Structural engineering me career – स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें

स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें (How to become a Structural engineer), Structural engineering me career kaise banaye, स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये. Structural engineer kaise bane. Structural engineering me Bhavishya (Future) बनाये, civil course इन हिंदी,

Structural engineering me career - स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें

 

स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें | Structural engineering me career

नमस्कार प्रिय पाठक, आप सभी का “Apna Sandesh Webportal” पर स्वागत है. दोस्तों, अगर आप भी (सिविल) स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल में, आप स्ट्रक्चरल डिजाइनर कैसे बनें, 12 वीं के बाद स्ट्रक्चरल टेक्नीशियन और साइंटिस्ट कैसे बनें, [How to become a Structural Technician and scientist kaise bane] यदि आप सिविल डिजाइनिंग से संबंधित अधिक जानकारी चाहते हैं, तो इस लेख के अंतिम चरण तक बने रहें.

दोस्तों, आज के दौर में हर व्यक्ति एक बेहतरीन करियर विकल्प चाहता है. दोस्तों, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया में कई तरह की इंजीनियरिंग कोर्स उपलब्ध हैं. जिनमें से एक स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग भी है. यह सिविल इंजीनियरिंग का ही एक भाग है. अगर आप क्षेत्र में नाम कमाना चाहते हैं, तो आपके लिए स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग कोर्स एक अच्छा करियर विकल्प बन सकता है. अधिक जानकारी के लिए आगे जरूर पढ़ें. तो आइये जानते है.

career kaise banaye

स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बने [How to become a structural engineer]

[1] एक पेशेवर मान्यता प्राप्त Structural engineer बनने के लिए आपको आमतौर पर किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से इंजीनियरिंग की डिग्री और मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग की आवश्यकता होती है.

[2] इंजीनियरिंग में डिग्री (सिविल इंजीनियरिंग में पढ़ाई) कोर्स पूरा करें. यह आमतौर पर चार साल का कोर्स होता है.

[3] स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग सिविल इंजीनियरिंग का एक विशेष क्षेत्र है, इसलिए कुछ अतिरिक्त प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है.

[4] इसके बाद बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग कोर्स पूरा करने पर आप स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग के लिए आगे की पढाई कर सकते है.

career kaise banaye

संरचनात्मक इंजीनियर क्या करता है [structural engineer Work]

एक Structural engineer बाहरी दबावों का सामना करने के लिए भौतिक संरचनाओं को डिजाइन और निर्माण करने के लिए रेस्पोंसीबले होता है. वे संरचना के प्रत्येक तत्व की अखंडता सुनिश्चित करने से संबंधित जानकारी रखते हैं, जैसे कि बीम, नींव, कॉलम और फर्श.

स्ट्रक्चरल इंजीनियर की नौकरी अक्सर – इमारतों, पुलों, सुरंगों, टावरों और बांधों जैसी कई विभिन्न प्रकार की संरचनाओं और डिजाईन की सुरक्षा के लिए होती है. वे मौजूदा संरचनाओं की अखंडता में भी सुधार करते हैं.

स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग सिविल इंजीनियरिंग की एक विशेषता है, और जो लोग स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग का अभ्यास करना चाहते हैं, उन्हें प्रमाणन परीक्षा देनी होती है. इसके आधार पर वह पक्की नौकरी पा सकते है.

career kaise banaye

स्ट्रक्चरल इंजीनियर के लिए शिक्षा [Education for a structural engineer]

[A] एक स्ट्रक्चरल इंजीनियर को अपनी विशिष्टताओं में या स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग प्रौद्योगिकी में किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से इंजिनीअरिंग की डिग्री की आवश्यकता होती है.

[B] यह डिग्री प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित, रसायन विज्ञान के साथ उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र (HSC) कक्षा 12th की परीक्षा उत्तीर्ण करनी चाहिए.

[C] इस कोर्स के लिए अवधि 4 वर्ष है.civil course

[D] बनावट-संबंधी इंजीनियरों को स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग या सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री की आवश्यकता होती है. वे सामग्री के मैकेनिक्स, हाइड्रोलिक्स इंजीनियरिंग और स्ट्रक्चरल स्टील डिज़ाइन जैसे विषयों का अध्ययन करते हैं.

[E] रोजगार के साथ-साथ उनके ज्ञान और कौशल को बढ़ाने के लिए, संरचनात्मक इंजीनियर एक मास्टर की डिग्री के रूप में अच्छी तरह से आगे बढ़ाने के लिए चुन सकते हैं.

[F] मास्टर डिग्री के लिए आवेदन करने से पहले आपको अच्छे अंको के साथ BE / बीटेक या इंजीनियरिंग के किसी भी अन्य समकक्ष शाखाओं में ग्रेजुएट की डिग्री पूरी करनी है. मास्टर डिग्री पाठ्यक्रम कोर्स की अवधि 2 वर्ष की है.

 

संरचनात्मक इंजिनीअरिंग के लिए आवश्यक प्रमाणपत्र [Certificate for Structural Engineering]

एक Structural engineer के रूप में प्रमाणन आपको एक मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग पेशेवर के रूप में अभ्यास करने के लिए योग्य बनाता है, और अधिकांश राज्यों को एक राज्य लाइसेंस की भी आवश्यकता होती है. एक संरचनात्मक इंजीनियर के रूप में करियर बनाने के लिए प्रमाणपत्र और लाइसेंस की आवश्यकता होती है.

मौलिक इंजीनियरिंग प्रमाणन (FE): स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग प्रमाणन बोर्ड इस प्रमाणीकरण को सभी न्यायालयों के लिए राष्ट्रीय प्रमाण पत्र प्रदान करने के साधन के रूप में प्रदान करता है.

इंजीनियरिंग लाइसेंस के सिद्धांत और अभ्यास (पीई): एक Structural engineer के रूप में व्यावसायिक लाइसेंस नेशनल काउंसिल ऑफ स्ट्रक्चरल इंजीनियर्स एसोसिएशन के माध्यम से प्रदान किया जाता है. यह प्रमाणन उन व्यक्तियों के लिए उपलब्ध होता है, जिन्होंने अपने चुने हुए क्षेत्र में चार साल तक अधिक मेहनत की है.

लाइसेंस देने से पहले, इंजीनियर को प्रमाणीकरण परीक्षाओं को लिखना और पास करना होता है.

स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग लाइसेंस (एसई), आदि.

Structural engineering me Bhavishya

संरचनात्मक इंजीनियरों जिम्मेदारियों [Structural engineer responsibilities]

1. बिल्डिंग डिजाइन तैयार करना,

2. लोड और तनाव की गणना करना जो एक इमारत सामना कर सकती है,

3. एक परियोजना को वितरित करने के लिए आर्किटेक्ट, इंजीनियरों और बिल्डरों जैसे अन्य पेशेवरों के साथ संपर्क करना,

4. परियोजनाओं का प्रबंधन और अनुबंधों का प्रबंधन,

5. मौसम की इमारत की प्रतिक्रिया की गणना करने के लिए कंप्यूटर एडेड सॉफ्टवेयर का उपयोग करना,

6. किसी भवन के निर्माण के लिए विनियामक परमिट प्राप्त करना,

7. संरचनाओं के लागत अनुमान तैयार करना और किसी भवन के लिए सामग्री का चयन करना,

8. भवन निर्माण का पर्यवेक्षण करना और परियोजना प्रबंधकों को सलाह देना, आदि.

Structural engineering me Bhavishya

स्ट्रक्चरल इंजीनियर के आवश्यक कौशल [skills of a structural engineer]

[1] एक Structural engineer निर्णय लेने से पहले तथ्यों और आंकड़ों का विश्लेषण करता है, इसीलिए विश्लेषणात्मक कौशल आवश्यकता है.

[2] संरचनात्मक इंजीनियरिंग का अभ्यास करने वाले लोगों को संगठित होने की आवश्यकता है क्योंकि वो संरचनाओं का निर्माण करते हैं.

[3] Structural engineer को विस्तार-उन्मुख होने की आवश्यकता है क्योंकि वो मूलभूत संरचनाओं को डिज़ाइन करते हैं.

[4] एक संरचनात्मक इंजीनियरिंग नौकरी के लिए अच्छे गणितीय कौशल की आवश्यकता होती है,

[5] संरचनात्मक अभियंता समस्या-समाधान कौशल का उपयोग करते हैं.

[6] नेतृत्व कौशल,

[7] संचार कौशल,civil course

[8] Structural engineer कार्य में ऑटोकैड और आरआईएसए जैसे सॉफ्टवेयर का उपयोग करके डिजाइन और गणना की आवश्यकता होती है. इन पेशेवरों को ईमेल, वर्ड प्रोसेसिंग और स्प्रेडशीट के उपयोग से भी परिचित होना चाहिए इसीलिए कंप्यूटर के ज्ञान का कौशल महत्वपूर्ण है.

Structural engineering me Bhavishya

स्ट्रक्चरल इंजीनियर का वेतन [Structural engineer salary]

1. एक संरचनात्मक इंजीनियर का वेतन अनुभव, नियोक्ता, ज्ञान और योग्यता के आधार पर भिन्न होता है.

2. अमेरिका में Structural engineer का वेतन लगभग: $ 190,000 प्रति वर्ष हो सकता है.

3. तो भारत में स्ट्रक्चरल इंजीनियर का वेतन लगभग रुपये 20,00,000/- से 1,20,00,000/- प्रति वर्ष तक हो सकता हैं.

 

Structural engineering me career - civil course. career kaise banaye

Inspection supervision:

Overview:- Structural engineering me career – स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें (Civil engineer kaise bane)

Name- स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग में (Rojgar) रोजगार कैसे करे,

Educational Qualification:- इंजीनियरिंग, डिप्लोमा, डिग्री, और मास्टर डिग्री.

Skill:- नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,

Job location:- इंडिया, and Other countries

Job Category:- Structural Engineer, Designer, etc.

Source: www.Wikipedia.org

Search Keyword:-

1. Structural engineer kaise bane,
2. स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग में रोजगार कैसे करे,

civil course

जाँच करे (Read More) ☟

1. Power engineer kaise bane – पावर इंजीनियर कैसे बनें

2. Environmental engineering me career – पर्यावरण इंजीनियर कैसे बनें

3. Transportation engineer kaise bane – परिवहन इंजीनियर कैसे बनें

4. Civil engineering me career kaise banaye – सिविल इंजीनियर कैसे बनें

5. Surveyor engineer kaise bane – सर्वेयर इंजीनियर कैसे बनें

6. Mobile Engineer kaise bane

civil course

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की Structural engineering me career – स्ट्रक्चरल इंजीनियर कैसे बनें [Structural designer kaise bane] और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद…civil course

Post Comments

error: Content is protected !!