CAR INSURANCE POLICY KAISE BANAYE – बीमा कैसे काम करता है Guide

CAR INSURANCE POLICY KAISE BANAYE. भारत में कार बीमा कैसे काम करता है? Car Insurance work in India, Car Insurance kyo kharidana chahiye, इन्शुरन्स के विविध प्रकार, Car Insurance ki Jankari, कार इन्शुरन्स का इस्तेमाल और उपयोग, Car Insurance kaise banaye, जानिए Insurance के सभी Guideline.

CAR INSURANCE POLICY - कार बीमा कैसे काम करता है? Insurance kaise banaye Guide in Hindi

INSURANCE POLICY | कार बीमा कैसे Work करता है in Hindi

Hello, Friends Welcome To ”Apna Sandesh” Web Portal : Insurance Policy को बेहतर बनाने के लिए, अब डिजिटल ऑनलाइन प्रक्रिया लॉन्च किया है. इस सेवाओं का उपयोग करते हुए, अब हर वाहन मालिक सुरक्षित और कम समय में अपने वाहन का इन्शुरन्स बना सकते है.

दोस्तों आज के युग यह Computer का युग है. दुनिया में इंटरनेट का उपयोग हो रहा है. लगभग सभी काम इंटरनेट में माध्यम से किये जा रहे है. दुनिया में हर एक क्षेत्र में इंटरनेट का उपयोग बड़ी संख्या में हो रहा है.

तो आइये आज के लेख में CAR INSURANCE POLICY का उपयोग कैसे करे और ऑनलाइन इन्शुरन्स की जानकारी? तथा [Online Insurance ke liye Apply कैसे करे], कार इन्शुरन्स पालिसी क्या है? Car Insurance ke Benefits, Car Insurance kaise banaye. कार इन्शुरन्स ना होने पर जुर्माना के बारे में चर्चा करेंगे, इसीलिए इस लेख के अंतिम चरण तक जरूर बने रहें. 

जी हाँ इस लेख में Car Insurance से संबंधित अवलोकन है जो भारत में Car Insurance कैसे काम करता है, इससे संबंधित अधिकांश सामान्य प्रश्नों को स्पष्ट करेगा, तो आइये जानते है.

[यदि आपको संबंधित पॉलिसी की जानकारी या इससे जुड़े एक्टिविटी के लिए पॉलिसी रिकॉर्डिंग के माध्यम से स्कैन करना होगा या बीमा कंपनी की ग्राहक सहायता टीम के संपर्क में रहना होगा,]

 

भारत में कार बीमा – Car Insurance ki Jankari:

भारत में Car Insurance उद्योग ने हाल ही के दिनों में कई सकारात्मक बदलाव किए हैं. डिजिटलीकरण उनमें से सबसे प्रमुख हिस्सा है. नए जमाने की Digital Insurance कंपनियों के आने से Insurance बनाना अब सरल हुआ है.

अब, संभावित पॉलिसी धारकों को Insurance Policy की बारीकियों को समझने में मदद करने के लिए एजेंटों पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा. क्योंकि सभी जानकारी Insurance company की वेबसाइट पर आसान तरीके से उपलब्ध है. इस तरह, भावी Policy Holder एक सूचित विकल्प बना सकते है. नीतियों की तुलना की जा सकती है और उद्धरण मिनटों
में उत्पन्न किए जा सकते हैं. अब आप ऑनलाइन वाहन बीमा के लिए पांच मिनट के तहत कार बीमा पॉलिसी खरीद या नवीनीकृत कर सकते हैं. जी हाँ आपने सही पढ़ा तो आइये
इसके सभी स्टेप और जानकारी जानते है.

Read More – Accident Chassis Frame Repair kaise kare – चेसिस फ्रेम की रिपेयरिंग

Read More – Accident Car Body Repair kaise kare – एक्सीडेंट कार बॉडी रिपेयरिंग

 

आपको कार बीमा क्यों खरीदना चाहिए – Car Insurance?

एक वाहन मालिक को अपने वाहन का इन्शुरन्स खरीदना चाहिए क्योंकि किसी दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थिति जैसे कार दुर्घटना, प्राकृतिक आपदा, आदि के मामले में आपको वित्तीय नुकसान का सामना न करना पड़े. इसके अलावा, भारत में कार बीमा खरीदना अनिवार्य है. ऐसा ना करने पर एक वाहन मालिक को Govt. को जुर्माना देना होगा. इसीलिए हर वाहन मालिक को अपने वाहन का इन्शुरन्स बनाना चाहिए.

 

भारत में कार बीमा के प्रकार – Tyre Of Insurance:

1. तृतीय-पक्ष देयता कार बीमा पॉलिसी [Third-party liability car insurance policy]:

मोटर वाहन अधिनियम में कहा गया है कि यदि आप भारतीय सार्वजनिक सड़कों पर कानूनी रूप से अपना चार पहिया वाहन चलाना चाहते हैं तो इस प्रकार का कार बीमा अनिवार्य है. जब पुलिस ऑफिसर बीमा के लिए पूछते हैं, तो वे जांचते हैं कि आपकी तृतीय-पक्ष देयता कार बीमा पॉलिसी सक्रिय है या नहीं. यदि नहीं, तो आपको दंड का सामना करना पड़ सकता है. नियम इतना सख्त है कि आप जेल में भी जा सकते हैं.

Third-party car insurance पॉलिसी में क्या शामिल है?

  • तृतीय-पक्ष की चोटें,
  • तीसरे पक्ष की मौत,
  • तीसरे पक्ष की संपत्ति को नुकसान,
  • मालिक / चालक के लिए व्यक्तिगत दुर्घटना कवर, आदि.

 

2. व्यापक कार बीमा पॉलिसी [Comprehensive car insurance policy]:

यदि आप सर्वांगीण कवरेज चाहते हैं तो यह नीति अधिक Desirable है. क्यंकि इसके नाम से पता चलता है, की यह एक विस्तृत आवरण है. इसमें न केवल देयता-केवल नीति द्वारा दी जाने वाली सुविधाएँ शामिल हैं, बल्कि स्वयं क्षति कवर भी शामिल हैं.

इसका मतलब यह है कि अगर आपकी कार दूसरों को नुकसान पहुंचाती है, और अगर यह दूसरों या प्राकृतिक आपदाओं से क्षतिग्रस्त हो जाती है, तो आपका बीमा किया जाता है.

Comprehensive car insurance पॉलिसी में क्या शामिल है?

  • तृतीय-पक्ष की चोटें,
  • तीसरे पक्ष की मौत,
  • तीसरे पक्ष की संपत्ति को नुकसान,
  • मालिक / चालक के लिए व्यक्तिगत दुर्घटना कवर,
  • चोरी होना,
  • आग,
  • आपदाओं,
  • दुर्घटना के कारण कार को नुकसान, आदि.

 

कार बीमा पॉलिसी में क्या शामिल नहीं है?

शराब के प्रभाव में ड्राइविंग,

नशे के प्रभाव में ड्राइविंग,

एक वैध लाइसेंस के बिना ड्राइविंग,

एक सक्रिय कार बीमा योजना के बिना ड्राइविंग,

सेवा खर्च, आदि.

 

कार बीमा की कीमत या गणना कैसे होती है?

दोस्तों आपके जानकारी के लिए बता दे की भारत में दो प्रकार के कार बीमा के लिए मूल्य गणना अलग-अलग है.

पहला तृतीय-पक्ष देयता बीमा पॉलिसी:

थर्ड-पार्टी कार इंश्योरेंस पॉलिसी की दरें बीमा कंपनियों द्वारा तय नहीं की जाती हैं. IRDAI इस तरह की दरों के बारे में निर्देश देता है. वे साल-दर-साल आधार से बदल सकते हैं या नहीं. सभी कार बीमा कंपनियों में तृतीय-पक्ष दरें समान हैं.

CAR INSURANCE POLICY

दूसरा व्यापक बीमा पॉलिसी:

यहां, बीमा कंपनियां अपना प्रीमियम चार्ज करने के लिए स्वतंत्र होती हैं. हालांकि, उन्हें IRDAI के नियमों का पालन करना होगा जब यह समावेशी तीसरे पक्ष के बीमा घटक की बात आती है. जिन कारकों पर बीमा कंपनियां प्रीमियम वसूलती हैं, वे अपनी प्रतिस्पर्धा पर भी विचार करते हैं और तदनुसार चार्ज करते हैं.

कार बीमा के लिए ऐड-ऑन:

  • शून्य मूल्यह्रास – यह दावों का निपटारा करते समय मूल्यह्रास की चार्जिंग को नकार देता है.
  • पैसेंजर कवर – यह कार के यात्रियों के लिए एक व्यक्तिगत दुर्घटना कवर है.
  • इनवॉयस कवर – ऐसा कवर आपको कार के चालान मूल्य के साथ प्रतिपूर्ति करेगा यदि यह कुल नुकसान की स्थितियों का सामना करता है.
  • सड़क के किनारे सहायता – इस ऐड-ऑन के साथ, आप फंसे होने की स्थिति में सहायता के लिए बीमा कंपनी को कॉल कर सकते हैं.
  • इंजन सुरक्षा – कार के इंजन के लिए समर्पित बीमा सुरक्षा प्राप्त करना,

CAR INSURANCE POLICY

कार बीमा दावे कैसे करें?

तीसरे पक्ष के दावे: यहां, तृतीय-पक्ष को प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करके पॉलिसीधारक के खिलाफ दावा दायर करना होगा. मोटर दावा अधिकरण में एक मामला दर्ज किया जाएगा और उसके अनुसार सुनवाई की जाएगी.

खुद की क्षति का दावा: बीमित कार को नुकसान के लिए, पॉलिसीधारक को बीमा कंपनी से संपर्क करना होगा और दावे के लिए आवेदन करना होगा. आमतौर पर, यह कॉल, मोबाइल एप्लिकेशन या वेबसाइट के माध्यम से किया जा सकता है. एक बार दावे के अनुरोध को स्वीकार कर लेने के बाद, बीमा कंपनी एक सर्वेक्षक को सौंप देगी और सर्वेक्षणकर्ता की
रिपोर्ट के अनुसार दावा का निपटान कर दिया जाएगा.

CAR INSURANCE POLICY

भारत में किराये की कार बीमा कैसे काम करता है?

आजकल, कोई किराए पर कार ले सकता है और उसे चला सकता है. ऐसी कारों को अक्सर सेल्फ-ड्राइव कारों के रूप में जाना जाता है. भारत में, खरीदा गया वाहन बीमा एक विशेष वाहन के लिए होता है, इसलिए यदि आप किराये की कार चला रहे हैं तो यह लागू नहीं होगा. बीमा कवर के लिए आपको किराये की कार कंपनी के नियमों और शर्तों का पालन करना होगा. आमतौर पर, ऐसी कंपनियों के पास सेल्फ-ड्राइव कारों के लिए थर्ड-पार्टी लायबिलिटी कवर होता है.

 

सर्वश्रेष्ठ कार इन्शुरन्स पॉलिसी कैसे खरीदें?

ऑनलाइन – Online: एक मूल ऑनलाइन खोज आपको बहुत सारे विकल्प देगा.

आप पॉलिसी के प्रीमियम, कवरेज और सुविधाओं की जांच कर सकते हैं और इसे ऑनलाइन भुगतान करके खरीद सकते हैं.

ऑफ़लाइन – Offline: आप अपनी पसंदीदा कार बीमा कंपनी के शाखा कार्यालय में जाकर कार बीमा पॉलिसी खरीद सकते हैं.

एक एजेंट के माध्यम से – Through an agent: आपके पास प्रमाणित एजेंट के माध्यम से कार बीमा पॉलिसी खरीदने का विकल्प भी है.

आपका कार बीमा डीलर भी एक एजेंट हो सकता है, और आप डीलर से कार बीमा भी खरीद सकते हैं.

 

Inspection supervision:

Overview:- CAR INSURANCE POLICY – कार बीमा कैसे काम करता है Guide in Hindi

Name- Online Insurance ke liye Apply कैसे करे,

Type – Third-party car insurance, Comprehensive car insurance.

Buy an insurance policy – Online, Offline, Through an agent.

INSURANCE POLICY – कार बीमा कैसे काम करता है Guide in Hindi, Online Insurance kaise banaye.

 

Read More Article

1. Road safety study – सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम

2. FASTag – Electronic toll collection – FASTag का उपयोग कैसे करे

3. Breathalyzer and alcohol sensor – अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

4. ऑटोमोबाइल के मुख्य घटक – Automobile components

5. Black Box System Kya Hai

 

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा है क्योंकि आपने जाना है की [CAR INSURANCE POLICY – कार बीमा कैसे काम करता है Guide in Hindi] और यदि आपको इस लेख से कुछ मदद मिलती है, तो इसे अपने मित्रों तथा ज़रूरतमंद व्यक्ति को साझा करें ताकि हम भी इन लेखों को लिखना जारी रख सकें,

धन्यवाद...Insurance kaise banaye

Post Comments

error: Content is protected !!