Optical engineer | ऑप्टिकल इंजीनियर kaise bane?

Optical engineering (ऑप्टिकल इंजीनियरिंग) me Career Kaise banaye? ऑप्टिकल इंजीनियर कैसे बने – Optical engineer Kaise bane? ऑप्टिकल इंजीनियरिंग (Optical engineering) me future Kaise banaye? परिभाषा, रोजगार और Naukari Kaise Kare? Full Details.

 

Optical engineer ऑप्टिकल इंजीनियर kaise bane

 

Optical engineer me Career | ऑप्टिकल इंजीनियर kaise bane?

नमस्कार दोस्तों, Welcome back – दोस्तों, बता दूँ की हर कोई एक Selected field का चयन करता है. और उसी में करियर बनाने के बारे में सोचता है. हाँ दोस्तों इसीलिए करियर और नौकरी से Related हमने कई सारे लेख प्रकाशित किये है. Click Now

 

दोस्तों एक बात याद रखें, किसी भी क्षेत्र में करियर बनाने के बारे में सोचें है तो, उससे पहले उसके बारे में पूर्ण ज्ञान प्राप्त करें – जैसे, फीस, रोजगार, नौकरी, दस्तावेज, आवेदन आदि. यदि आप 2020 की स्थितियों को देखते हैं, तो आप यह समझें कि हर क्षेत्र में करियर बनाना इतना आसान नहीं है. दोस्तों आज हम ऐसे ही लोकप्रिय करियर विकल्पों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे, दोस्तों आप इस क्षेत्र में बेहतर करियर बना सकते हैं.

 

इस लेख में Optics और Technology का क्या महत्व है. Optics me career Kaise Banaye? photonics engineering courses kaise kare? और 12th ke bad optical engineering degree course kaise kare? NEW SHIKSHA NITI me Optics के बारे में Step By Step जानेंगे, तो आइये जानते है.

 

दोस्तों, एक बात ज़रुर याद रखे – अपना करियर बनाने के लिए किसी भी कोर्स को चुनने से पहले, कोर्स, स्पेशलाइजेशन, बेनिफिट्स, करियर के अवसरों आदि के बारे में जानना आवश्यक है. यहाँ हम आपको m. tech in optoelectronics के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान कर रहे हैं. तो आइए Optical engineer Kaise bane के बारे में जानते है.

 

Optics me career | Optics और Technology का क्या महत्व है?

दोस्तों, ऐसे कई Applications है जिनका Optics में उपयोग किया जाता है. लेकिन वास्तव में, ऑप्टिक्स का क्षेत्र अनुसंधान तालिका में विशेष है. जिसका उपकरणों से लेकर मेट्रोलॉजी तक के कई Applications में उपयोग किया जाता है.

 

ऑप्टो-इलेक्ट्रॉनिक्स और मेट्रोलॉजी पहले से ही अच्छी तरह से विकसित क्षेत्र हैं जो कई Advanced और आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले उपकरणों में (प्रकाशिकी) ऑप्टिक्स के क्षेत्रों और विभिन्न इंजीनियरिंग क्षेत्रों को एकीकरण कर रहे हैं.

 

Engineering के छात्र ऐसे Applications को विकसित करने के लिए ऑप्टिक्स को समझना और डिजाइन करने में सक्षम, तथा कुछ बुनियादी प्रकाशिकी को समझना एक ऑप्टिक्स इंजीनियर के लिए महत्वपूर्ण है.

 

ऑप्टिकल इंजीनियर कैसे बने – How to become an optical engineer?

दोस्तों, ऑप्टिकल इंजीनियर बनना एक रोमांचक और चुनौतीपूर्ण कैरियर विकल्प है. ऑप्टिकल इंजीनियर प्रकाश को नियंत्रित करने और प्रकाश का जवाब देने के लिए लेजर,
इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को डिजाइन करते हैं.

 

optical engineer उद्योग में आवश्यकतानुसार विशिष्ट विशेषताओं के साथ ऑप्टिकल सामग्रियों को भी डिजाइन कर सकते हैं. फिर आपके दिमाग में कुछ ऑप्टिक्स के रिलेटेड क्वेश्चन आते है – जैसे… What is optical engineer? तो चलिए optical engineer kaise bane के बारे में भी कुछ तथ्य जानते है.

 

Optical engineer Career | ऑप्टिकल इंजीनियर क्या है?

दोस्तों ऑप्टिकल इंजीनियर अनुसंधान, डिजाइन और परीक्षण उपकरणों का उपयोग करते हैं जो कैमरों, लेजर, Microscope और Refractometer की तरह प्रकाशिकी का उपयोग करते हैं. एक ऑप्टिक्स प्रकाश और अन्य सामग्रियों के गुणों का उपयोग करके, ऑप्टिकल इंजीनियर उच्च तकनीक वाले उपकरणों में उपयोग के लिए प्रकाश का उत्पादन, नियंत्रण
और हेरफेर करने में सक्षम होते हैं.

 

ये पेशेवर कृषि, एयरोस्पेस, कंप्यूटर, मनोरंजन, प्रकाश, चिकित्सा, तेल और वस्त्र सहित कई प्रकार के उद्योगों में अपने कौशल को लागू कर सकते हैं. एक ऑप्टिकल इंजीनियर वैज्ञानिक और तकनीकी उपकरण कंपनी के लिए काम कर सकता है, साथ ही ऑप्टिक उपकरणों को डिजाइन और परीक्षण करता है.

 

या फिर वह एक कंपनी के लिए ऑप्टो-मैकेनिकल उपकरण डिजाइन करते है जो एयरोस्पेस और रक्षा प्रौद्योगिकी में माहिर है. ऑप्टिकल इंजीनियर टेलीस्कोपों को बनाए रखने और अन्य खगोलीय उपकरणों का परीक्षण करने में मदद करने के लिए Observatories के साथ भी काम करते हैं.

 

ऑप्टिकल इंजीनियरिंग में Future कैसे बनाये – How to make a career in optical engineering?

दोस्तों, Optical engineers ने ऑप्टिक्स की एप्लीकेशन को अनुसंधान, डिजाइन और क्षेत्रों की एक विस्तृत श्रृंखला में एप्लीकेशन्स को विकसित करने के लिए लागू किया है. प्रकाशिकी, जिसमें प्रकाश के गुण शामिल हैं.

 

ऑप्टिकल इंजीनियर अपने अध्ययन में प्रकाश का उत्पादन (Light output), Transmitted, का पता लगाते है, और इसका उपयोग करने के तरीकों का निर्धारण करने और ऑप्टिकल प्रौद्योगिकी का उपयोग करने वाले उपकरणों के निर्माण के लिए मापन करते है.

 

दोस्तों यदि इस फिल्ड में एक पेशेवर बनना है तो इसके इतिहास को जानना होगा, हाँ क्योंकि जब भी एक अच्छी शाखा में करियर के विकल्प बढ़ते है. तो उसकी सुरुआत बेहतर रूप से होती है. तो आइये दोस्तों एक नजर इस फिल्ड के इतिहास की ओर –

 

ऑप्टिकल इंजीनियर का इतिहास – ऑप्टिक्स का 2020 तक का सफर

एक अध्ययन से पता चला की प्रकाश के गुणों का अध्ययन 1600 के दशक के दौरान ही शुरू हुआ था जब गैलीलियो ने ग्रहों और तारों का निरीक्षण करने के लिए दूरबीनों का निर्माण किया. सर आइजैक न्यूटन जैसे वैज्ञानिकों ने ऐसे प्रयोग और अध्ययन किए जो प्रकाश की समझ में योगदान करते हैं. न्यूटन के कई प्रयोगों में Prism के साथ उनका काम था जो सूरज की रोशनी को रंगों के एक स्पेक्ट्रम में अलग करता था. 1800 के दशक के मध्य तक, वैज्ञानिक प्रकाश की गति को मापने में सक्षम थे और उन्होंने यह दिखाने के लिए साधन विकसित किए थे. उसके बाद 20 वीं शताब्दी की सबसे महत्वपूर्ण Discoveries में इंजीनियर Caretwo Lasers और Fiber Optics का विकास किया था.

 

ऑप्टिक्स का ऐतिहासिक सफर – 2020

पहला लेजर एक अमेरिकी भौतिक विज्ञानी थियोडोर एच. मैमन द्वारा 1960 में बनाया गया था. और 1966 में, यह पता चला था कि प्रकाश ग्लास फाइबर के माध्यम से यात्रा कर
सकता है, जिससे फाइबर ऑप्टिक तकनीक का विकास हुआ.

 

(ऑप्टिक) प्रकाशिकी, विज्ञान की वह शाखा जो प्रकाश के हेरफेर का अध्ययन करती है, एक बढ़ता हुआ क्षेत्र है. इंजीनियर आज उन एप्लीकेशन में काम करते हैं जिनमें छवि प्रसंस्करण, सूचना प्रसंस्करण, वायरलेस संचार, इलेक्ट्रॉनिक प्रौद्योगिकी (कॉम्पैक्ट डिस्क प्लेयर, उच्च परिभाषा टीवी और लेजर प्रिंटर सहित), खगोलीय अवलोकन, परमाणु अनुसंधान, रोबोटिक्स, सैन्य निगरानी, ​​पानी की गुणवत्ता की निगरानी, अंडरसीट निगरानी, ​​और चिकित्सा तथा वैज्ञानिक प्रक्रियाओं और उपकरणों, आदि में शामिल हैं.

 

दोस्तों जब इतिहास के पन्नो को पढ़ते है तो लगता है की सच में इस फिल्ड में इतने बदलाव हुए की अब यह एक रोमांचक करियर विकल्प प्रदान करता है. दोस्तों इस फिल्ड में करियर बनाने के लिए आपको आवश्यक शिक्षा और डिग्री पूरी करनी होगी, तो आइये जानते है Optical Engineer Banne ke liye New Shiksha Niti kya hai?

 

ऑप्टिकल इंजीनियर बनने के लिए आश्यक शिक्षा –

दोस्तों किसी भी क्षेत्र में करियर की शुरुआत करनी है तो पहला स्टेप याने की कक्षा 12th की परीक्षा अच्छे अंको से उत्तीर्ण करना है. जब आप कक्षा 12th की परीक्षा उत्तीर्ण करते हो उसके बाद एंट्रेंस परीक्षा देकर अपने फिल्ड को चुन सकते है.

 

इसके बाद आप ग्रेजुएट के डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते हो, दोस्तों कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय ग्रजुएट डिग्री स्तर पर ऑप्टिकल इंजीनियरिंग कार्यक्रम प्रदान करते हैं, लेकिन कई बार, इस क्षेत्र का अध्ययन मास्टर या डॉक्टरेट कार्यक्रम के हिस्से के रूप में किया जाता है. इन कार्यक्रमों में आमतौर पर Physical optics, geometric optics, nanoparticles and optical communication systems जैसे विषयों के साथ-साथ एक या एक से अधिक उन्नत गणित पाठ्यक्रम शामिल होते हैं. औए छात्र लेजर सिस्टम और क्वांटम इलेक्ट्रॉनिक्स का भी अध्ययन कर सकते हैं.

 

जबकि अधिकांश नियोक्ता ऑप्टिकल इंजीनियरिंग में मास्टर या डॉक्टरेट की डिग्री को करना पसंद करते है. एक मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेज से ग्रजुएट होने के बाद, भावी इंजीनियर पेशेवर इंजीनियरिंग लाइसेंस प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते हैं, जो उन्हें अधिक Autonomy के साथ काम करने या अधिक उन्नत पदों के लिए Qualification प्राप्त करने की अनुमति देता है.

 

लेकिन दोस्तों ऑप्टिकल इंजीनियर को आम तौर पर शिक्षा और अनुभव की आवश्यकताओं को पूरा करना चाहिए, और फंडामेंटल ऑफ इंजीनियरिंग (FE) और व्यावसायिक इंजीनियरिंग (PE) परीक्षा उत्तीर्ण करना चाहिए. तभी पेशेवर ऑप्टिकल इंजीनियर की पदवी प्राप्त कर सकते हो.

 

ऑप्टिकल इंजीनियर के लिए आवश्यक कुशलता –

इस उभरते इंजीनियरिंग क्षेत्र में काम करने के लिए ऑप्टिकल इंजीनियरों को समस्या-सुलझाने के कौशल के साथ गणित और भौतिकी विषय में ठोस कौशल की आवश्यकता होती है. उन्हें एक या एक से अधिक ऑप्टिकल डिजाइन / विश्लेषण उपकरणों में अच्छी तरह से वाकिफ होना चाहिए, जैसे ज़मैक्स, कोड वी या ट्रेस प्रो, ऑप्टिकल इंजीनियर विभिन्न वैज्ञानिक उपकरणों का उपयोग करने में सक्षम होना चाहिए, जिसमें कैलोमीटर, स्पेक्ट्रोमीटर और वाटमीटर शामिल हैं. साथ ही हर उपकरण का मैन्युअल उपयोग करने में सक्षम होना चाहिए,

 

ऑप्टिकल इंजीनियर बनने के लिए कौशल और अनुभव –
  • एक ऑप्टिकल इंजीनियर के रूप में करियर बनाना है तो कुछ जरुरी कौशल होना चाहिए,
  • विशिष्ट प्रकाशिकी इंजीनियरिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग करके ऑप्टिकल सिस्टम डिजाइन और विश्लेषण का ज्ञान होना जरुरी है.
  • ऑप्टिकल सिद्धांतों की समझ,
  • ऑप्टिकल परीक्षण विधियों और विशिष्टताओं की समझ,
  • एक टीम के हिस्से के रूप में काम करने की क्षमता,

 

ऑप्टिकल इंजीनियर की कैरियर संभावनाएं – नौकरी और रोजगार का विवरण

ऑप्टिकल इंजीनियरों के रोजगार का सबसे पसंदीदा रूप अनुसंधान और उत्पाद विकास है.

 

वे विभिन्न सामग्रियों के साथ काम करते हैं.

 

ऑप्टिक्स अभियंता प्रकाश के बेहतर और अधिक इष्टतम उपयोग के लिए आवश्यक सामग्री की खोज भी करते हैं.

 

वे विभिन्न प्रकाशिकी उपकरणों के साथ अनुसंधान, डिजाइन, उत्पादन और मरम्मत करते हैं.

 

आप इंजीनियरिंग में प्रवेश करके विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में ऑप्टिकल इंजीनियरिंग कोर्से पढ़ा सकते हैं.

 

ऑप्टिकल इंजीनियर ऑप्टिक्स की कई उप-शाखाओं में काम कर सकते हैं. सबसे बड़े क्षेत्रों में से तीन भौतिक प्रकाशिकी हैं, जो प्रकाश की तरंग गुणों से संबंधित है.

 

दूसरा geometric optics, जिसमें प्रकाश का पता लगाने और मापने के लिए उपयोग किए जाने वाले ऑप्टिकल उपकरण शामिल हैं. प्रकाशिकी के अन्य उपक्षेत्रों में Integrated optics, nonlinear optics, electron optics, magneto-optics, and space optics शामिल हैं.

 

  • OPTICAL ENGINEER,
  • Senior Optical Engineer,
  • Project Manager,
  • Product Manager,
  • Senior Product Manager,
  • Project Engineer,
  • Project Engineering Manager,
  • Design Engineer,
  • Engineering Manager,
  • Engineering Director,
  • Senior Project Engineer,
  • Engineering Director,
  • Senior Engineering Manager,
  • Senior Manufacturing Engineer,
  • Manufacturing Engineering Manager,
  • Manufacturing Engineer,
  • Design Engineer,
  • Design Engineering Manager,
  • Product Development Manager,
  • Design Engineer,
  • Senior Designer,
  • Design Manager,
  • Director Of Product Development,
  • Senior Software Engineer,
  • Senior Scientist,
  • Process Engineer,
  • Production Engineer,
  • Production Engineering Manager,
  • Mechanical Design Engineer,
  • Principal Mechanical Engineer,
  • Manufacturing Engineering Manager,
  • SENIOR SYSTEMS ENGINEER,
  • Manager Of Engineering Department,
  • Program Manager,
  • Engagement Manager,
  • Head Of Business Development,

 

ऑप्टिकल इंजीनियर का वेतन – Salary

भारत में एक ऑप्टिकल इंजीनियर के लिए औसत वेतन लगभग रूपये 5,00,000/- से 6,00, 000/- तक होता है. यदि आप इस फिल्ड का चयन करते है तो लाखों कमा सकते है. उम्मीदवार जो ऑप्टिकल इंजीनियर के रूप में काम करना चाहते हैं. उनके पास अपेक्षित अनुभव होने और कम से कम न्यूनतम पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अनगिनत अवसर होते हैं.

 

लोकप्रिय उद्योग Aerospace and Defense, Laser and Optics, Telecommunications, Fiber Optic Communications, Research and Development, आदि में ऑप्टिकल इंजीनियर बेहतर करियर बना सकता हैं. उम्मीदवार ऑप्टिकल इंजीनियर के रूप में प्रति घंटा की दर से 10 हजार से 30 हजार तक कमा सकते है.

 

Inspection supervision:

Overview:- Optical engineer | ऑप्टिकल इंजीनियर kaise bane?
Course level:- स्नातक,
Eligibility:- New Education Policy After 12th,
Admission process:- ऑनलाइन, ऑफलाइन,
Skill:- नए विषयों की जानकारी प्राप्त करना,
Job location:- इंडिया, और अन्य देश,
Average starting salary:- INR 2,00,000/- से 20,00,000/- लाख,

 

Read More Article

 

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को यह लेख जरूर पसंद आया होगा, मैंने अपनी तरफ से Optical engineer | optical engineer kaise bane के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है. फिर भी यदि इस बारे में जानकारी छूट गयी या मिस हो गई तो हमें कमेंट करके जरूर बताये. दोस्तों अगर इस पोस्ट में कोई गलती है या तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके सूचित कर सकते हैं और दोस्तों इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे – सोशल मीडिया जैसे Facebook, Instagram, WhatsApp, Twitter पर शेयर करें और अन्य सोशल मीडिया पर भी शेयर करें.

Thank you Dosto

Post Comments

error: Content is protected !!