Steering System Ke vividh parts jankari – स्टीयरिंग सिस्टम के पार्ट की जानकारी

स्टीयरिंग सिस्टम के अलग अलग भाग और पार्ट्स. Steering System Ke vividh Bhag or parts. स्टीयरिंग व्हील क्या है, (steering wheel kya hai), steering column ki jankari, स्टीयरिंग किसे कहते है, (Steering kise kahte hai), स्टीयरिंग शाफ़्ट के कार्य (function of steering shaft) in Hindi.

Steering System Ke vividh parts jankari - स्टीयरिंग सिस्टम के पार्ट की जानकारी

 

Steering System Ke vividh parts jankari – स्टीयरिंग सिस्टम के पार्ट की जानकारी:

नमस्कार दोस्तों, लम्बे समय के बाद आज फिर आपके लिए ऑटोमोबाइल तंत्रज्ञान से संबंधित लेख प्रकाशित करने जा रहे है, उम्मीद है आप इस लेख को भी उतना ही पसंद करेंगे, जितना पहले के लेख को पसंद किया, क्योंकि हमारा यही प्रयास है की आप तक सही और बेहतर जानकारी पहुंचा सके.

दोस्तों, क्या आप ऑटोमोबाइल के गाडियों में प्रयोग होने वाले स्टीयरिंग (Steering) के बारे में जानते है? क्या आप स्टीयरिंग का क्या मतलब होता है यह जानते है? स्टीयरिंग सिस्टम के अलग अलग भाग और पार्ट्स (Steering System Ke Alag Alag Bhag or parts) के बारे में जानते है? स्टीयरिंग गियर बाक्स (steering gear box) के बारे में जानते है, स्टीयरिंग कॉलम (steering column) के बारे में जानते है, स्टीयरिंग ड्राप आर्म (steering drop arm) के बारे में जानते है? और क्या आप अगर नहीं जानते और जानना चाहते है तो आप सही आर्टिकल पढ रहे है. जी हाँ दोस्तों आज के इस लेख में, हम आपको स्टीयरिंग सिस्टम के अलग अलग भाग और पार्ट्स के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे, और जानेंगे की कैसे स्टीयरिंग सिस्टम हर गाड़ी में बहुत ही ज़रुरी और लाभकारी होती है.

steering ki jankari

स्टीयरिंग के अलग-अलग भाग और पार्ट्स (steering system):

1. स्टीयरिंग व्हील (steering wheel)

2. स्टीयरिंग कॉलम (steering column)

3. स्टीयरिंग शाफ़्ट (steering shaft)

4. स्टीयरिंग गियर बाक्स (steering gear box)

5. स्टीयरिंग ड्राप आर्म (steering drop arm)

6. नक़ल आर्म (knuckle arm)

7. पुल एंड पुश रॉड (pull and push rod)

8. टाई रॉड एंड टाई रोंड एंड (tie rod and tie rod end)

steering ki jankari

स्टीयरिंग व्हील (steering wheel):-

दोस्तों, आपको मालूम है की गाड़ी चलाते समय स्टीयरिंग व्हील की बड़ी आवश्यकता होती है. जब कभी हमारी गाड़ी लेफ्ट या राईट टर्न लेनी हो तब हमें स्टीयरिंग व्हील के द्वारा ही अपने गाड़ी को टर्न किया जा सकता है, और सड़क पर सीधे चलते समय भी स्टीयरिंग व्हील का बहुत प्रयोग किया जाता है.

स्टीयरिंग व्हील हमेशा हार्ड रबर या प्लास्टिक की बनी रहती है, जब कभी इसकी बनावट का काम सुरु रहता है तब इसके अन्दर स्टील वायर को मोल्ड करते समय डाल दिए जाते है, क्योंकि स्टीयरिंग व्हील अन्दर से काफी मजबूत बनी रहे और जब कभी वाहन चालक स्टीयरिंग को घुमाये तो बड़ी आसानी से घूम सके.

स्टीयरिंग व्हील के सेण्टर हब में स्प्लायिंस लगे रहते है जो कटे रहते है, और key के लिए एक खाचा बना रहता है, जिसके माध्यम से स्टीयरिंग शाफ़्ट उपर से टाइट किया जाता है, जब कभी स्टीयरिंग व्हील को बाहर निकलने की नौबत आती है, तब मैकेनिक आमतौर पर स्टीयरिंग व्हील को बाहर निकालने के लिए हतोड़ी और छेनी का उपयोग करते है, जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि, हतोड़ी और छेनी की मार से स्टीयरिंग व्हील की हब में बनी स्प्लायिंस ख़राब हो सकती है, और इसके साथ साथ स्टीयरिंग व्हील के निचे बने हब के निचे बना कॉलर भी टूट जाता सकता है.

इसलिए जब कभी भी स्टीयरिंग व्हील को बाहर की और निकालना हो तब स्टीयरिंग पुलर का प्रयोग करना चाहिए, इस टूल्स का प्रयोग करने पर आपकी स्टीयरिंग व्हील और इसके अन्दर लगे वायर पूरी सुरक्षा के साथ बाहर आ जायेंगा और ना ही स्प्लायिंस और कॉलर टूटने का या ख़राब होने का खतरा रहेंगा.

 

स्टीयरिंग कॉलम (steering column):-

स्टीयरिंग कॉलम या फिर आउटर ट्यूब भी कह सकते है, यह एक प्रकार की पाइप जैसी ट्यूब होती है जो की, अन्दर से खोकली होती है, इस ट्यूब का एक सिरा स्टीयरिंग व्हील के पास आकर ख़त्म होती है, और इसमें एक बुश लगाया जाता है, जो की स्टीयरिंग व्हील को घुमाने में मदत करता है, जिससे स्टीयरिंग शाफ़्ट आसानी से घूम पाती है, स्टीयरिंग कॉलम का दूसरा सिरा स्टीयरिंग बॉक्स के साथ बंधा रहता है, और तो और बहुत सारे स्टीयरिंग ट्यूब को डैशबोर्ड के निचे ब्रेंकीट लगाकर बांध दिया जाता है, ऐसा करने से वह लटक कर नहीं रहेंगा और अपना काम बड़ी आसानी से करता रहेंगा.

Read More – Manual aur power steering system ki jankari

 

steering shaft – स्टीयरिंग शाफ़्ट:-

स्टीयरिंग व्हील के साथ जो शाफ़्ट होता है, वह अछे लोहे का बनाया जाता है, इस शाफ़्ट का एक सिरा स्टीयरिंग व्हील के साथ फिट किया जाता है, और दूसरा सिरा स्टीयरिंग बॉक्स के अन्दर वर्म के साथ फिट किया रहता है. और कई बार यूनिवर्सल जॉइंट से स्टीयरिंग वार्म एक सिरा और दूसरा स्टीयरिंग शाफ़्ट से जोड़ दिया जाता है. और कभी कभी तो स्टीयरिंग व्हील की फिक्स पोजीशन होती है, कभी कभी वहां चालक का पेट होता है, और इसी कारण से स्टीयरिंग को टच करता है जिससे कारण वाहन चालाक को परेशानी होती है, इसलिए नए डिजाईन के साथ थोडा ड्राईवर सीट को पीछे की और कर सकता है.

या फिर ड्राईवर का कद कम हो और उसे ब्रेक या क्लच का उपयोग करना हो तो उसे सीट को आगे की और करके एडजस्ट करना पड़ेंगा. इसलिए इस कमी को पूरी करने के लिए, विदेशी गाडियों में स्टीयरिंग व्हील का स्टीयरिंग शाफ़्ट टेलीस्कोपिक बनाई जाती है, और वह किसी भी पोजीशन में उपर निचे की और करके लॉक कर सकते है, जिसके कारन वाहन चालक आसानी से अपनी गाड़ी लेफ्ट राईट या कही भी मोड़ सकते है.

Read More – Steering system ka Adjustment kaise kare

steering ki jankari

स्टीयरिंग गियर बाक्स (steering gear box):-

जब ड्राईवर गाड़ी के अन्दर बैठा होता है, और गाड़ी स्टार्ट करने के साथ साथ स्टीयरिंग व्हील को चेक करना अनिवार्य होता है, स्टीयरिंग बॉक्स का मेन कार्य यह है की, स्टीयरिंग व्हील को गोल घुमाने पर ड्राप आर्म को आगे और पीछे की और चलाता रहे, जिसके कारण वाहन चालक जब चाहे तब अपने गाड़ी को लेफ्ट राईट घुमा सके क्यों की इसके साथ ड्राप आर्म ड्रेग लिंक के साथ स्टब एक्सेल के साथ जुडी रहती है.

 

स्टीयरिंग ड्राप आर्म (steering drop arm):-

स्टीयरिंग ड्राप आर्म यह बहुत ही अच्छे लोहे को फोर्ज करके बनाये जाते है, इस स्टीयरिंग का एक सिरा स्प्लायिंस द्वारा स्टीयरिंग के अन्दर लगे सेक्टर शाफ़्ट के अन्दर लगा रहता है, और दुसरे सिरे पर ड्रंक लिंक बंधा रहता है, यह स्टीयरिंग ड्राप आर्म सेक्टर शाफ़्ट को घुमाने पर ड्रंक लिंक को आगे पीछे की और लेके जाता है, जिसके कारण हमारी गाड़ी लेफ्ट राईट घूम जाट है.

steering wheel kya hai  

Author by: Prashant

steering wheel kya hai  

Inspection supervision:

Overview:- Steering System Ke vividh parts jankari – स्टीयरिंग सिस्टम के पार्ट की जानकारी

Name:- स्टीयरिंग सिस्टम का उपयोग कैसे करे.

Benefits of a Steering system: वाहन का अधिक लोड सहन करना. आराम प्रदान करना,

Type of Steering system: Worm and roller, Rack and Pinion,

Search Keyword:-

1. Steering system ka mahatva,

2. स्टीयरिंग शाफ़्ट के कार्य (steering shaft ka Karya) in Hindi,

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. सस्पेंशन सिस्टम की जानकारी

2. सस्पेंशन सिस्टम के प्रकार

3. व्हील बैलेंसिंग कैसे करे

4. टायर की लाइफ कैसे बढ़ाये

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Steering System Ke vividh parts jankari – स्टीयरिंग सिस्टम के पार्ट की जानकारी और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद….

Post Comments

error: Content is protected !!