Junior supervisor kaise bane – सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi

पर्यवेक्षक कैसे बनें [How to become a Supervisor], जूनियर सुपरवाइज़र कैसे बने, Junior supervisor kaise bane. सुपरवाइज़र बनने के लिए आवश्यक पाठ्यक्रम और Course kaise kare, Female supervisor kaise bane. Guide in Hindi.

Junior supervisor kaise bane - सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi. Course kaise kare

 

Junior supervisor kaise bane – सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi

दोस्तों, बता दे की हर क्षेत्र में एक विशेष कार्य पर निगरानी तथा मैनेजमेंट के लिए एक सुपरवाइज़र नामक करियर विकल्प की जरूरत होती है.

जी हाँ दोस्तों आपने सही पढ़ा, अगर आप एक अच्छे लीडर है या नेतृत्व करना चाहते है. या फिर आपको लीडर बनने का जूनून है तो आपके लिए यह पोस्ट बिलकुल सही है. हाँ प्रिय पाठक आप इस फिल्ड में अपना करियर बना सकते है.

तो आइये इसके पूरी प्रक्रिया आज के लेख में जानेंगे, आप इस लेख Female supervisor kaise bane, [Junior supervisor kaise bane], आवश्यक शिक्षा और पाठ्यक्रम तथा जरूरी तकनीक का ज्ञान विक्षित करेंगे. एक सफल लीडर या सुपरवाइज़र बनने के लिए क्या करे इसकी पूरी जानकारी के लिए बिना किसी रुकावट से इस लेख के अंतिम चरण तक जरूर बने रहें.

 

पर्यवेक्षक क्या करता है [What does the supervisor do]

चाहे आप दो या 10 लोगों का मैनेजमेंट [Management] कर रहे हों, लेकिन दोस्तों आपको बता दे की पर्यवेक्षक होना एक बहुत बड़ा काम है. टीम के सदस्यों, प्रत्यक्ष वर्कफ़्लो को कार्यों को सौंपना, कंपनी द्वारा निर्धारित किसी भी लक्ष्य को मैनेज्ड करना और टीम, कंपनी और व्यक्ति दोनों के लिए टीम को प्रतिक्रिया प्रदान करना पर्यवेक्षक [Supervisor] का कार्य है.

पर्यवेक्षक अपने दैनिक दिनचर्या के माध्यम से कर्मचारियों को निर्देशित करते हैं और ग्राहकों के साथ बातचीत करके यह सुनिश्चित करते हैं कि उनके पास एक संतोषजनक अनुभव है. पर्यवेक्षक गुणवत्ता नियंत्रण के रूप में कार्य करते हैं, प्रशिक्षण कर्मचारियों के माध्यम से ग्राहकों की संतुष्टि को ठीक से सुनिश्चित करते हैं और कंपनी की नीति का पालन करते हैं.

एक पर्यवेक्षक प्रशिक्षण, छुट्टियों और शिफ्ट के साथ-साथ निलंबन और समाप्ति भी संभालता है.

Read More

[1] Tally का अभ्यास कैसे करे – How to practice Tally
[2] आर्थिक पर्यावरण का परिचय – Introduction to the Economic Environment
[3] हिस्टोलॉजी में करियर कैसे बनाये – How to make a career in Histology

 

पर्यवेक्षकों के लिए सुझाव [Tips for supervisors]

A  हर किसी के दोस्त बनने की कोशिश मत करो, लेकिन जरुरत होने पर दोस्ती करे,
B. अच्छी मीटिंग चलाना सीखें,
C. आराम करने के लिए समय निकालें,
D. निष्पक्ष और समान एक ही चीज ना करे,
E. प्रतिक्रिया और इनपुट के लिए पूछें, और सवाल जवाब करे,
F. किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश करें जिस पर आप काम के बारे में भरोसा कर सकते हैं। …
G. अपने लोगों के कौशल में सुधार करने के लिए हर अवसर का उपयोग करे,
H. आवश्यकता के अनुसार प्यार और कठोर संचार रखे,

Course kaise kare

पर्यवेक्षक कैसे बने [How to become a supervisor]

शिक्षा: पर्यवेक्षक बनने के लिए आवश्यक शिक्षा हाई स्कूल डिप्लोमा से ही स्टार्ट होती है. आपको अपने कौशल को पहचानकर लीडर बनने के लिए सक्षम होना है. और आवश्यक डिग्री पाठ्यक्रम पूरा कर आप पर्यवेक्षक बन सकते है.

इसके लिए कक्षा दसवीं और बारवी अच्छे अंको से उत्तीर्ण करे, फिर पर्यवेक्षक बनने के प्लेटफॉर्म पर निकल पड़े और अपना करियर बनाये,

अनुभव: एक पर्यवेक्षक के पास टीम के काम के साथ-साथ मैनेजर के कार्यों और गतिविधियों की समझ का उत्कृष्ट ज्ञान [Excellent knowledge] होना चाहिए. पर्यवेक्षकों को अक्सर काम करने वाली टीम से निकाला जाता है क्योंकि प्रबंधन उनके काम की नैतिकता,कंपनी के रवैये और गुणवत्ता के प्रति प्रतिबद्धता की सराहना करता है.

प्रशिक्षण: संगठनों को अक्सर आवश्यकता होती है कि पर्यवेक्षी भूमिकाओं में पदोन्नत किए गए व्यक्ति पहली पंक्ति या फ्रंट-लाइन प्रबंधन प्रशिक्षण में भाग लें, जहां वे महत्वपूर्ण संचार और प्रबंधन कौशल सीखते हैं.

Course kaise kare

पर्यवेक्षक की जिम्मेदारियां [Supervisor responsibilities]

1. टीम को प्रदर्शन लक्ष्य को समझने में मदद करना

2. प्रशिक्षण या यह सुनिश्चित करना कि श्रमिकों को उनकी विशिष्ट भूमिकाओं के लिए ठीक से प्रशिक्षित किया जाता है या नहीं,

3. कार्यस्थल की समस्याओं को पहचानना और हल करना,

4. प्रबंधन को रिपोर्ट और गतिविधि अपडेट प्रदान करना,

5. काम पर रखने और फायरिंग गतिविधियों में सहायता करने के लिए, एक पर्यवेक्षक को अक्सर सभी नए किराए या समाप्ति की प्रबंधकीय स्वीकृति की आवश्यकता होती है.

6. शेड्यूलिंग काम के घंटे और बदलाव

7. जॉब रोटेशन और क्रॉस-ट्रेनिंग का समन्वय करना,

8. टीम के सदस्यों के साथ कंपनी के अपडेट, वित्तीय परिणाम और नए उद्देश्य साझा करना,

9. एक गुणवत्ता या ग्राहक की समस्या जैसे कि आपात स्थिति को सुलझाने में सहायता करना, जिसे संभालने के लिए टीम पर्यवेक्षक को आगे बढ़ाया जा सकता है.

10. पर्यवेक्षक की भूमिका का एक बड़ा हिस्सा प्रतिक्रियात्मक और सकारात्मक दोनों की पेशकश करता है.

Course kaise kare

काम करने का महौल [Work environment]

एक पर्यवेक्षक टीम के प्रदर्शन के लिए जवाबदेह होता है, जो टीम के सदस्य के रूप में अनुभव कर सकता है कि वह ऊपर या बाहर के स्तर पर दबाव लाता है. एक पर्यवेक्षक पर टीम और समग्र प्रदर्शन की जिम्मेदारी होती है, लेकिन आमतौर पर प्रबंधकीय समर्थन के बिना अपेक्षाकृत कम प्रत्यक्ष प्राधिकरण होता है.

 

पर्यवेक्षक के प्रकार [Types of supervisor]

1. Democratic supervision,
2. Bureaucratic supervision,
3. Autocratic or Authoritarian supervision,
4. Laissez-faire or free-rein supervision,

 

पर्यवेक्षक का कौशल [Supervisor skills]

[1] आपके पास अपने टीम के सदस्यों की चिंताओं और व्यक्तित्व को संबोधित करते हुए कार्यभार संभालने की क्षमता होनी चाहिए.

[2] आपको अनिवार्य समस्याओं के लिए विभिन्न समाधानों को प्राप्त करने की क्षमता होनी चाहिए और उन परिणामों का चयन करना चाहिए जिनकी आपको आवश्यकता है.

[3] शिकायतों को व्यावहारिक रूप से संभालने की क्षमता इस व्यवसाय का एक मुख्य चरण है.

[4] आपके पास यह समझने की क्षमता होनी चाहिए कि सबसे महत्वपूर्ण क्या है और उसी के अनुसार अपना समय और अपनी टीम का समय अलॉट करें.

 

पर्यवेक्षक का वेतन [Supervisor salary]

1. उत्पादन और संचालन टीमों की देखरेख करने वाले पर्यवेक्षक कार्यालय या प्रशासनिक सेटिंग में काम करने वालों की तुलना में थोड़ा अधिक कमाते हैं.

2. भारत में सुपरवाइज़र का वेतन लगभग रूपये 18000/- और उससे अधिक हो सकता है. इसके लिए बेहतर अनुभव की जरूरत है.

3. एक जूनियर सुपरवाइज़र [Junior supervisor] लगभग रूपये 25000/- के ऊपर इनकम कमा सकता है.

 

Author By: सविता

 

Inspection supervision:

Overview:- Junior supervisor kaise bane – सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi [Female supervisor kaise bane]
Name- सुपरवाइज़र बनकर भविष्य (Future) कैसे बनाएं,
Educational Qualification:- डिप्लोमा, डिग्री, और मास्टर डिग्री. अन्य पाठ्यक्रम,
Skill:- नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,
Job location:- इंडिया,
Job Category:- supervisor, Female supervisor, etc.

Search Keyword:-
1. Junior supervisor kaise bane,
2. Anganwadi supervisor kaise bane,

Junior supervisor kaise bane – सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi, Female supervisor kaise bane, सुपरवाइज़र बनने के लिए क्या करे.

 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े…

1. Engineering me CGPA ka Calculation kaise kare – सीजीपीए का कैलकुलेशन

2. How to make 12th career in science – 12 वी विज्ञान के बाद क्या कोर्स करे

3. What is machine learning (ML) – मशीन लर्निंग (ML) क्या होता है

4. How to make a career after 10th – 10 वी के बाद करियर कैसे बनाये

5. Application Engineering me Career Kaise Banaye

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Junior supervisor kaise bane – सुपरवाइज़र कैसे बने in Hindi और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…

Post Comments

error: Content is protected !!