Bio energy ke bare me jankari – जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी

जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी, Bio energy ke bare me jankari. जैव ऊर्जा का अभ्यास कैसे करे. (Bio energy kya hai janiye), बायोएनेर्जी क्या है, Bio energy ka mahatva, Bio energy ki jankari in hindi. भविष्य की ऊर्जा बायो एनर्जी, How biomass energy is produced, पूरी जानकारी.

Bio energy ke bare me jankari - जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी

 

जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी | Bio energy ke bare me jankari

Bio energy se sambandhit jankari: नमस्कार प्रिय पाठक, आज फिर एक बार ApnaSandesh वेबपोर्टल पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है. दोस्तों हर बार हम आपको नई जानकारी से अवगत कराते है. तो दोस्तों आज आपके लिए इस लेख में जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी बताने जा रहे है. क्या आप जैव ऊर्जा के बारे में जानते है, (Bio energy ka mahatva janate hai), दोस्तों क्या आपको पता है की, जैव ऊर्जा याने क्या होता है? (bioenergy environmentally friendly) जैव ऊर्जा कैसे बनती है? इन सारी बातोँ की जानकारी आज के लेख के माध्यम से हम ज्ञात करते है.

दोस्तों, मुझे आशा है कि यह लेख आपको पसंद आएगा, और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि यह लेख आपको कैसा लगा. तो दोस्तों आइये जानते है. पर्यावरण के रक्षा के लिए जैव ऊर्जा (Bio energy) का उपयोग करना क्यों जरुरी है?

biomass energy produced

जैव ऊर्जा की जानकारी – (Bio energy information):

जैव ऊर्जा जैविक स्रोतों से प्राप्त सामग्री से उपलब्ध अक्षय ऊर्जा है. बायोमास कोई भी कार्बनिक पदार्थ है जिसने रासायनिक ऊर्जा के रूप में सूर्य के प्रकाश को संग्रहीत किया है. अपने सबसे संकीर्ण अर्थों में यह जैव ईंधन का पर्याय है, जो जैविक स्रोतों से प्राप्त ईंधन है.

 

बायोएनेर्जी क्या है – (What is bioenergy):

बायोएनेर्जी (Bio energy) से तात्पर्य उस बिजली और गैस से है जो जैव पदार्थ से उत्पन्न होती है, जिसे बायोमास के रूप में भी जाना जाता है.

यह पौधों और लकड़ी से लेकर कृषि और खाद्य अपशिष्ट तक कुछ भी हो सकता है.

दोस्तों आपके जानकारी के लिए बता दे की, बायोएनेर्जी शब्द कार्बनिक पदार्थ से उत्पन्न परिवहन ईंधन को भी कवर करता है. लेकिन इस लेख में, हम सिर्फ इस बात पर ध्यान केंद्रित करेंगे कि यह कैसे बिजली और कार्बन तटस्थ गैस उत्पन्न करता है. तो आइये जानते है बायोमास ऊर्जा (biomass energy) कैसे निर्माण होती है.

biomass energy produced

बायोमास ऊर्जा कैसे उत्पन्न करता है – (How does biomass generate energy):

जब बायोमास का उपयोग ऊर्जा स्रोत के रूप में किया जाता है, तो इसे ‘फीडस्टॉक’ भी कहा जाता है. फीडस्टॉक्स को विशेष रूप से उनकी ऊर्जा सामग्री (एक ऊर्जा फसल) के लिए उगाया जा सकता है, या उन्हें कृषि, खाद्य प्रसंस्करण या लकड़ी उत्पादन जैसे उद्योगों से अपशिष्ट उत्पादों से बनाया जा सकता है.

लकड़ी के छर जैसे सूखी, दहनशील फीडस्टॉक को बॉयलर या भट्टियों में जलाया जाता है. इस ऊर्जा से पानी उबालता है और भाप बनाता है, जो बिजली पैदा करने के लिए टरबाइन के फैन को चलाता है.

गीले फीडस्टॉक्स, उदा. खाद्य अपशिष्ट की तरह, सील टैंकों में डाल दिए जाते हैं जहां वो सड़ते हैं और मीथेन गैस (जिसे बायोगैस (Biogas) भी कहा जाता है) का उत्पादन करते हैं. गैस उत्पन्न की जा सकती है और बिजली पैदा की जा सकती है. या इसे राष्ट्रीय गैस ग्रिड में इंजेक्ट किया जा सकता है और इसका उपयोग खाना पकाने और हीटिंग के लिए भी किया जा सकता है. बायोएनेर्जी एक बहुत लचीला ऊर्जा स्रोत है.

 

बायोएनेर्जी पर्यावरण के अनुकूल और टिकाऊ कैसे है:

जलता हुआ बायोमास कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ता है. क्योंकि यह कार्बन की उतनी ही मात्रा में रिलीज करता है, जितना कि कार्बनिक पदार्थ.

इसका उत्पादन करते समय इसे अवशोषित करते है, लेकिन यह वातावरण के कार्बन संतुलन को नहीं छोड़ता.

इसकी तुलना में, जीवाश्म ईंधन जलाने से कार्बन डाइऑक्साइड निकलता है जो लाखों वर्षों से बंद है, ऐसे समय में जब पृथ्वी का वायुमंडल बहुत अलग था. यह कार्बन संतुलन को तोड़ते हुए हमारे वर्तमान वातावरण में अधिक कार्बन डाइऑक्साइड जोड़ता है.

बायोएनेर्जी (Bio energy) की समग्र स्थिरता और पर्यावरणीय लाभ इस बात पर निर्भर कर सकते हैं कि अपशिष्ट फीडस्टॉक्स या ऊर्जा फसलों का उपयोग किया जा रहा है या नहीं.

biomass energy produced

ऊर्जा फसलें – (energy crops):

ऊर्जा फसलें विशेष रूप से ऊर्जा पैदा करने के लिए उगाई जाती हैं. इसलिए, मीथेन को कचरे से कैप्चर करने के विपरीत, एक तर्क यह नहीं है कि उन्हें जलाने से ग्रीनहाउस गैसों में कमी आती है जो कि वैसे भी बंद कर दिए जाते थे.

हालांकि, ऊर्जा फसलें तब भी कम कार्बन वाली हो सकती हैं, अगर वो लगातार प्रबंधित की जाती हैं. उदा. जब ऊर्जा फसलों को जलाया जाता है, तो समतुल्य फसलें लगाई जानी चाहिए जो जल द्वारा छोड़ी गई कार्बन की समान मात्रा को अवशोषित करेगी.

Read More – Biotechnology me Career kaise banaye

 

क्या अच्छी ऊर्जा जैव ऊर्जा का उपयोग करती है:

और इसका जवाब है हाँ. नवीकरणीय बिजली का 20% बायोगेनरेशन से होता है और 6% गैस जो हम सप्लाई करते हैं वह बायोमेथेन ही है.

Bio energy ka mahatva

बायोएनेर्जी के विभिन्न प्रकार – Different types of bioenergy:

1. बायोमास – Biomass,

2. बायोगैस – Biogas,

3. शैवाल जैव ईंधन – Algae Biofuels,

4. वैश्विक जैव ऊर्जा की खपत – Global Bio-Energy Consumption,

5. ठोस जैव ईंधन – Solid Biofuels,

6. सौर ऊर्जा – Solar Energy,

8. वायु ऊर्जा – Air Energy,

 

भविष्य की ऊर्जा बायोएनेर्जी – Bhavishya ki urja Bioenergy:

हालिया नवाचार जैव ईंधन बनाने के लिए इसे सस्ता और आसान बना रहे हैं. टिकाऊ फीडस्टॉक्स जैसे लकड़ी, पुआल और कचरे से बने उन्नत (या दूसरी पीढ़ी) को यहां और विदेशों में विकसित किया जा रहा है. बायोएथेनॉल और सिंथेटिक पेट्रोल और डीजल को लकड़ी के अवशेषों से बनाया जा सकता है, लेकिन प्रक्रियाओं का अभी तक व्यवसायीकरण नहीं किया जा सका है.

 

Author by – Savita

 

Inspection supervision:

Overview:- Bioenergy ke bare me jankari – जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी, (बायोएनेर्जी का अभ्यास कैसे करे)

Name- बायो एनर्जी की परिभाषा, (Bioenergy ki Paribhasha)

Search Keyword:-

1. बायोएनेर्जी का अभ्यास कैसे करे,

2. Bioenergy ke bare mein jankari in hindi.

3. Bioenergy ka parichay janate hai,

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. बायोमास ईंधन कैसे बनाए – How to make biomass fuel
2. पशुचिकित्सा में औषधीय पौधों का महत्व – Importance of medicinal plants in veterinarian
3. नर्सरी का व्यवसाय कैसे करे – How to do a nursery business
4. खेती के लिए बहुत उपयोगी टिके – organic farming benefits
5. बायोगैस ऊर्जा का उपयोग कैसे करे – Biogas Energy ka Upyog kaise kare

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Bio energy ke bare me jankari – जैव ऊर्जा के बारे में जानकारी (Bioenergy ka abhyas Kaise kare) और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!