Engineering ke bare me jankari – इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी

इंजीनियरिंग के बारे में पूरी जानकारी, करियर विकल्प कैसे चुने, engineering courses and syllabus, बेहतर करियर विकल्प कैसे बनाये, Automotive engineer kaise bane. ऑटोमोटिव में भविष्य (Future) बनाये. Apna Career kaise banaye, Guide in Hindi.

Engineering ke bare me jankari - इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी

 

Engineering ke bare me jankari – इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी:

engineering me Career: नमस्कार दोस्तों, आज एक बार फिर से आप सभी का “अपना संदेश” वेब पोर्टल में स्वागत है. दोस्तों आज हम आपको कुछ महत्वपूर्ण बातें बताने जा रहे हैं, क्या आप जानते हैं की अपना करियर कैसे बनायें? क्या आप अपना सुनहरा करियर बनाना चाहते हैं? एक अच्छा ”Automotive Scientist” बनना चाहते है? क्या आप चाहते है की Engineering me career kaise banaye, तो आप सही आर्टिकल पढ़ रहे हैं. जी हां दोस्तों इसके पहले वाले लेख में आपने ”करियर विकल्प के बारे में जाना है”. और उसी लेख को पूरा करते हुए आज हम ”अपना सुनहरा करियर विकल्प कैसे चुने” और यह कैसे महत्वपूर्ण है. इसके बारे में विस्तार से जानेंगे, जिससे आप आसानी से अभियांत्रिकी (Engineering) में अपना सुनहरा करियर बना सकते हैं.

दोस्तों, हर किसी का एक सपना होता है कि मैं कुछ न कुछ बन जाऊ और एक बेहतर करियर ऑप्शन को सिलेक्ट करू, सभी की यह महत्वाकांक्षा होती है. दोस्तों, जैसे हर किसी की अलग-अलग चीजों में रुचि होती है जैसे इंजीनियरिंग, डॉक्टर, आई.पी. एस. पुलिस आदि.

 

इंजीनियरिंग की परिभाषा:

दोस्तों, शास्त्रीय खोज का प्रत्यक्ष उपयोग के लिए रुपांतर करने का काम करने वाले व्यक्ति को हम “इंजीनियरिंग” कहते है. इसे हम ऐसा अपनी भाषा में बोल सकते है. लेकिन असल में यह इसकी व्याख्या नही है. एखादी कल्पना के आरेखन, विश्र्लेषण, निर्मिती, इसमें सातत्यपूर्ण बदलाव और सुधारना इस काम के लिए हमें इंजिनियर लगता है. यह काम अलग-अलग क्षेत्रो में लग रहा होगा फिर भी, इसकी चार हिस्सों में विभागणी की गयी है. जैसे की इलेक्ट्रिकल, केमिकल, मैकेनिकल, सिविल.

 

इंजीनियरिंग क्या है और करियर कैसे बनाये:

दोस्तों, यह रचना तंत्रज्ञान औए इंजीनियरिंग के शिक्षा का विस्तार होने तक 150 साल कायम था. लेकिन गये 25 सालो में इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर, आयटी इनका विकास बहुत बड़े पैमाने हो रहा है, वैसे ही केमिकल में, पेट्रोलियम, पेट्रो केमिकल, पॉलीमर ऐसे विविध क्षेत्रो में स्पेशलाइजेशन हो रहा है. दोस्तों, धातुशास्त्र, खान्काम, अग्निशामक दल की भी इंजिनियर में ही गणना की जाती है. मैकेनिकल इंजिनियर की भी अब इंडस्ट्रियल, ऑटोमोबाइल, उत्पादन, मरीन ऐसे विभाग करके उनको प्रशिक्षण दिया जाता है. और वो उस क्षेत्र में विशेषज्ञ बनाये जाते है.

 

इंजीनियरिंग में करियर विकल्प:

सबसे महत्त्वपूर्ण सिविल इंजीनियरिंग. पूल, रास्ते, इमारत, कारखाने, टावर्स, रेल के लिए पटरी का मार्ग तैयार करना, यह सारी बाते अब सिविल इंजिनियर को आवश्यक हो गया है. यह सारी काम करने का किसी को नया नही लगता है, फिर दिए गए समय के पहले वह काम पूरी होना चाहिय., यह अपेक्षा उनसे की जाती है. इंजीनियरिंग क्षेत्र में जाननेवाला फरक याने की एक ही क्षेत्र में काम करने वाले इंजिनियर को इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्पुटर क्षेत्र की मदद लेनी पड़ती है. उसके उपर निर्भर तंत्रज्ञान की शिक्षा लेना आवश्यक होता है. (Engineering ke bare me jankari – engineering courses and syllabus)

दोस्तों, कोनसे भी यंत्र को नियंत्रित करना और यंत्र निर्माण करने के लिए काम करना पड़ता है. भारत में हर साल ४ लाख इंजिनियर पदवीधर के रूप में तैयार किये जाते है. लेकिन उपर तक किये गए प्रशिक्षण के साथ और आधुनिक तंत्रज्ञान के साथ सामने लेके जाने वाले की संख्या सिर्फ 1.5 लाख इतनी ही होती है. अच्छे इंजिनियर की खोज में रहने वाले भारत के उद्योग क्षेत्र को चाहिए उतने इंजिनियर नही मिलते है. वैसे भी मुलभुत शाखायो का मुलभुत हिस्सा बड़े पैमाने पर जानने लगा है. इस शाखा की पदवी लेकर पैसो के आकर्षण के कारण आयटी के पीछे जाने वाली विद्यार्थियों की संख्या बड़े पैमाने पर बढ़ने लगी है.

Read More – 12th ke bad computer engineer kaise bane

 

इंजीनियरिंग में भविष्य:

दोस्तों, जातेजाते आखरी में एक ही बात की कहना चाहूंगी की, भारत के नामवंत इंजिनियर के नाम लेने के समय, सर एल.के.राव, माधवराव चिप्ले इनकी याद आती है. धारण, नदिया, और जल नियोजन इनका और, कोकण से दिल्ली तक मेट्रो का प्रकल्प उतारने वाले राजाराम, व्ही, श्रीधरन इनका तो हमें नाज करना चाहिए. दोस्तों, यह सारे सिविल इंजिनियर. “इन्फोसिस” के न्याय मूर्ति किसी को भी पता नही है. लेकिन है तो वह इलेक्ट्रिकल इंजिनियर. दोस्तों, आपको कोनसी शाखा का इंजिनियर होना पसंद है यह हमसे शेअर जरुर करे.

 

Types of engineering:

1. Aerospace,

2. Agricultural,

3. Biomedical,

4. Chemical,

5. Civil (General and Structural),

6. Computer,

7. Control Systems,

8. Electrical and Electronics,

9. Industrial,

10. Manufacturing,

11. Mechanical,

12. Mining,

13. Nuclear, and Petroleum.

 

Author by: APARNA

 

Inspection supervision:

Overview:- Engineering ke bare me jankari – इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी (Mechanical ke bare me jankari).

Name:- इंजिनीअरिंग कोर्स कैसे करे.

Type of engineer:- Industrial, Manufacturing, Mechanical,

Search Keyword:-
1. Tyre Kya Hai,
2. Tyre ke bare me jankari,
3. टायर का क्या उपयोग है,

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. डिप्लोमा इंजीनियरिंग (Polytechnic) की प्रवेश प्रक्रिया

2. अपना संदेश देकर करियर कैसे बनाये

3. ऑटोमोबाइल इंजीनियर कैसे बनें

4. मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स कैसे करे

5. इलेक्ट्रीशियन कैसे बने

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Engineering ke bare me jankari – Bhavishya ka Engineer kaise bane और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद….

Post Comments

error: Content is protected !!