Vocational Teacher – मुंबई में व्यावसायिक शिक्षकों का अनिश्चितकालीन अनशन

Vocational Teacher – Mumbai, आझाद मैदान मुंबई में व्यावसायिक शिक्षकों का अनिश्चितकालीन अनशन, स्कूल शिक्षा विभाग से आर्थिक रंगदारी रोकने व न्याय दिलाने की मांग, vocational teacher salary इन्क्रीमेंट की मांग, Do Justice to the Vocational Teacher.


Vocational Teacher – स्कूल शिक्षा विभाग से न्याय दिलाने की मांग

व्यावसायिक शिक्षा योजनाओं की, शिक्षा कार्यालय में भ्रष्टाचार और महाराष्ट्र में व्यावसायिक शिक्षा का एक निजी कंपनी द्वारा मानसिक और वित्तीय शोषण बंद करने की मांग को लेकर मुंबई में 28 जून 2021 से अनिश्चितकालीन अनशन शुरू किया गया है.

व्यावसायिक शिक्षा योजना के क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण हेतु उत्तरदायी समग्र कार्यालय के माध्यम से संबंधित योजनाओं की जानबूझकर अवहेलना के कारण सर्वाधिक कमजोर एवं वंचित आदिवासी विद्यार्थियों के लिए इस कौशलोन्मुखी शिक्षा योजना की गुणवत्ता आज खराब हो गई है.

Vocational Teacher - स्कूल शिक्षा विभाग से न्याय दिलाने की मांग
Vocational Teacher – स्कूल शिक्षा विभाग से न्याय दिलाने की मांग

सरकार द्वारा योजना को लागू किए बिना राज्य के बाहर विभिन्न निजी कंपनियों को निविदाएं देकर शुद्ध लाभ कमाने के उद्देश्य से कंपनी ने शिक्षा के क्षेत्र में धूम मचा दी है. शिक्षा कार्यालय के साथ-साथ योजना का मूल्यांकन करने वाला तीसरा पक्ष बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराने के नाम पर एक बड़े पैमाने पर घोटाले कर रहे है. आंदोलन का कहना है कि इस संबंध में जांच कमेटी गठित होने पर सच्चाई सामने आ जाएगी,

कंपनी और उसके संबद्ध कार्यालयों की कुटिल रणनीति के कारण इस योजना के तहत काम करने वाले व्यावसायिक शिक्षकों (Vocational Teacher) को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. साथ ही मानसिक और आर्थिक जबरन वसूली भी हो रही है.

कोषाध्यक्ष अनुकेश मातकर, महासचिव मंगेश जाधव व अन्य का कहना है कि पिछले 5 साल से कार्यरत शिक्षक मानसिक रूप से पीड़ित हैं.

Read More – Teacher day ka Mahtva


ये हैं मांगें – Vocational Teacher की मांगे

  1. ठेकेदार बदलने पर भी नई शिक्षक भर्ती प्रक्रिया लागू नहीं होनी चाहिए. महाराष्ट्र, अन्य राज्यों की तरह, केवल अनुभवी और सेवारत प्रशिक्षित शिक्षकों को बनाए रखने के लिए तुरंत एक आदेश जारी करना चाहिए.
  2. vocational teacher salary – पूर्व की भांति 12 माह नियमित वेतन प्राप्त किए बिना 10 माह एवं 15 दिन के बजाय पूर्व की तरह 12 माह का आदेश दिया जाए.
  3. कंपनी द्वारा शिक्षकों के आर्थिक और मानसिक शोषण को रोकने के लिए व्यावसायिक शिक्षकों की नियुक्ति तत्काल समग्र शिक्षा मुंबई कार्यालय (Samagra Shiksha Mumbai Office) के माध्यम से की जानी चाहिए.
  4. महिला शिक्षकों को मातृत्व लीव (maternity leave) और वेतन बीच में मिलना चाहिए.
  5. मार्च 2020 तक कार्यरत सभी शिक्षक जो कोरोना महामारी के कारण बेरोजगार हो गये थे, उनकी पुनः नियुक्ति की जाये,
  6. छात्रों को नुकसान से बचाने के लिए स्पोर्ट और मीडिया को तुरंत शुरू किया जाना चाहिए.
  7. क्योंकि पिछले 5 वर्षों से वेतन वृद्धि नहीं हुई है, इसलिए अन्य शिक्षकों की तरह इस वर्ष से वेतन में वृद्धि (vocational teacher salary) की जानी चाहिए.

Vocational Teacher – आझाद मैदान मुंबई में किया दौरा

आजाद मैदान व्यवसायी शिक्षकों की मांगों के संबंध में मा. परिनय फुके की मलाकात

आजाद मैदान में प्रदेश के व्यवसायी शिक्षकों की मांगों के संबंध में विधान परिषद में विपक्ष के नेता श्री. प्रवीणजी दरेकर, परिनय फुके और विधायक श्री प्रसादजी लाड ने मुलाकात की और उन्हें प्रमुख मुद्दों और प्रमुख मांगों के संबंध में उचित निर्णय लेने और मंत्रीमहोदय के साथ चर्चा करने का आश्वासन दिया.

Read More – Sarkari Teacher kaise bane

धुले विधानसभा क्षेत्र से विधायक श्री. फारूक शाह
धुले विधानसभा क्षेत्र से विधायक श्री. फारूक शाह

धुले विधानसभा क्षेत्र से विधायक श्री. फारूक शाह ने आंदोलन का दौरा किया और उन्होंने शिक्षा मंत्री और शिक्षा राज्य मंत्री के पास ले जाने और संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक करने का वादा किया.

Read More – New Education Policy


नीलेश विश्वकर्मा वंचित बहुजन अघाड़ी महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष आंदोलन (Vocational Teacher) व्यवसायी शिक्षकों की मांगों के संबंध में साथ ही स्पोर्ट और मीडिया के विषय को शुरू करने के लिए युवा नीति में राज्यपाल और मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे बाप्पा (भगवान गणेश) के सामने बैठे हैं और इसे सफल करने का वादा किया.

नीलेश विश्वकर्मा वंचित बहुजन अघाड़ी महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष
नीलेश विश्वकर्मा वंचित बहुजन अघाड़ी महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष

विधानसभा भवन में बच्चू भाऊ से की मुलाकात – Vocational Teacher
प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा भवन में बच्चू भाऊ से मुलाकात
विधानसभा भवन में बच्चू भाऊ से मुलाकात

प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा भवन में बच्चू भाऊ से मुलाकात की और उन्हें अपनी समस्याओं के बारे में बताया और उन्हें 3 फरवरी को बैठक में दिए गए आदेशों की याद दिलाई, लेकिन यह भी बताया कि उनमें से कोई भी स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा लागू नहीं किया गया.

प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा भवन में बच्चू भाऊ से मुलाकात. vocational teacher salary

नानाभाऊ पटोले – महासंघ के पदाधिकारियों एवं अन्य साथियों ने की मुलाकात
नानाभाऊ पटोले - महासंघ के पदाधिकारियों एवं अन्य साथियों ने की मुलाकात. vocational teacher salary
नानाभाऊ पटोले – महासंघ के पदाधिकारियों एवं अन्य साथियों ने की मुलाकात

महासंघ के पदाधिकारियों एवं अन्य साथियों ने श्री. नानाभाऊ पटोले से मिले और उन्हें अपने साथ हुए अन्याय और मदद के अपने वादे की याद दिलाई, उन्होंने स्पष्ट मदद का वादा किया.


Vocational Teacher – व्यावसायिक शिक्षक

”राज्य में 644 स्कूल हैं और हम 9वीं से 12वीं कक्षा तक आदिवासी और बेहद कमजोर क्षेत्रों के बच्चों को शिक्षा प्रदान करते हैं. कुल 1197 व्यावसायिक शिक्षक हैं. एक शिक्षक का मासिक वेतन 20,000 हजार रुपये है. अन्य राज्यों में यह 22,000 से 60,000 हजार तक है. स्कूल शिक्षा मंत्री प्रा. वर्षा गायकवाड़ को हमारी समस्या का समाधान करना चाहिए.”

शोभराज खोंडे

अध्यक्ष, वोकेशनल टीचर्स महासंघ महाराष्ट्र राज्य

MahaVocational Twitter

शोभराज खोंडे अध्यक्ष, वोकेशनल टीचर्स महासंघ महाराष्ट्र राज्य. vocational teacher salary
शोभराज खोंडे अध्यक्ष, वोकेशनल टीचर्स महासंघ महाराष्ट्र राज्य

vocational teacher salary


NEW EDUCATION POLICY में छठी कक्षा से व्यावसायिक पाठ्यक्रम Course

व्यावसायिक शिक्षा में बड़ा फैसला

व्यावसायिक शिक्षा को स्कूली शिक्षा में शामिल किया जाएगा,
स्कूल स्तर पर वोकेशनल स्टडीज पर ज्यादा फोकस रहेगा,
प्रत्येक बच्चा कम से कम एक पेशे में पेशेवर बनेगा,
इसीलिए महत्वपूर्ण व्यावसायिक शिल्प, जैसे बढ़ईगीरी, तकनीकी कार्य, ऑटोमोबाइल, रिटेल, स्पोर्ट, इलेक्ट्रिक काम, धातु का काम, बागवानी, मिट्टी के बर्तन बनाना आदि, राज्यों और स्थानीय समुदायों द्वारा ग्रेड 6-8 के दौरान तय किए गए है.
2025 तक, कम से कम 50% शिक्षार्थियों को स्कूल और उच्च शिक्षा प्रणाली के माध्यम से व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम दिया जाएगा,
छात्रों को 6-12 स्नातक अवधि के दौरान व्यावसायिक विषयों को सीखने के लिए समान इंटर्नशिप के अवसर मिलते रहेंगे,
व्यावसायिक पाठ्यक्रम भी ऑनलाइन मोड के माध्यम से उपलब्ध कराए जाएंगे,

Read More – New Education Policy kya hai


कौशल शिक्षा का महत्व – Vocational Shiksha ka Mahtva
कौशल शिक्षा का महत्व - Vocational Shiksha ka Mahtva

हमारे देश में बहुत से लोग शिक्षित हैं लेकिन उनमें से बहुत कम लोगों को सफलता मिलती है. आखिर ऐसा क्यों होता है? यह सोचने वाली बात है. क्या लोग इतने कमजोर हैं? इतना ज्ञानी होते हुए भी हर कोई सफलता से दूर क्यों हो जाता है? कौशल और ज्ञान होने के बावजूद हमारे देश के लोग सफल क्यों नहीं हो पा रहे हैं? इसके कुछ मुख्य कारण हैं जैसे, आप सभी जानते हैं, बढ़ती जनसंख्या, धन की कमी, सही मार्ग या अधिकार, कौशल प्रशिक्षण न मिलना आदि.

प्रत्येक व्यक्ति के लिए किसी न किसी क्षेत्र में कौशल होना आवश्यक है क्योंकि वर्तमान युग में जिस व्यक्ति के पास कौशल है, उसकी सराहना की जाती है.

”हुनर है तो कदर है”

जो व्यक्ति कौशल से परिपूर्ण होता है, उसे रोजगार के अवसर अवश्य मिलते हैं. या वह अपना छोटा व्यवसाय शुरू करता है. इसलिए आपकी नियमित शिक्षा के साथ-साथ कौशल शिक्षण का ज्ञान होना भी जरूरी है.

''नई शिक्षा नीति [New Education Policy] में एक तरफ शिक्षा विभाग का कहना है कि छात्रों को व्यवसाय शिक्षा की पढ़ाई कराई जाएगी.'' और दूसरी तरफ व्यवसाय शिक्षको को न्याय नही मिल रहा है. यदि व्यवसाय शिक्षा को बेहतर बनाना है तो Vocational Teacher को न्याय जरुर मिलना चाहिए.

1 thought on “Vocational Teacher – मुंबई में व्यावसायिक शिक्षकों का अनिश्चितकालीन अनशन”

  1. क्या इस सरकार को हमारी तकलीफ नही दिखाई देती….. मजदुरी से काम करणे वाले हर मजदूर को भी हर साल कुछ ज्यादा मजदुरी मिलती है….और हमे पिछले 6 साल से एक ही तन्ख्वा देकर चलाया जा रहा है. क्या हम इस महंगाई के दौर मे ज्यादा पगार के हकदार नही है….क्या स्कूल बंद रहना हमारी गलती है जिसके चलते हमारी पगार बंद कर दी जाती है…..

    Reply

Post Comments

error: Content is protected !!