Blood ke bare me jankari – ब्लड के बारे में जानकारी in Hindi

मानव ब्लड के बारे में जानकारी, Blood ke bare me jankari, रक्त का अर्थ एवं परिभाषा क्या है. (Blood ka siddhaant in hindi), ब्लड किसे कहते हैं, (Blood/Rakt ke bare me rochak tathya), Sharir ke Blood ka upyog in hindi.

Blood ke bare me jankari - ब्लड के बारे में जानकारी

 

ब्लड के बारे में जानकारी – Blood ke bare me jankari

Blood ka siddhaant in hindi: नमस्ते दोस्तों, एक बार फिर से आज हम आपका आपके सबके चहिते अपनासंदेश वेब पोर्टल पर आपका हार्दिक स्वागत है. जैसे की दोस्तों आप सब जानते है की है हर बार आपके लिए नई-नई और महत्त्वपूर्ण जानकारिया देते रहते है. तो ऐसी ही एक नई और महत्त्वपूर्ण जानकारी आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से देने जा रहे है. दोस्तों आज की जानकारी हमारे शरीर के एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण घटक के बारे में है और वह है BLOOD.

तो दोस्तों क्या आप जानते है की हमारे शरीर में खून कीतनी मात्रा में होता है? हमारे शरीर में खून कैसे निर्माण होता है? खून में किन घटकों का समवेस होता है? और वह घटक कैसे प्राप्त होते है? ऐसे बहुत सारे सवालो के जवाब आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से देने जा रहे है. तो दोस्तों आइये जानते है.

Blood ka siddhaant

रक्त का महत्व और परिचय:

दोस्तों, जैसे की आप सब जानते है की खून हमारे शरीर का सबसे महत्त्वपूर्ण घटक है. हमारे शरीर में खून का प्रमाण यह ८% शरीर के वजन के समान होता है. एक शुद्ध शरीर में खून ५ से ७ प्रतिशत लिटर तक होना चाहिए. खून यह एक fluid connective tissue है. खून यह गर्द लाल रंग का होता है. खून का आध्ययन करने वाले शास्त्र को Hematology कहते है. खून का ph ७.४ होता है. सोडियम बायकार्बोनेट यह खून का बफर होता है.

खून का विभाजन यह प्लाज्मा और कानिकारा (corpuscles) में हुआ है. खून में प्लाज्मा का प्रमाण ५५ से ६०% तक होता है और कनिकाओ का ४० से ४५ % तक होता है. plasma यह गाड़े सफेद रंग का होता है. प्लाज्मा में ९०% तक पानी और १०% यक solute होता है. solute में ७% तक प्लाज्मा प्रोटीन होता है. उसमे globulin, albumin, fibrinager, prothrombin, heparin, immunoglobulin यह सारे protein होते है. और बचे हुए ३% में पुष्टिकर (nutrients), metabolic waste, ion, hormones होते है.

कनिकाओ में red blood cell (RBC) लाल रक्त पेशी, व्हाइट ब्लड cell (wbc) श्वेत रक्त पेशी, platelets होते है.

 

लाल रक्त पेशी (RBC) के बारे में जानकारी:

लाल रक्त पेशी को erythrocytes कहा जाता है. इन कनिकाओ में बाकि कनिकाओ की तरह केन्द्रक (nucleus) नही होता, यह वृत्ताकार द्विबिजपत्ति (circular biconcave) इस आकर की होती है. इन कनिकाओ का आकर ८ µm व्यास होता है. यह कनिकारी ५.१ से ५.८ million per mm³ पुरुषो में होते है. और महिलाओ में ४.३ से ५,२ millian/ mm³ प्रतिशत होते है.

इन कनिकाओ का आयु १२० दिन तक का ही होता है. यह कणिकाए bone marrow में तयार होती है. और लीवर में जाकर समाप्त होती है. इन कनिकाओ के निर्माण को erythroposis कहते है. अगर इन कनिकाओ का प्रमाण शरीर में बद जाता है तो polycythmia होता है और कम होने से erythrocytopenia होता है. rbc में हिमोग्लोबिन होता है. जो हमारे शरीर में प्राणवायु का वहन शरीर के सभी जगहों तक करवाता है. इसकी मात्रा पुरुषो में १३ से १८ gm /१०० और महिलाओ में ११.५ से १६.५ gm /१०० तक होती है.

Sharir ke Blood ka upyog

श्वेत रक्त कणिकाए WBC के बारे में जानकारी:

इने LEUKOCYTES इस नाम से भी जाना जाता है. इन कनिकाओ में केन्द्रक होता है. जिसमे हम पेशी विभाजन (cell division) देखा जाता है. यह अमोएबोइद आकर में होते है. इनका आकार ८-१९ µm व्यास का होता है. यह कणिकाए ५००० से ९००० millian /mm³ शरीर में होते है. इनका आयु ३-४ दिन का होता है. इनके निर्माण को लयूओपोसिस कहते है. इनका प्रमाण बद जाने से खून का कैंसर होता है. इन कनिकाओ का निर्माण लीवर, लसीका ग्रंथि, bone marrow में होता है. अगर rbc & WBC का प्रमाण देखा जाये तो ६००:१ ऐसा होता है.

Sharir ke Blood ka upyog

Platelets (प्लेटलेट्स) क्या है:

इन कनिकाओ को thromocytes के नाम से भी जाना जाता है. इन कनिकाओ का आकर २-४ µm व्यास होता है. इन कनिकाओ में केन्द्रक नही पाया जाता है. यह शरीर में २.५ १० kh/mm³ होते है. इनकी आयु ५ से१० दिन की होती है. इनके निर्माण की प्रकिया को थ्रोमोपोसिस कहते है. यह bone marrow में पाया जाता है. यह गोल उभयलिंगी (round biconcave) आकार के होता है.

Read More – Body Health ke rules kya hai

Sharir ke Blood ka upyog

CLOTING of blood (खून का गठन):

खून का जमाव २ से८ मिनिट में होता है. जब हमारे शरीर को चोट लगती है उस वक्त खून शरीर से बहर की तरफ निकलता है. उस समय PLATELETS सतर्क हो कर thrombi Kansan यह emzaym सीक्रेट करती है. यह enzaym लगे हुए स्थान पर जाकर prothombin emzaym को तयार करता है. prothombin में का antithrombin को ख़त्म करने के लिए ca²+ आयन उपयोग कर thombin तयार होता है. thrombin यह कन्वर्ट हो कर fibrinogen बनता है. यह निष्क्रिय रूप में होता है, और इसको सक्रीय होने के लिए vitamin K यह heparin को नष्ट कर फाइब्रिन बनता है. फाइब्रिन यह फाइबर बना कर platelets को जमा करता है. यह एक जले के समान होता है. यह सूखने पर खरती बनती है.

इस तरह से हमारे शरीर के घाव का खून का प्रवाह २ से ८ मिनट में बंद करता है. खून में clotting factor VIII & XI यह अनुपस्थित होने के कारण खून का गठन नही हो पाता.

इसी के साथ दोस्तों जल्द ही आपसे मिलते है.

 

Author by: DIPAK

Inspection supervision:

Overview:- Blood ke bare me jankari – ब्लड के बारे में जानकारी, (रक्त का अर्थ एवं परिभाषा क्या है)

Name- ब्लड किसे कहते हैं, (Blood/Rakt ke bare me rochak tathya)

Search Keyword:-
1. ब्लड किसे कहते हैं,
2. खून में किन घटकों का समवेस होता है,
3. Blood/Rakt ke bare me rochak tathya,

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. बबूल के गुणधर्म और लाभ 

2. एक्यूप्रेशर कोर्स क्या होता है?

3. सूर्य नमस्कार के मास्टर कैसे बने

4. योग में करियर कैसे बनाये

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Blood ke bare me jankari – Blood ka siddhaant in hindi और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!