Accident Chassis Frame Repair kaise kare – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग

एक्सीडेंट के बाद चेसिस रिपेयरिंग. Accident Chassis Frame Repair, चेसिस Frame alignment kaise kare, krack chassis Frame repairing kare. chassis Frame Repairing kaise kare in Hindi.

Accident Chassis Frame Repair kaise kare - चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग

 

Accident Chassis Frame Repair – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग कैसे करे:

Chassis Frame Repair kaise kare: नमस्कार दोस्तों, ऑटोमोबाइल तंत्रज्ञान के युग में आप अभी का स्वागत है, प्रिय पाठक पिछले लेख में हमने चेसिस क्या होती है इसके बारे में जाना है. तो उसी लेख को पूरा करते हुए आज का यह लेख आपके लिए, जी हां दोस्तों इस लेख में हम चेसिस रिपेरिंग के बारे में बात करेंगे,

दोस्तों, आपने चेसिस के बारे में जाना है, अब एक्सीडेंट चेसिस फ्रेम रिपेयरिंग (accident Chaasis Frame Repair), चेसिस Frame alignment कैसे करे, चेसिस फ्रेम का बैलेंसिंग कैसे करे यह जानते है? और क्या आप क्रैक चेसिस Frame को ठीक कैसे करे (krack chassis Frame repairing) और चेसिस की रिपेयरिंग कैसे करे, इसके बारे में जानने के लिए सही आर्टिकल चुना है. जी हा दोस्तों आज के इस लेख में, हम आपको चेसिस के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे.

 

चेसिस फ्रेम का परिचय:

दोस्तों आपको बता दे की गाडियों की फ्रेम मोटी और स्टील पत्ती की बनी होती है, क्योंकि यह ताकतवर भी रहे और हलके भी रहे, इनमे कुछ long members और side members भी होते है, इसमें cross members के साथ कुछ रिवेट और nut bolt भी लगाते है.

 

चेसिस फ्रेम का उपयोग:-

1. इस चेसिस फ्रेम में इंजन, बॉडी, गियर बाक्स, रेडियेटर फिट करते है.

2. जब गाडी टर्निंग लेती है और उस समय जब गाडी को अधिक जोर पड़ता है उसे भी सहन करने का काम चेसिस फ्रेम करता है,

3. कभी कभी हम बहुत जोर से, अचानक जब कोई सामने आ जाये, तो जोर से ब्रेक लगते है, उसे भी यह सहन करता है. (Accident Chassis Frame Repair kaise kare – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग)

4. रास्ते पर चलते समय कभी कभी रास्ता बहुत ख़राब होने के कारन चेसिस को झटके लगते है, जो की वह खुद ही सब सहन करती है,

5. गाडी में बैठे यात्रियों का वजन और उसमे रखे कुछ सामानों का भी वजन सब कुछ सहेने का काम चेसिस फ्रेम करती है,

6. इसके साथ साथ निचे की और फ्रंट एक्सेल और रियर एक्सेल भी लगे रहते है.

 

चेसिस फ्रेम के प्रकार:-

गाडियों में कुछ अगल अलग प्रकार के चेसिस फ्रेम लगाये जताए है

A. कन्वेंशनल चेसिस फ्रेम (conventional chassis frame)

B. इंटीग्रल चेसिस फ्रेम (Integral chassis frame)

C. इसमें कुछ सेक्शन भी बनाये जाते है जो स्टील के बने होते है,

D. चैनल सेक्शन (Chaanel Section)

E. बॉक्स सेक्शन (Box Section)

F. पाइप सेक्शन (Pipe Section)

 

चेसिस Frame की रिपेयरिंग कैसे करते है:-

चेसिस पहले से ही बहुत मजबूत बनाया जाता है, और यदि गाडी ठीक ढंग से चलाये जाये तो चेसिस Frame को किसी भी प्रकार की रिपेयरिंग की आवश्यकता नहीं पड़ती, लेकिन कुछ लोग बहुत ही ख़राब गाडी चलाते है या यु कहे तो रफ़ गाडी चलाते है. ख़राब सडको पर बहुत तेज गाडी चलाई जाती है, और तो और उनमे क्षमता से ज्यादा अधिक भार भी लाया जाता है, इसी कारण वश अगर चेसिस Frame में कुछ खराबी या फिर रिवेट लूज हो जाये तो उससे फिर से बदले जाते है.

1. सबसे पहले तो चेसिस Frame के रिवेट हेड को ड्रिल से या फिर गैस कटर से काटे, इसमें चिजल का उपयोग न करे क्यों की चिजल के कारन रिवेट के होल का साइज़ बढ़ सकता है,

2. कभी भी गर्म रिवेट ही होल में डाले और हतोड़े से उसके हेड पर जोर से हम्मेरिंग करके ठीक प्रकार से बिठाये,

3. कभी भी ठंडा रिवेट का प्रयोग बिल्कुल भी न करे, क्यों की इससे पक्का ज्वाइंट नहीं बैठ सकता.

4. ध्यान रखे की रिवेट का साइज़ सुराख़ के साइज़ से छोटा होना चाहिए, (Accident Chassis Frame Repair kaise kare – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग)

5. रिवेट को डालने से पहले, रिवेट सुराख़ को अच्छी तरह से साफ़ कर ले.

6. कभी अगर रिवेट लूज हो जाये तो उसे टाइट करने की कोशिश न करे, उसे निकाल कर नया रिवेट फिट करे.

Read More – Chassis ke bare me jankari

 

क्रैक चेसिस फ्रेम रिपेयरिंग कैसे करे:

चेसिस Frame में कभी कभी क्रैक भी आ जाती है, इसलिए गाडी सावधानी पूर्वक चलानी चाहिए, अगर किसी चेसिस में क्रैक पड जाये तो उसे कभी भी पानी से धोना नहीं, क्योंकि पानी से धोने पर क्रैक दीखते नहीं. क्रैक चेक करने के लिए अपने आँखों से ध्यानपूर्वक देखने पर आसानी से देखे जा सकते है.

चेसिस को चेक करने के लिए चौक और पानी के घोल करके चेसिस पर डाल दे, सूखने के बाद तसल्ली करने के लिए हतोड़े से जोर जोर से ठोकिये, तभी आपको चेसिस में क्रैक है या नहीं पता चल जायेंगा, और यदि सचमुच में क्रैक पड़ जाये तो सबसे पहले उस क्रैक को रिपेयर करे. नहीं तो यह क्रैक कभी भी टूट सकता है. और इसके कारण चेसिस टूट सकती है.

यदि चेसिस किसी कारण वश आप क्रैक रिपेयर नहीं कर सकते, और क्रैक रिपेयर करने की साधन सामग्री नहीं है, तो क्रैक के आजू बाजु में ड्रिल मशीने से सुराख़ करके छोड़ दे, सुराख़ कभी भी क्रैक को आगे नहीं बढ़ने देता. और कुछ समय बाद चेसिस क्रैक को रिपेयर करने का प्रबंध करे. आप चाहे तो चेसिस में लोहे की प्लेट लगाकर वेल्डिंग करके भी क्रेक को रिपेयर कर सकते है.

 

एक्सीडेंट चेसिस फ्रेम रिपेयरिंग kaise kare:

दोस्तों अगर किसी के गाडी का एक्सीडेंट हो जाये, और गाडी की चेसिस रिपेयर करनी हो, तो सबसे पहले तो चेसिस allignment झुक जाये तो उसे सीधा करने के लिए, जैक लगाना चाहिए और इसकी मदत से सीधा किया जा सकता है, जो भाग बेंड हुआ हो उसे वेल्डिंग टौर्च से गरम करके सीधा किया जा सकता है.

चेसिस फ्रेम alignment कैसे करे:

बेंड हुआ भाग को सीधा करने के बाद उसकी alignment चेक करनी है, उसे दूसरी फ्रेम की तुलना में उनकी दुरी बराबर होनी चाहिए, और उसके लेवल भी बराबर होना चाहिए.

 

Author By: Prashant

 

Inspection supervision:

Overview:- Accident Chassis Frame Repair – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग

Name- चेसिस रिपेयरिंग कैसे करे, (Chassis ka parichay Kaise Kare – चेसिस का महत्व क्या है)

Use:- Automobile,

Material:- Aluminum, still, alloy metal,

Search Keyword:-

1. चेसिस रिपेयरिंग कैसे करे,

2. Accident ki chassis kaise Repair kare,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. आरटीओ में करियर कैसे बनाये

2. दुर्घटनाओं को रोकने के लिए बेस्ट उपाय

3. फास्टैग के लिए आवेदन कैसे करे

4. चेसिस का परिचय और जानकारी

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Accident Chassis Frame Repair – Automobile me Chassis Repair kaise kare और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!