिए आपने सही आर्टिकल चुना है. जी हा दोस्तों आज के इस लेख में, हम आपको कार बॉडी के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे, और जानेगे की कैसे कार बॉडी बहुत ही जरुरी और लाभकारी होती है.

 

कार की बॉडी के बारे में जानकारी:-

दोस्तों आप शायद जानते होंगे की आधुनिक ज़माने की गाड़िया इनकी बॉडी एक स्टील की बनी रहती है, और इनको आपस में जोड़कर वेल्डिंग व्दारा सेक्शन बनाये जाते है, ओ इसलिए ताकि यह बहुत मजबूती प्रदान कर सके, इनके साथ साथ बनी इनकी पिल्लर भी स्टील सेक्शन की बनी रहती है, क्योंकि इनकी वजन उठाने की क्षमता बढ़ जाये और इनके बॉडी का वजन भी कम से कम हो, इन सारे सेक्शन को जोड़ने के लिए गैस वेल्डिंग या फिर इलेक्ट्रिक टैक वेल्डिंग की सहायता ली जाती है.

Read More – Road Safety ka mahatva 

 

बॉडी की गुणवत्ता:-

1. गाडी के बॉडी का वजन कम से कम होना चाहिए. जिससे वह आसानी से प्रयोग में लाया जा सके.

2. कार की बॉडी फिट करते समय चेसिस पर बराबर का वजन आना चाहिये.

3. बॉडी इस तरह से बनी हो की, रास्तो पर चलने से आने वाले गड्डे, ख़राब रास्ता, इनपर चलते समय किसी भी प्रकार का स्क्रू या रिवेट्स ढीला न हो, इस बात का हमेशा ध्यान रखे .

4. बॉडी रास्तो पर चलते समय लगने वाले झटके सहन करने की क्षमता बॉडी में होना चाहिए.

5. रास्तो पर चलते समय किसी भी प्रकार की वाइब्रेशन बॉडी में न हो.

6. कोई भी कार की बॉडी का डिजाईन इस तरह से होना चाहिए की, ड्रायवर को सीधे सीधे ड्राइविंग करते समय किसी परेशानीयों का सामना ना करना पडे.

7. बॉडी के सभी प्रकार के जॉइंट्स पक्के हो, ताकि रास्तो पर चलते समय जादा वाइब्रेशन ना हो.

8. ड्राईवर सिट एकदम पास होना चाहिए, जिससे सड़क पूरी तरह दिख सके.

Read More – Car Insurance policy kaise banaye

 

कार की बॉडी को जंग से कैसे बचाए:-

1. गाड़ी की बॉडी बनाते समय विशेष ध्यान रखना पड़ता है.

2. बॉडी बनाते समय इसमें गैल्वेनाइज्ड शीट का उपयोग करके बॉडी बनानी चाहिए.

3. कार बॉडी पर पेन्ट मारते समय यह ध्यान रखे की उसमे झिंक की मात्रा अधिक हो.

4. बॉडी में कोटिंग करते समय प्लास्टिक कोटिंग से करना चाहिए.

5. कार बॉडी के अंदरूनी भाग को मतलब पैनल को रबर का बना हुआ solution उपयोग में लाना चाहिए.

6. कोई भी बॉडी को बनाते समय उसे इस तरह से बनाना की उसमे किसी भी प्रकार की नमी न हो.

7. अगर कभी बॉडी के ऊपर पानी का छिडकाव हो तो, जल्द से जल्द बाहार की और निकल आना चाहिए.

एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग:-

बहुत से लोग नई नई कार खरीदी करते है, और अच्छी तरह से चलाते भी है, लेकिन कुछ लोग अपने ही धुंध में कभी-कभी गाड़ी की स्पीड बहुत अधिक बढ़ा देते है, परिणाम स्वरुंप न चाहते हुए भी उनका एक्सीडेंट हो जाता है. और उनकी गाड़ी एक्सीडेंट होने के बाद नार्मल कंडीशन में नहीं रहती, उसमे बहुत सी डैंट, स्क्रेचेस, साइड से बम्पर का टूटना, सामने से पूरी बॉडी एक दूसरे के अन्दर घुस जाना, या बहुत अधिक मात्रा में ख़राब हो जाती है.

यह सब एक्सीडेंट होने के बाद आम बात है, इसलिए इन सब चीजो की रिपेयरिंग करना, मरमत करना यह एक एक्सपर्ट का काम होता है, इसलिए इसे कोई गेराज के मैकेनिक या टेक्निकल रिपेयरिंग नहीं कर सकता. जिसे अच्छी तरह से इसकी जानकारी हो ओही इसे ठीक कर सकता है, बॉडी को ठीक करना कुछ इस प्रकार के टूल्स के माध्यम से ठीक किया जा सकता है.

  • स्पेशल टूल्स,
  • फिनिशिंग हैमर.
  • लॉन्ग हेड बम्पर हैमर.
  • डोर नॉब डॉली.
  • बिड डॉली.
  • जनरल परपस डॉली.
  • डॉली ब्लॉक्स.
  • डॉली
  • हैमर.
  • स्पूंज
  • इलेक्ट्रिक और गैस वेल्डिंग.
  • गैस मशीन,
  • स्पेशल फाइल.

 

डैंट को किस तरह से निकलना:-

  • सबसे पहले तो यह जान ले की डैंट किस तरह का है, जहा से बॉडी सुरु होती है, वहा से डैंट भी पडते है, जब गाडी टकराती है. उस समय बॉडी की शीट में डैंट पड़ता है, या मुड जाती है, या फट जाती है, या फिर अपने ओरिजिनल शेप को खो बैठती है.
  • किसी भी बॉडी को दुरुस्त करते समय उसकी अच्छी तरह से जांच पड़ताल कर ले, बाद में डीसाइड करे की इसे उलटे ऑर्डर में सुरु करे, या फिर सीधे ऑर्डर में, यानि की जो डैंट सबसे बाद मे पड़ा था उसे, सबसे पहले ठीक करे, और जो, डैंट सबसे पहले पड़ा था उसे बाद मे ठीक करे.
  • जिस भाग से डैंट निकलना है उस तरफ से लगे मिटटी, रंग, या जंग को अच्छी तरह रगड़ कर निकल ले,
  • फिर डैंट वाले एरिया को हात से चेक करे या फाइल से इसे रब्बिंग करे,
  • फाइल से रगड़ कर अपनी शेप में लाये, जादा फाइल न करे इससे चादर पतली हो सकती है, आवश्यकता के अनुसार ही करे, अगर शिट फटी हो तो उसे बहार निकालकर वेल्डिंग करने के बाद ही फिट किया जा सकता है,
  • वेल्डिंग करते समय सावधानी रखे, शिट में सुराख पड़ने न पाए, जहा जरुरत हो वहा हैमर और मलेट का भी प्रयोग करे, इसमें सोल्डरिंग भी किया जाता है, याद रहे इसमें रंग और जंग कही न हो वरना सोल्डरिंग बराबर नहीं होंगी. इसमें लकड़ी के गुटके का प्रयोग करके ग्रीस थोड़ा-थोड़ा करके लगाना चाहिए.

Author By: Prashant

 

Inspection supervision:

Overview:- accident Car Body Repair Kaise Kare – Automobile me Car body ka Upyog.
Name- कार बॉडी रिपेयरिंग कैसे करे, (Car Body ka parichay Kaise Kare
Use:- Automobile,
Material:- Aluminum, still, alloy metal,

Search Keyword:-

1. Automobile me Car Body ka Upyog Kaise Kare in Hindi,

2. Accident ki Car Body Kaise Repair Kare,

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. आरटीओ में करियर कैसे बनाये

2. दुर्घटनाओं को रोकने के लिए बेस्ट उपाय

3. फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करे

4. चेसिस का परिचय और जानकारी

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Aaccident Car Body Repair kaise kare – एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!