Naak ke bare me jankari – (नाक का महत्व) नाक के बारे में जानकारी

नाक के बारे में जानकारी. Naak ke bare me jankari, नाक का काम क्या है, नाक का महत्व और परिचय, नाक का परिचय कैसे करे? (How to introduce nose), नाक के बारे में रोचक जानकारी. नाक के रोचक तथ्य के बारे में बताये,

Naak ke bare me jankari - नाक के बारे में जानकारी

 

Naak ke bare me jankari – नाक के बारे में जानकारी:

Nose ke bare me jankari: नमस्कार, आज फिर एक बार ApnaSandesh वेबपोर्टल पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है. दोस्तों हर बार हम आपको नई जानकारी से अवगत कराते है. तो दोस्तों आज आपके लिए इस लेख में नाक के बारे में जानकारी बताने जा रहे है. क्या आप नाक के बारे में जानते है, इसका उपयोग क्या है, (naak ke bare me jankari), तथा दोस्तों, आज हम आपको अपने नाक की क्रिया कैसे होती है इसके बारे में जानकारी बताएँगे, क्योकि नाक हमारे शरिर का एक महत्त्व पूर्ण हिस्सा है. इसीलिए इन सारी बातोँ की जानकारी आज के लेख के माध्यम से हम ज्ञात करते है.

दोस्तों, आज हम आपको अपने नाक में जो क्रियाए होती है इसके बारे में जानकारी देने वाले है, की नाक क्या काम करता? उसका हमारे जीवन में क्या महत्त्व है? दोस्तों, इस बारे हमें पता ही होना चाहिए, क्योकि नाक हमारे शरिर का एक महत्त्व पूर्ण हिस्सा है.

तो, आईये आज हम नाक के बारे में जानकारी जाने. जैसे की हम जब अपने चेहरे के तरफ देखते है तो, सीधी सी बात है हमारा ध्यान नाक के तरफ ही जाता है. फिर वो प्राणी हो या मनुष्य. अपने नाक का साइज़ यह उस प्राणी के गंध के तीव्रता पर अवलंबित होता है. एक शास्त्रीय जाँच के नुसार नाक की अंतरत्वचा जितनी बढ़ी होती है, उतना ही प्राणियों का गंधज्ञान ज्यादा तिव्र होता है.

 

हर प्राणी के नाक की अलग अलग रचना:

जैसे की अपने घर में रहने वाले प्राणी कुत्ता और बिल्ली इनको ही देख लों, बिल्ली का गंधज्ञान अक्सर कम रहता है, और उसका नाक छोटा रहता है. और कुता जो होता है उसका गंधाज्ञान ज्यादा तीव्र होता है. मनुष्य से ज्यादा गंधज्ञान रहने वाले और गंध लेते हुए पीछा करने वाले कुत्ते को मनुष्य पालता है. दोस्तों जैसे की एक मांस का हिस्सा हम कुत्ते को दिए तो जल्द ही पकड़ लेता है. याने इससे इतना पता हो जाता है की इसकी नाक कितनी सेंसिटिव होती है. (naak ke bare me jankari)

जब मनुष्य की नाक अन्दर की और से गीली रहती है, तब वह अच्छा काम करती है, जब वह सुखी होती है तब वह अंतरात्वचा गंधाज्ञान नही दे पाती है. इसका ऐसा मतलब है की नाक में ज्यादा पानी गया तो वह सहन नही कर पाता है. फिर इसमें सर घुमने लगता है, सास लेना बंद ना हो इसलिए यह निसर्ग ने नियम बनाया है. दोस्तों, दूसरी ओर देखे तो पानघोडा इन प्राणियों के नाक की रचना बहुत सुंदर और अच्छी बनाइ होती है, जब वह पानी में रहते तब हव नाकपुड़ी बहार रखकर पानी में छिपकर रह सकता है. इस बारे में हत्ती का नाक तो अलग ही है. वह उसके सुंड के अन्दर के छेद से वह सास लेता है.

Read More – Yoga ki Jankari aur Labh

 

नाक एक गंधज्ञानी:

नाक के पेशी में से जानेवाला गंधाज्ञान यह बहुत ही मजाकि होता है, जैसी की खुशबू पसंद है, या फिर नही है, और तो और जो अच्छे गंध की खुशबू बाद में भी आती रहती है. यह अलग रचना न होती तो जीवन में मुसिबतो की पंचाइत हो जाती. दोस्तों, जब हमारे नाक के अन्दर के भाग में सुजन आती है, तब नाक से पानी निकलने लगता है, इसे ही सर्दी कहते है.

दोस्तों, जब हमारे रोते समय आँख से पानी निकलता है, तब नाक से भी पानी निकलेगा ऐसी व्यवस्था की जाती है. उस कारण से भी नाक से पानी निकलता है. नाक के ग्रंथियों को बहुत सारा रक्तपुरवठा लगता है. उसी कारण से अगर नाक को खरोच आयी तो, वहां से खून निकलना चालु होता है, इसी समय पर नाक के आगे के हिस्से को उंगली से दबा लेना, और तिन से पांच मिनट तक खून रोकने की लिए प्रकृति ने यह नियम बनाया है.

 

नाक की रचना:

Nose की रचना ही निराली बनाई गई है, नाक के अंदर बालो से हमें अच्छी शुद्ध हवा मिलती है. नाक में थोडीसी भी मुसीबत आई तो वह छींक आकर अपने आप खुला हो जाता है. छिक आना यह उपाय नाक अच्छा रहने के लिए सारे प्राणियों को दिया गया है. दोस्तों, सोते समय हमारे नाक के पीछे वाले हिस्से में जब मुसीबत आती है तब घूरने का आवाज सुनाई देने लगता है. निंद में घुरना यह तो स्वाभाविक है, लेकिन उनके बाजू में सोने वालो को तकलीफ होती है. दोस्तों, मनुष्य ही नही बल्कि प्राणी भी निंद में घूरते है. घूरने से अपने जीवन पर ज्यादा परिणाम नही होता है. लेकिन इस विषय पर हर समय पढाई कर कर अलग-अलग संशोधन करके नए-नए निश्कर्ष निकालते रहते है.

 

नाक के आकार और साइज़:

1) न्युबियन नाक,

2) ग्रीक नाक,

3) हुक नाक,

4) धनुषाकार नाक,

5) बटन नाक,

6) सीधी नाक,

7) अवतल नाक,

8) नाक के प्रकार: टेढा मुडा हुआ नाक,

9) बड़ी नाक,

10) लम्बी नाक,

11) छोटी नाक

Naak ke bare me jankari

इस तहर हमारे नाक के बारे में कुछ कहा सुनी बाते, जो हमें ज्ञात होना जरुरी है.

 

Author By:- APARNA

 

Inspection supervision:

Overview:- Naak ke bare me jankari – नाक के बारे में जानकारी (Naak ka Parichay kaise kare)

Name- नाक के रोचक तथ्य के बारे में बताये,

Skill:- नाक के बारे में जानकारी प्राप्त करे,

Search Keyword:-

1. How to introduce nose,

2. Naak ke bare me jankari,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. योग में करियर कैसे बनाये

2. एक्यूप्रेशर कोर्स क्या होता है?

3. मेडिकल इंजीनियर कैसे बने

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Naak ke bare me jankari – नाक के बारे में जानकारी और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!